जानिए दुनिया के उस अनोखे शहर के बारे में, जहां की कुल जरूरत की 60 प्रतिशत सब्जियां की पैदावार “छत पर खेती” (Rooftop) से होती है। ऐसी खेती आप भी अपने घर पर आसानी से कर सकते हैं।

ताजा ख़बर नई तकनीक विदेश

जनसंख्या तेजी से बढ़ रही है जबकि खेती की जमीन तेजी से घट रही है। ऐसे में पूरी दुनिया के पेट भरने की लड़ाई मुश्किल होती जा रही है। अफ्रीका महाद्वीप के सबसे अमीर और ताकतवर देश द.अफ्रीका भी इसी परेशानी से जूझ रहा है। लेकिन द.अफ्रीका की राजधानी जोहन्सबर्ग के लोगों ने कमाल का रास्ता खोज निकाला है।

द.अफ्रीका इस समस्या के समाधान के लिए Rooftop खेती का रास्ते पर चल पड़ा है। हालांकि यह खेती भारत में भी होने लगी है लेकिन द.अफ्रीका में इससे जुड़े तथ्य भारत से बिल्कुल अलग हैं।

खेती से जुड़े रोचक वीडियो देखने और नई चीजें सीखने के लिए Kisan Khabar के Youtube Channel के नीचे दिए गए लाल रंग के बटन पर जरूर क्लिक करें।



कृप्या फेसबुक लाइक बटन पर क्लिक जरूर करें ताकि आपको खेती की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें आसानी से फ्री में मिल सकें।

कैसे यह अलग है, यह जानने के लिए पहले जान लें कि जोहन्सबर्ग की जनसंख्या कितनी है। दरअसल, जोहन्सबर्ग की जनसंख्या करीब 44 लाख है जो कि भारत में कोलकाता शहर (जिला नहीं) की जनसंख्या के बराबर है। लेकिन हैरत की बात ये है कि जोहन्सबर्ग के लोगों को जितनी सब्जी की जरूरत होती है उसकी कुल 60 प्रतिशत सब्जियां शहर की छतों पर उगाई जाती हैं।

टेलीग्राम (Telegram) एप पर खेती-बाड़ी की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें रोज फ्री में पाने के लिए ग्रुप को ज्वाइन करें।

लेकिन अगर कोलकाता की बात करें, तो यह आंकड़ा ना के बराबर है। कोलकाता तो छोड़िए, भारत के किसी भी शहर में छतों पर कुल जरूरत का 1 प्रतिशत भी नहीं उगाया जा रहा।

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

गरीबी और बेरोजगारी खत्म करने के औजार के रुप में

दक्षिण अफ्रीका इन दिनों गरीबी और बेरोज़गारी से लड़ रहा है तो ऐसे में छत पर खेती करने (Rooftop farming) को वहां गरीबी और रोज़गारी जैसी समस्या को ख़त्म करने के एक औजार के रुप में इस्तेमाल किया जा रहा है।

यह काफ़ी कारगर भी साबित हो रहा है। इसके अलावा वहां के प्रशासन और शोधकर्ताओं ने मिलकर ऐसी फसलों और सब्ज़ियों के सुझाव और उन्नत बीज जारी किये जो आसानी से छत पर उगाई जा सकें।

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

इस तकनीक ने दिया बहुतों को रोज़गार

अंतरराष्ट्रीय न्यूज़ चैनल अलजज़ीरा की रिपोर्ट मुताबिक अफ्रीका जैसे देश में जहां हर चार में से एक व्यक्ति बेरोज़गार हैइस छोटी सी तकनीक ने बहुतों को रोज़गार दिया है। इसके अलावा इस तकनीक के इस्तेमाल में ज्यादा खर्च भी नहीं करना पड़ता। बस छोटी सी लागत से एक मुनाफ़े वाला व्यवसाय खड़ा किया जा सकता है।

भारत के लोगों को अब तक कोई फायदा नहीं

भारत में भी रूफटॉप खेती तेजी से लोकप्रिय हो रही है। लेकिन इसकी लोकप्रियता की रफ्तार द.अफ्रीकी शहर जोहन्सबर्ग के मुकाबले काफी कम है, जबकि भारत में इसकी संभावनाएं 125 करोड़ की जनसंख्या और करीब 25 करोड़ परिवारों को देखते हुए बहुत अच्छी हैं।

इस बात को ध्यान में रखते हुए साल 2014-15 में कर्नाटक राज्य सरकार ने नागरिकों को बढ़ावा देने के लिए रूफटॉप तकनीक में इस्तेमाल होने वाली वस्तुओं पर छूट की घोषणा की थी। इसी तरह राजस्थान में भी घर की छत पर सब्ज़ियां उगाने वाले लोगों को सब्सिडी देने की घोषणा की गई थी।

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

Hits: 3824



खेती से जुड़े रोचक वीडियो देखने और नई सीखने के लिए Kisan Khabar के Youtube Channel के नीचे दिए गए लाल रंग के बटन पर जरूर क्लिक करें।



कृप्या फेसबुक लाइक बटन पर क्लिक जरूर करें ताकि आपको खेती की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें आसानी से फ्री में मिल सकें।



टेलीग्राम (Telegram) एप पर खेती-बाड़ी की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें रोज फ्री में पाने के लिए ग्रुप को ज्वाइन करें।

280 thoughts on “जानिए दुनिया के उस अनोखे शहर के बारे में, जहां की कुल जरूरत की 60 प्रतिशत सब्जियां की पैदावार “छत पर खेती” (Rooftop) से होती है। ऐसी खेती आप भी अपने घर पर आसानी से कर सकते हैं।

  1. Pingback: Viagra
  2. Pingback: viagra
  3. Pingback: cheap viagra
  4. Pingback: cialis
  5. Pingback: Cialis
  6. Pingback: cialis
  7. Pingback: Viagra prices
  8. Pingback: cialis prices
  9. Pingback: example.org.17
  10. Pingback: Viagra online
  11. Pingback: Cialis online
  12. Pingback: buy cialis now
  13. Pingback: tadapox sales
  14. Pingback: zoloft for sale
  15. Pingback: dolphin boxers
  16. Pingback: Google
  17. Pingback: pocket pussy
  18. Pingback: seashell jewelry
  19. Pingback: MIDE-675
  20. Pingback: gay men toys
  21. Pingback: Baccarat Systems
  22. Pingback: websites
  23. Pingback: Mp3 download
  24. Pingback: ssni 550
  25. Pingback: Instagram Likes
  26. Pingback: Ghana Music
  27. Pingback: nhdtb 305
  28. Pingback: sex toys to wear
  29. Pingback: CAWD-004
  30. Pingback: mynordstrom
  31. Pingback: buttplug
  32. Pingback: Eweka
  33. Pingback: Dank Vapes
  34. Pingback: Sex Chat Live
  35. Pingback: ABP-897
  36. Pingback: walmart one
  37. Pingback: JAV
  38. Pingback: NBA
  39. Pingback: Aces ETM login
  40. Pingback: gay bondage set
  41. Pingback: 710 kingpen
  42. Pingback: onewalmart.com
  43. Pingback: anal cleaner
  44. Pingback: SEO Vancouver
  45. Pingback: PPPD 788
  46. Pingback: campaigns
  47. Pingback: sewa led
  48. Pingback: realistic dildo
  49. Pingback: Ebook
  50. Pingback: ek cat crap
  51. Pingback: celebrity pussy
  52. Pingback: strapon dildo
  53. Pingback: marketing plan
  54. Pingback: MIDE 687
  55. Pingback: vape tanks
  56. Pingback: flexy spy
  57. Pingback: DOCP 175
  58. Pingback: penis ring
  59. Pingback: Viagra for sale
  60. Pingback: engagement ring
  61. Pingback: Smm panel paypal
  62. Pingback: anal sex toys
  63. Pingback: vape shops
  64. Pingback: Buy marijuana
  65. Pingback: cars
  66. Pingback: sex toy anal
  67. Pingback: anal dildo
  68. Pingback: viagra
  69. Pingback: weed wholesale
  70. Pingback: porn
  71. Pingback: cbd oil for sale

Comments are closed.