Press "Enter" to skip to content

1200 रूपए किलो वाले काजू मिल रहे हैं सब्जियों से भी कम दाम में, जानिए कहां मिल रहे हैं 10 रूपए किलो काजू

Hits: 1574

काजू तो आप खाते ही होंगे लेकिन रोज नहीं। काजू को तभी लोग खाते हैं जब कोई बेहद खास मेहमान घर में आ जाए या दिवाली जैसा त्योहार हो। वजह है इसका बहुत महंगा होना। बाजार में काजू 1000 से 1500 रूपए किलो के हिसाब से मिलता है। लेकिन एक जगह है जहां पर काजू आलू-प्याज से भी ज्यादा सस्ता मिलता है।

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

कहां और क्यों मिलता है काजू सबसे सस्ता

नक्सल प्रभावित राज्य झारखंड में जामताड़ा नाम का एक जिला है। जामताड़ा में नाला नाम की एक जगह है जहां पर काजू के बागान करीब 49 एकड़ इलाके में फैले हुए हैं। 5 किलो मीटर तक फैला यह बागान जामताड़ा ब्लॉक मुख्यालय से 4 किलोमीटर की दूरी पर है।

इस बागान में हर साल हजारों कुंटल काजू का उत्पादन होता है। लेकिन इसकी देखरेख में कमी होने के कारण वहां रहने वाले लोग इसे तोड़कर आसपास के बाजारों या फिर इसके सामने से गुजरने वाले राहगीरों को बहुत ही ज्यादा सस्ते में बेच देते हैं।

क्यों होती है यहां इतने बड़े पैमाने पर काजू की खेती

जामताड़ा में इतने बड़े स्तर पर काजू के उत्पादन की वजह हैं यहां के पूर्व उपायुक्त कृपानंद झा। कृपानंद झा काजू खाने के काफ़ी शौकीन थे इसलिए वह चाहते थे कि जामताड़ा में काजू की खेती की जाए।

इसी सिलसिले में वह जामताड़ा के काजू के किसानों से मिले और कृषि वैज्ञानिकों से वहां के भौगोलिक स्थिति का पता किया, जिसके बाद जामताड़ा में काजू की खेती का सिलसिला चल पड़ा। देखते ही देखते कुछ सालों में यहां काजू की बहुत बड़े पैमाने पर खेती होने लगी।

नोट –
1. अगर आप वॉट्सअप पर ख़बर पाना चाहते हैं तो आपके मोबाइल या लैपटॉप स्क्रीन के राइट में नीचे कॉर्नर में Whats App का Logo दिख रहा होगा। उस पर सिर्फ क्लिक कर दें। क्लिक करते ही हमको आपका मैसेज मिल जाएगा और आपको वॉट्सअप पर ख़बरें आना शुरु हो जायेंगी।
tags cashew nuts kaju jharkhand jamtara kaju ki kheti cashew farming

 

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WhatsApp chat