Press "Enter" to skip to content

आलू की खेती के बारे में A to Z जानकारी ! कब कैसे और किस तरह की जमीन पर करें आलू की खेती

Hits: 1411

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधा                         

आलू के लिए जमीन की तैयारी                                                       आलू के लिए खेत की जुताई करना

सबसे पहले आलू की खेती के लिए दोमट मिट्टी बाला खेत होना चाहिए है l और उस खेत को हैरों हल दुवारा गहरी जुताई करवाना चाहिए है I
जिससे मिट्टी अच्छे तरीके से आपस मैं मिल जाये,उसके बाद कल्टीबेटर से 2 बार हल्की जुताई करना है l और फिर पटा लगाकर खेत को प्लेन कर देना है
और उसके बाद 300 कुंतल प्रति हेक्टैयर के हिसाब से खेत मैं पका हुआ खाद(गोबर) डालना है इस खाद को खेत मैं समान रूप से फैला देना है
उसके उपरांत जो हमारी नाइट्रोजन फास्फोरस और पोटास होती है जिसको हम 150 kg नाइट्रोजन,100 kg फास्फोरस और 100 kg पोटास की आवशकता पड़ती है तो इसको भी हम खेत की तैयारी के समय में फैला देते हैं लेकिन जो नाइट्रोजन की मात्रा है उसको हम २ बराबर भाग में बाँट कर एक भाग तो हम खेत की तैयारी के समय या बीज डालते समय खेत में डाल देते हैं और दूसरा भाग हम 30 दिन के बाद जब हम मिट्टी को आलू के जड़ों पर चढ़ाते हैं तब डालते हैं l जिससे आलू के पौधों को नयी ताकत मिले और पौधा हरा भरा रहे

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

अब हम आलू की बारे में बात करते हैं मध्य प्रदेश की 
भारत के सभी देशो में आलू अलग -अलग समय में लगाया जाता है l मध्य प्रदेश में आलू १साल में ३ बार लगाया जाता है जब हम आलू को अलग -अलग समय पर लगते हैं तो आलू की किस्में भी अलग -अलग तरह की होती हैं अगर हमें मध्यम आलू का बीज लगाना है तो हमें कुफरी जियोति और कुफरी बादशाह ये दो किस्में अच्छी हैं इसी प्रकार अगर हमें लेट बैराइटी का प्रयोग करना है तो कुफरी किसान और कुफरी देव ये बैरायटी भी बहुत अच्छी होती हैं

चिप्स को रूप देने बाले आलू की बैरायटी -कुफरी चिप्सोना1,और कुफरी चिप्सोना 2,ये दोनों बैरायटी चिप्स के लिए बहुत ही अच्छी होती हैं यह बैरायटी अन्य बैरायटी की अपेक्षा ये आलू मोटे होते हैं जिससे चिप्स स्वादिस्ट और बड़े निकलते हैं

Complete Details about Potato
कुफरी चिप्सोना

आइये अब हम जानते हैं क़ि बीज के आलू का साइज क्या होना चाहिए बीज के आलू का आकर 2 से 3 सेंटीमीटर होना चाहिए जिसका बजन 20 से 30 ग्राम हो ये उसके लिए उपयुक्त होते हैं इसके अलाबा हमें बीज को उपचारित करने के लिए एक दबा आती है जिसका नाम इगलाल दबा है इससे.2 ग्राम प्रति लीटर के हिसाव से पानी में घोल बनाते हैं और आलू को इस पानी में डुबो-डुबो कर निकाल कर छाया सूखने क़े लिए फैला देते हैं तभी ये लगाने के लिए उपयुक्त होते हैं

आलू की बुआई किस प्रकार करें 

                              आलू की बुआई करते समय

आलू के आकर को देखते हुए किसान को बुआई करनी चाहिए ज्यादातर किसानों को कतार से कतार की दूरी 45 से 60 सेंटीमीटर रखनी चाहिए। इसी प्रकार पौधे से पौधे की दूरी 15 से 25 सेंटीमीटर होनी चाहिए

आलू की सिचाई करते समय रखें ध्यान 

सिचाई करते समय आलू की क्यारियों में नीचे की परत तक ही पानी जाये, आलू की पूरी क्यारी न डुबोएं ऐसा करने से उस धोड़ी सी नमी को जड़ो द्वारा पकड़ते हुए पौधा स्वतंत्र हो जाता है। और 20 दिन बाद हम उस मिट्टी को उकेर कर पौधों की जड़ों पर लगाते है तभी पौधों को खाद और पानी मिलता हैं। और जल्दी से तनो द्वारा आलू का आकर बनता है किससे अच्छी पैदाबार होती है
इस खेती में घास नहीं होनी चाहिए अगर घास हो भी जाती है तो जल्द ही उसको निकाल देनी चाहिए जिससे आलू को कोई हानि न हो
मिट्टी को ऊपर लगाते समय आलू क़े तने पूरी तरह दब जाने चाहिए l अगर हम ऐसा नहीं करते हैं तो आलू सूरज की रोशनी से काले और हरे पढ जाते हैं जिनको खाने में कोई स्वाद नहीं रहता और पैदाबार भी कम हो जाती है

आलू की खेती में पानी का प्रभाव
आलू की फसल में अगर पानी अधिक लग जाता हैं तो वह मिट्टी जम जाती है और पौधे में रोग पैदा हो जाते हैं जिससे पौधे की बढ़ोत्तरी कम हो जाती है उसी तरह आलू का प्रकार भी छोटा रह जाता है और पैदाबार कम हो जाती है इसलिए किसानो को आलू की खेती में पानी का विशेष ध्यान रखना चाहिए जिससे आलू की पैदावार अच्छी हो सके l

आलू की अच्छी पैदाबार

 

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

2 Comments

  1. Like!! I blog frequently and I really thank you for your content. The article has truly peaked my interest.

Comments are closed, but <a href="https://kisankhabar.com/2018/09/%e0%a4%86%e0%a4%b2%e0%a5%82-%e0%a4%95%e0%a5%80-%e0%a4%96%e0%a5%87%e0%a4%a4%e0%a5%80-%e0%a4%95%e0%a5%87-%e0%a4%ac%e0%a4%be%e0%a4%b0%e0%a5%87-%e0%a4%ae%e0%a5%87%e0%a4%82-a-to-z-%e0%a4%9c%e0%a4%be/trackback/" title="Trackback URL for this post">trackbacks</a> and pingbacks are open.

WhatsApp chat