Kisan No.1 Adesh Kumar Shatavai1

करोड़पति किसान बने मेरठ के आदेश कुमार, नौकरी छोड़कर खेती शुरु करने वाले आदेश अब कमाते हैं 1.5 करोड़ रुपये सालाना (Kisan No.1 सीरीज)

Kisan No.1 ताजा ख़बर
जैसा कि आप जानते हैं कि किसानख़बर.कॉम ने Kisan NO.1 नाम से एक खास सीरिज शुरू की है जो देश में पहली बार हो रहा है। इसमें उन टॉप 100 किसानों की सफलता की सच्ची कहानियां बताई जा रही हैं जिन्होंने डॉक्टर, वकील, इंजीनियर बनने के बजाय खेती में वो कर दिखाया जिसके बारे में ज्यादातर लोग सोचते भी नहीं है। इसमें वो Top 100 किसान शामिल हैं जिन्होंने सरकारी एजेंसियों से ट्रेनिंग लेकर ना केवल खेती शुरु की बल्कि खेती में जबरदस्त कमाई भी कर रहे हैं।
इस सीरीज के 2 उद्धेश्य हैं:-
  1. सफल किसानों को बाकी किसानों से जोड़ना, ताकि बाकी किसान भी खेती में सफल हो सके और अच्छा पैसा कमा सकें।
  2. ऐसे दौर में जब हर कोई डॉक्टर, वकील, इंजीनियर, नेता बनना चाहता है लेकिन किसान नहीं, उस दौर में हम खेती के असली हीरोज़ की सफलता पर स्टोरी पोस्ट कर उनको सम्मानित करना।

खेती से जुड़े रोचक वीडियो देखने और नई चीजें सीखने के लिए Kisan Khabar के Youtube Channel के नीचे दिए गए लाल रंग के बटन पर जरूर क्लिक करें।



कृप्या फेसबुक लाइक बटन पर क्लिक जरूर करें ताकि आपको खेती की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें आसानी से फ्री में मिल सकें।

आज की स्टोरी 
आज की स्टोरी में हम बात करेंगे उत्तर प्रदेश के मेरठ जिले दयालपुर गांव के युवा किसान आदेश कुमार के बारे में बताने जा रहे हैं जो शतावर की खेती से 1.5 करोड़ रुपये की कमाई कर रहे हैं। इतना ही नहीं इन्होंने अपने साथ-साथ 150 से 250 किसानों को शतावर की खेती की ट्रेनिंग देकर उन्हें भी इस खेती से जोड़ लिया है।
Kisan No.1 Adesh Kumar Shatavai1
Kisan No.1 Adesh Kumar Shatavai1
क्या खास किया आदेश कुमार ने
सिर्फ 34 साल के आदेश ने 2006 में M.Sc (agriculture) की पढ़ाई करने के बाद एक फर्टिलाइजर कंपनी में काम शुरू किया, जहां वो सिर्फ 6 हजार के तनख्वाह पा रहे थे। इतनी सैलरी में उनके परिवार का गुजारा करना मुश्किल हो रहा था। ऐसे में उन्होंने खेती के जरीए अपनी जिंदगी सुधारने के बारे में गंभीरता से सोचना शुरु किया। इधर उधर कई चीजें पता करने के बाद उन्होंने कृषि मंत्रालय द्वारा आयोजित एक सरकारी संस्था से ट्रेनिंग लेने के बाद शतावर की खेती शुरू की।

टेलीग्राम (Telegram) एप पर खेती-बाड़ी की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें रोज फ्री में पाने के लिए ग्रुप को ज्वाइन करें।

इसके आगे आदेश कुमार की सफलता की कहानी आप नीचे दिए गए आंकड़ों के जरीए समझ सकते हैं।
  1. शतावर की खेती से आदेश कुमार 1.5 करोड़ रुपये कमा रहे हैं।
  2. उन्होंने सरकारी ट्रेनिंग में शतावर की खेती समेत कुल 18 अलग अलग फसलों की खास ट्रेनिंग ली थी।
  3. उन्होंने अब तक 250 गांव के करीब 1500 किसानों को शतावर और बाकी फसलों की खेती की ट्रेनिंग दे चुके हैं।
  4. लेकिन अगर सिर्फ शतावर की ट्रेनिंग की बात करें तो वो अब तक 300 से अधिक किसानों को शतवार की खेती की ट्रेनिंग दे चुके हैं।
  5. मौजूदा दौर में आदेश ने 30 किसानों को रोजगार दे रखा है।
क्या है शतावर और क्यों हैं मार्केट में इसकी ज्यादा डिमांड
शतावर एक ऐसी फसल है जिसकी जड़ से आयुर्वेदिक दवा बनती है। इसकी जड़ों का इस्तेमाल कई तरह की आयुर्वेदिक दवाईयों को बनाने में किया जाता है। शतावर को अंग्रेजी में एस्पेरेगस (Asparagus) कहते हैं। भारत के कई इलाको में इसे सतावर या सतावरी के नाम से भी जाना जाता हैं।
शतावर की खेती भारत के अलावा ऑस्ट्रेलिया, नेपाल, चीन, बांग्लादेश और अफ्रीका जैसे देशों में भी होती है।




दुनियाभर में इसकी ज्यादा डिमांड की वजह है महिलाओं का गर्भधारण करना। गर्भवती महिलाओं के लिए शतावर काफी फायदेमंद होता है। जो महिलाएं बच्चों को स्तनपान करवाती है, उनके लिए शतावर संजीवनी का काम करती है।
इसके अलावा ज्यादा वजन की समस्या से जूझ रहे लोगों द्वारा वजन कम करने, खासी-जुखाम इत्यादि की बीमारियों के लिए भी प्रयोग होता है।
इसके अलावा शतावर के लगातार इस्तेमाल से ल्यूकोरिया और एनीमिया जैसी बीमारियों से बचा जा सकता है।
शतावर की खेती 2000 वर्ष पुरानी है, लेकिन फिर भी यह भारतीय फसल नहीं है। शतावर की फसल यूरोप और पश्चिमी एशिया से भारत आई थी। भारत में आयुर्वेद की कई तरह की दवाईयों को बनाने के लिए हर साल 500 टन शतवार की जड़ो की जरूरत होती है।
कैसे की आदेश कुमार ने शतावर की खेती की शुरूआत
किसानख़बर.कॉम से Exclusive Interview (खास बातचीत) में आदेश कुमार ने बताया कि  उन्होंने 2006 में M.Sc Agriculture कंप्लीट करने के बाद एक फर्टिलाइजर कंपनी में जॉब करने शुरू किया, जिस नौकरी से वह नाखुश थे। 2010 में उन्हें उनके दोस्त द्वार एग्री क्लीनिक एग्री बिजनेस ट्रेनिंग के बारे में पता चला, जहां से उन्होंने ट्रेनिंग लेकर इस खेती की शुरूआत की।
आदेश कुमार ने बातचीत के दौरान बताया कि उन्होंने सबसे पहले 2010 में सिर्फ एक एकड़ जमीन पर शतावर की खेती की शुरूआत की थी लेकिन जब उन्होंने इसमें अच्छी कमाई की, तो अब वो 10 एकड़ जमीन पर शतावर की खेती कर रहे हैं।




शतावर की खेती में लागत और मुनाफा
शतवार की एक एकड़ जमीन में खेती करने पर 2 लाख रुपये तक की लागत आती है और औसतन मुनाफा प्रत्येक एकड़ में 5 से 6 लाख रुपये तक हो जाता है। मार्केट रेट बहुत ज्यादा अच्छा मिला तो मुनाफा प्रति एकड़ 10 से 15 लाख रुपये तक भी मिल जाता है।
जानवरों का कोई खतरा नहीं
शतावर की खेती में किसी तरह की कोई बीमारी नहीं लगती और ना ही कोई कीट इसमें लगते हैं। कांटेदार और झाड़ियां होने की वजह से इससे जानवर भी दूर रहते हैं।
कौन है शतावर के खरीददार
आदेश कुमार ने किसानखबर से बातचीत में बताया कि इसको किसान खुली मंडी में नहीं बेच सकता। इसको बेचने के लिए दो रास्ते हैं। पहला – आर्युवेदिक दवा बनाने वाली कंपनियां जैसे पतंजलि सीधे किसान से खरीद लेती हैं।
दूसरा – इन कंपनियों को शतावर देने वाली एजेंट कंपनियों से कॉन्ट्रेक्ट फॉर्मिंग




कैसे करें Kisan No.1 आदेश कुमार से संपर्क
किसानख़बर.कॉम जल्द ही आपको Kisan No.1 आदेश कुमार से फेसबुक लाइव के जरीए सीधी बातचीत करवाने वाले हैं। अगर आप उनसे किसानख़बर.कॉम के जरीए बात करने में इच्छुक हैं तो नीचे दिए गए कॉमेंट बॉक्स में अपना नाम, फोन नंबर, ईमेल, राज्य, शहर और गांव का नाम और अपनी उम्र लिख कर मैसेज कर दीजिए। हमारी टीम आपको संपर्क करेगी।
नोट –
1. अगर आप वॉट्सअप पर ख़बर पाना चाहते हैं तो आपके मोबाइल या लैपटॉप स्क्रीन के राइट में नीचे कॉर्नर में WhatsApp का Logo दिख रहा होगा। उस पर सिर्फ क्लिक कर दें। क्लिक करते ही हमको आपका मैसेज मिल जाएगा और आपको वॉट्सअप पर ख़बरें आना शुरु हो जायेंगी।
2. अगर आप ज्यादा लोगों को WhatsApp Group से जोड़ सकते हैं तो यहां क्लिक करें 

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

Hits: 3432



खेती से जुड़े रोचक वीडियो देखने और नई सीखने के लिए Kisan Khabar के Youtube Channel के नीचे दिए गए लाल रंग के बटन पर जरूर क्लिक करें।



कृप्या फेसबुक लाइक बटन पर क्लिक जरूर करें ताकि आपको खेती की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें आसानी से फ्री में मिल सकें।



टेलीग्राम (Telegram) एप पर खेती-बाड़ी की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें रोज फ्री में पाने के लिए ग्रुप को ज्वाइन करें।

12 thoughts on “करोड़पति किसान बने मेरठ के आदेश कुमार, नौकरी छोड़कर खेती शुरु करने वाले आदेश अब कमाते हैं 1.5 करोड़ रुपये सालाना (Kisan No.1 सीरीज)

  1. महेंद्र यादव
    श्री गंगानगर
    राजस्थान
    9672956700

  2. Pingback: animals

Comments are closed.