LOADING

Type to search

ताजा ख़बर

पुलिस द्वारा FIR ना होने पर Write Complaint के जरीए कैसे करें शिकायत

Share
what to do if police does not register your complaint

Hits: 331

भारत में लगभग 13 हजार पुलिस थाने और 15 लाख पुलिसकर्मी हैं। इसका मतलब है कि भारत में करीब 833 लोगों पर एक पुलिसकर्मी है। दुनिया में भारत से ज्यादा पुलिसकर्मी सिर्फ चीन में ही है। 833 लोगों पर सिर्फ एक पुलिसकर्मी की सुरक्षा के अलावा भी कई और तरह के बोझ तले पुलिसकर्मी दबे रहते हैं।

सालों से रोज एक ही तरह के केस सुनते सुनते पुलिसकर्मी भी उकता जाते हैं और हो सकता है कि कई बार आपकी समस्या को उतना गंंभीर ना समझ पाएंं। ऐसे में आपकी वो सुनते नहीं हैंं।

इसलिए यहां सुझाव दिए जा रहे हैं कि कैसे अपनी शिकायत दर्ज कराएं (खासतौर पर NoPoliceFir.com पर कैसे अपनी शिकायत पोस्ट करें)

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

what to do if police does not register your complaint

what to do if police does not register your complaint

सुझाव –

  1. अपना पूरा नाम जरूर लिखें
  2. अपना  सही ईमेल और मोबाइल नंबर जरूर लिखें, क्योंकि जैसे ही आप अपनी शिकायत इस साइट पर पोस्ट करेंगे, उसके बाद आपकी शिकायत की कॉपी के साथ एक ईमेल (Review के बाद) संबंधित राज्य के कानून मंत्री, पुलिस कमिश्नर, ACP, DCP, SHO इत्यादि के पास पहुंच जाएगी। अगर वो केस के बारे में आपसे बात करना चाहते हैं तो गलत नंबर होने की वजह से बाद नहीं कर सकेंगे।
  3. घटना का पूरा और सही ब्यौरा लिखेंं। अधूरा और गलत ब्यौरा होने पर शायद आपको जरूरी मदद ना मिल सके।
  4. जिस शहर के जिस पुलिस स्टेशन से मामला जुड़ा हुआ है वहां का नाम जरूर लिखें। इससे तुरंत सुनवाई होने की उम्मीद बढ़ जाएगी। अगर संबंधित पुलिस अधिकारी (जिसने आपकी शिकायत पर गौर नहीं किया) का नाम और पोस्ट पता है, तो वो भी लिख सकते हैं।
  5. अगर आपके पास संबंधित घटना के फोटो और वीडियो हैं, तो उनकी जानकारी भी Write Complaint में जरूरत दें। अगर पोस्ट और वीडियो पोस्ट करने में कोई दिक्कत आएंं, तो nopolicefir@gmail.com पर भेज दें।
  6. अगर आपकी जानकारी में किसी भी पुलिसकर्मी की कोई भी अच्छी जानकारी है, तो कृप्या हमारे साथ शेयर करें। शेयर करने के लिए यहां क्लिक करें।

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

Disclaimer: This article is non-journalistic content copyrighted by NoPoliceFIR.com and does not reflect the views of NoPoliceFIR.com. NoPoliceFIR.com is not responsible for any comment or article/post, posted by users/readers. If you find anything that should not be on our website, please report.

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

Tags:
Vandana Singh

वंदना सिंह को पत्रकारिता का 10 साल का अनुभव है

    1

36 Comments

  1. Like September 20, 2018

    Like!! Thank you for publishing this awesome article.

  2. I went over this site and I think you have a lot of good information, saved to fav 🙂

  3. Pingback: viagra
  4. Pingback: viagra online
  5. Pingback: viagra generic
  6. Pingback: viagra prices
  7. Pingback: viagra 100mg
  8. Pingback: viagra connect
  9. Pingback: buy viagra
  10. Pingback: viagra pills
  11. Pingback: viagra pills
  12. Pingback: viagra connect
  13. Pingback: female viagra
  14. Pingback: buy viagra
  15. Pingback: female viagra
  16. Pingback: viagra tablets
  17. Pingback: viagra online
  18. Pingback: generic viagra
  19. Pingback: viagra pills
  20. Pingback: viagra for men
  21. Pingback: viagra prices
  22. Pingback: viagra 100mg
  23. Pingback: cheap viagra
  24. Pingback: Viagra tablets
WhatsApp chat