Press "Enter" to skip to content

मुख्यमंत्री बनते ही लिया सबसे बड़ा फैसला किया कर्ज माफ़ी की फाइल पर साइन, सिर्फ इन किसानों को होगा फायदा

Hits: 189

मध्यप्रदेश शासन द्वारा जारी किया शासनादेश

 

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

मध्यप्रदेश के नये मुख्यमंत्री कमलनाथ ने राहुल गांधी का सबसे बड़ा वादा पूरा कर दिया है उन्होंने चुनाव प्रचार के दौरान किये गए वादों को पूरा करने के लिए फाइल पर हस्ताक्षर करके किसानों का कर्ज माफ़ कर दिया है। अनुमान लगाया जा रहा है कि इस फैसले के बाद 40 हजार किसानों का कर्ज माफ़ होगा। इसके साथ ही कन्या विवाह योजना के तहत दी जाने वाली राशि को बढ़ाकर 51 हजार रूपये कर दिया है। और मुख्यमंत्री ने मध्यप्रदेश में 4 गारमेंट पार्क बनाने की भी मंजूरी दे दी है।

17 दिसंबर को कमलनाथ ने मुख्यमंत्री पद की शपथ लेते ही कर्जमाफी की चर्चा पुरे देश में आग की तरह फ़ैल गयी। पात्रता और मापदंड कर्जमाफी के लिए बनाई गयीं कमेटियां ही तय करेंगी कि किस किसान का कर्ज माफ़ होगा और किसका नहीं। ये कमेटियां राज्य स्तर से लेकर जिला स्तर तक गठित की जाएँगी और इनकी रिपोर्ट के बाद ही किसानों को कर्जमाफी के प्रमाण पत्र दिए जायेंगे।

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

किसान कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष केदार सिरोही ने बताया की यह एक किसानों के लिए पहला और बड़ा फैसला है। जिसके तहत प्रदेश के लगभग 50 से 55 लाख किसानो को फायदा होगा। वादे के अनुसार करीव दो लाख तक का ही कर्ज माफ़ किया जायेगा क्योंकि प्रदेश के 90 प्रतिशत तक के किसान सीमांत और छोटी जोत के हैं। इसे में इन सभी को काफी फायदा होगा।

मध्य्प्रदेश के जनपद मंदसौर में एक चुनावी सभा को संबोधित करते हुए कांग्रेस के राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी ने कर्ज माफ़ी का वादा किया था। और बहीं शपथ ग्रहण के समारोह के बाद कांग्रेस से जारी विज्ञप्ति में कहा गया कि ‘मध्यप्रदेश शासन एतद द्वारा निर्णय लिया जाता है कि मध्यप्रदेश राज्य में स्थित राष्ट्रीयकृत तथा सहकारी बैंकों में अल्पकालीन फसल श्रण के रूप में शासन द्वारा पात्रता अनुसार पाए गए किसानों के दो लाख रूपये तक की सीमा तक का दिनांक 31 मार्च 2018 की स्थित में बकाया फसल श्रण माफ़ किया जाता है। इसके आलावा मध्यप्रदेश सरकार ने मुख्यमंत्री कन्या विवाह योजना के अंतर्गत मिलने वाली अनुदान राशि बढ़ाकर 51000 रूपये कर दी है।

प्रदेश में विधान सभा के परिणाम आने के बाद राहुल गाँधी ने कहा था कि उनकी सबसे बड़ी प्राथमिकता होगी कर्ज माफ़ी। उन्होंने कमलनाथ के फैसले के बाद ट्वीट करके कहा” कि मध्यप्रदेश के CM ने किसानों का कर्ज माफ़ किया। ये पहला काम है लेकिन अब दूसरा काम करना है।

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

 

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

Comments are closed.

WhatsApp chat