Press "Enter" to skip to content

गन्ना किसानों को योगी सरकार का बड़ा फैसला 40 लाख गन्ना किसानों के लिए चीनी मिलों के लिए चार हजार करोड़ रुपये का सॉफ्ट लोन

Hits: 749

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने प्रदेश के गन्ना किसानों को राहत का बड़ा फैसला लिया है।मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ की अध्यक्षता में मंगलवार को हुई कैबिनेट की बैठक में सभी चीनी मिलों को चार हजार करोड़ रूपये का सॉफ्ट लोन देने की घोषणा की है। इससे उत्तर प्रदेश के सभी गन्ना किसानो को अधिक फ़ायदा होगा।
उत्तर प्रदेश के सभी गन्ना किसानों को सरकार की ओर से मदद मिलने की घोषणा की गयी है प्रदेश कैबिनेट ने फैसला लिया है कि किसानों को चीनी मिलों द्वारा भुगतान कराया जाये।इसलिए प्रदेश सरकार ने चीनी मिलों को चार हजार करोड़ रुपये का सॉफ्ट लोन देने का काफी बड़ा फैसला लिया है।
इस बैढक के बाद लोकभवन में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने संवाददाताओं से कहा कि राज्य में सरकार बनने के बाद से ही हम किसानों के हित में ज्यादा से ज्यादा फैसले ले रहे हैं।
प्रदेश सरकार ने सबसे पहले कर्ज माफ़ी का बड़ा फैसला लिया था। उस समय भी लाखों किसानों को फायदा हुआ था इसके बाद उत्तर प्रदेश सरकार ने किसान भाइयों को गेहूं ओर धान की खरीदी में कीर्तिमान स्थापित किया।
गन्ना किसानों की समस्या चीनी मिलों की क्राइसेस को देखते हुए गन्ना की पेराई पर वित्तीय सहायता उपलब्ध कराने का बड़ा फैसला लिया है। इस फैसले से उत्तर प्रदेश सरकार पर 500 करोड़ रुपये का बोझ आएगा।
मिलों को रूपये इस शर्त पर मुहैया कराये जायेंगे कि यह रूपये किसानो तक पहुचायें जाएँ।
इन उपायों से होगी प्रदेश के गन्ना किसानों की बीमारी

योगी आदित्यनाथ ने कहा है चीनी मिलों को 30 नबम्बर तक हर हाल में गन्ना किसानों के बकाये भुगतान के लिए कहा गया है। इसके लिए सरकार उनकी परेशानियों को ध्यान मे रखते हुए उनकी मदद करेगी। ऐसी चीनी मिल जिन्होंने कम से कम 30 फीसदी तक गन्ने का बकाये का भुगतान किया है। उन्हें सॉफ्ट लोन देने की व्यवस्था की गयी है।

लोन चीनी मिलों को पांच साल के लिए दिया जायेगा,जिस पर पांच फीसदी का व्याज लिया जायेगा। लोन के लिए चीनी मिलों के सामने शर्त रखी गई है कि यह लोन उन्हें तभी मिलेगा जब बे किसानों के अकाउंट में बकाया भुगतान करने के लिए राजी हो जायेंगे, साथ ही मुख्यमंत्री ने कहा है कि अब तक 63 चीनी मिलें ऐसी हैं,जिन्होंने 80 फीसदी से अधिक किसानों का बकाया भुगतान कर दिया है और 42 चीनी मिलें ऐसी है जिन्होंने 50 फीसदी भुगतान कर दिया है।

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

Comments are closed.

WhatsApp chat