LOADING

Type to search

ताजा ख़बर

फलों के राजा आम ने बना दिया 1 आम किसान को सचमुच का राजा, अब कमा रहे है लाखों

Share

Hits: 428

फलों के राजा आम ने बना दिया 1 आम किसान को सचमुच का राजा, कमा रहे है लाखो

सहारनपुर जिले के मरवा गांव के बागवान करुण कुमार गुरेजा ने आम के बागीचों से अपनी तरक्की तो की ही साथ-साथ पूरे गांव के किसानों कि भी मदद की। उन्होंने किसानों को आम की उन्नति वाली खेती के बारे में बताया और आम की अच्छी क्वालिटी के बारे में भी जानकारी दी।

कैसे शुरू हुआ आम आदमी का आम सफ़र 
जयपुर के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ एग्रीकल्चर मार्केटिंग से पढ़ाई कर उन्होंने बागों में एक्सपोर्ट क्वालिटी के आम पैदा कर एक्सपोर्ट करने की ठानी।
आज के समय में मरवा गांव के लगभग 40% किसान आम से लाखों रुपये कमा रहे हैैं।

                                                                मैंगो मैन 

विदेशी पैसों के साथ-साथ मिली इज़्जत
मरवा गांव के बागवान करुण कुमार गुरेजा ने आम कि अच्छी जानकारी हासिल करके ना केवल विदेशी पैसा भारत में निर्यात करवाया बल्कि भारत के आम को 1 दर्जा हासिल करवाया। हम सब जानते हैं कि भारत में अच्छे किस्मो के आम की पैदावार हैं लेकिन मार्केट में कम और विदेशो में ज़्यदा एक्सपोर्ट किया जाता हैं।

बागवान करुण कुमार गुरेजा ने 70 टन आम का एक्सपोर्ट कर जहां विदेश में नवाब ब्रांड का डंका बजाया, वहीं विदेशी पैसा भी खूब कमाया हैं। उन्होंने अमेरिका, आस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और जापान के सामने भारत के आमों को अच्छा और बेहतर साबित किया।

साल 2018 में सहारनपुर जिले से करीब 121 टन आम का एक्सपोर्ट किया गया। 70 टन आम का योगदान मरवा गांव से एक्सपोर्ट किया गया। उन्होंने अपने बागों से दशहरी, लंगड़ा और चौसा आम का कई देशों में एक्सपोर्ट किया, जो अपने-आप में एक कठिन चुनौती थी।

 

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

                                                          आम का बाग़ 

 

क्या हैं इनका बागवानी का तरीका
करुण ने पहले बाग कि मिट्टी की जांच करवाई और रिपोर्ट के आधार पर खाद और माइक्रोन्यूटे्रंट का प्रयोग किया। आम को कीटों से बचाने के लिए जापान और कोरिया से बैग मंगाए। ये बैग आमों पर लगाए। इससे आम कीट-फंगस से बचा रहता है।

                               कवर किये हुए आम की रक्षा का तरीका 

एक्सपोर्ट में लागत और फायदा
करुण कुमार के अनुसार आम को विदेश भेजने में उनको करीब 200 रुपये प्रति किलो का खर्च आया। इसमें 35 से 40 रुपये किलो आम, करीब 100 रुपये भाड़ा, 20 रुपये पैंकिग और 22 रुपये प्रोसेसिंग शुल्क शामिल हैं।

आम आस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड में 360, अमेरिका में 400 से 450 और जापान में 500 रुपये प्रति किलो के हिसाब से बिका। उन्हें मंडी परिषद की ओर से 26 रुपये किलो के हिसाब से फायदा मिला। इसमें 13 रुपये ब्रांड प्रमोशन और 13 रुपये मंडी का किराया हैं।

सेलेब्स के नाम पर आमों नाम
नमो (मोदी) आम
ऐश्वर्या आम
सचिन आम
अखिलेश आम

 

                                                    सेलेब्स के नाम पर आमों नाम

एक्सपोर्ट वाले आम की प्रोसेस

एक्सपोर्ट के लिए आम को डंडी सहित तुड़ाई होती है। इसके बाद मंडी समिति के मैंगो पैक हाउस में उसे प्रोसेस किया जाता है। पहले आम का चेप निकालने के लिए करीब दो घंटे तक आम को उल्टा रखते हैं।

इसके बाद मशीन से उसकी वाशिंग कर ग्रेडिंग होती है। फिर उसे वैपर हीट ट्रीटमेंट (वीएचटी)से गुजारते हैं। अमेरिका के लिए आम का रेडिएशन भी होता है। इस प्रोसेस के समय भारतीय और एक्सपोर्ट किये जाने वाले देश के एक्सपर्ट्स भी मौजूद रहते हैं।

ख़बर के अंत में फेसबुक बॉक्स दिया गया है, जिस पर आप इस ख़बर के बारे में अपनी राय दे सकते हैं। आपसे अनुरोध है कि इस ख़बर को ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर कीजिए।

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

 

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

Tags:

6 Comments

  1. Like August 28, 2018

    Like!! Thank you for publishing this awesome article.

  2. I went over this site and I think you have a lot of good information, saved to fav 🙂

  3. Like September 4, 2018

    Like!! Really appreciate you sharing this blog post.Really thank you! Keep writing.

  4. I went over this site and I think you have a lot of good information, saved to fav 🙂

  5. ปั้มไลค์ October 5, 2018

    I believe you have mentioned some very interesting points, regards for the post. 🙂

  6. ปั้มไลค์ October 8, 2018

    You have observed very interesting details! ps decent internet site. 🙂

WhatsApp chat