LOADING

Type to search

ताजा ख़बर नई तकनीक सरकारी योजना

मिल गया ब्लैक मनी को ठिकाने लगाने का रास्ता, धडल्ले हो रहा है 500 और 1000 के नोटों का लेन-देन, 50 प्रतिशत डिस्काउंट में ली जा रही हैं ब्लैक मनी, हर किसान की कमाई 3 अरब रूपए। दूसरों के इस गोरखधंधे की कीमत किसानों को जेल जाकर चुकानी होगी। जानिए ब्लैकमनी पर खुलासे की अब तक की सबसे बड़ी रिपोर्ट।

Share
How to convert black money into white money in rural india

Hits: 4375

देश में ऐसी सेल तो साड़ी और कपड़ों की भी नहीं लगती जैसी इस समय 500 और 1000 के नोटों पर लगी हुई है। 500 और 1000 के 1 करोड़ रूपए को ब्लैक मनी से व्हाइट मनी करो, तो 50 लाख आपके और 50 लाख हमारे। ये हॉट ऑफर्स इस समय देश के साढ़े 6 लाख गांव में खूब मिल रहे हैं। गांव के बनिया-व्यापारी वर्ग और एजेंट्स बैग में पैसे ले लेकर घूम रहे हैं। बस उनको बदले में आपको तुरंत अपना पैन कार्ड या आधार कार्ड दे देना है।

वैसे तो ये काम उत्तर प्रदेश, गुजरात, राजस्थान, हरियाणा राज्यों में खूब हो रहा है लेकिन देश में शायद ही कोई ऐसा राज्य या जिला होगा जहां इस तरीके से पैसे को ठिकाने ना लगाया जा रहा हो।

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

ये भी पढें – देश के हर किसान ने 2007 से 2012 के बीच कैसे कमाएं 3 अरब रूपए सालाना, इन सबको हो सकती है जेल




क्या है ये माजरा

बनिया-व्यापारी वर्ग, एकाउंटेंट्स और किसान को ये बात अच्छे से पता है कि खेती से होने वाली कमाई पर एक रूपया भी टैक्स के तौर पर नहीं वसूला जाता। भारत में कृषि से कमाई पर 100 प्रतिशत टैक्स छूट मिलती है।

इसी बात का फायदा उठाकर, लोग अपना काला धन लेकर ऐसे किसानों के पास पहुंच रहे हैं जिनके पास बैंक एकाउंट है।

इतना ही नहीं जिनके पास बैंक एकाउंट नहीं है उनके भी बैंक एकाउंट हाथों हाथ खुलवाएं जा रहे हैं ताकि 1-2 हफ्ते बाद वो उनके एकाउंट में काला धन जमा करवा कर सफेद कर सकें क्योंकि बैंक में नोट 30 दिसंबर 2016 तक जमा करवाएं जा सकते हैं।

भोले भाले किसानों को पैसे की जरूरत भी है और आयकर विभाग के कायदे कानूनों के बारे में कुछ खास जानकारी भी नहीं है। अगर उनको कोई ये ऑफर देता है कि 1 करोड़ रूपए का 50 प्रतिशत रूपया यानी 50 लाख तुमको 1 महीने में ही कमाने को मिल रहा और वो भी बिना किसी मेहनत के, तो भला कोई क्यों तैयार नहीं होगा।




ये भी पढें – देश के हर किसान ने 2007 से 2012 के बीच कैसे कमाएं 3 अरब रूपए सालाना, इन सबको हो सकती है जेल

इस ऑफर के बदले वो 1-2 लाख रूपए तुरंत किसान को देकर उनसे उनके पैन कार्ड या आधार कार्ड की फोटो कॉपी साइन करवाकर ले लेते हैं।

जब एक किसान को पैसे तुरंत मिल जाते हैं तो वो लालच में फिर अपने परिवार के बाकी ऐसे सदस्यों के भी बैंक एकाउंट खुलवा देता है जिन्होंने कभी बैंक की सूरत भी नहीं देखी।

क्यों होगी किसानों को जेल

इस गोरखधंधे में लालच के कारण शामिल हो रहे किसानों को आने वाले समय में अगर सरकार जेलों में ठूंस दे, तो कोई हैरत की बात नहीं। दरअसल, भोले भाले किसानों को ये जानकारी नहीं है कि सरकार और आयकर विभाग यही चाहता है कि लोग बैंकों में अपना पैसा जमा करवाएं, ताकि इससे पता चले कि किसने कमाई करने के बावजूद आयकर नहीं भरा है।

उदाहरण – अगर आपने कभी आयकर रिटर्न नहीं भरा है यानी कभी आयकर विभाग को ये नहीं बताया है कि आप कुछ कमाते भी हैं (बेशक आपकी कमाई साल की कुल 1 लाख रूपए ही क्यों ना हो) और फिर अचानक से आपके बैंक एकाउंट में लाखों-करोड़ों रूपए आ जाते हैं तो आयकर विभाग सीधे आपकी गर्दन पकड़ेगा।

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान




फिर बेशक आप ये कहें कि आपने खेती से कमाई की है, तो आपसे नीचे दिए गए सवाल पूछे जायेंगे, जहां आप काले धन को सफेद करते हुए फंस जायेंगे।

  1. आपके पास कितने बीघा या एकड़ खेत है
  2. आप ऐसी क्या खेती करते हैं जिससे अचानक आप करोड़ों मे खेलने लगे।
  3. कौन सी फसल आपने किस व्यापारी को कितने में बेची
  4. फसल बेचने की रसीद या कोई सबूत
  5. बेची गई फसल को आपने बैंक एकाउंट में क्यों नहीं डलवाया
  6. इतनी मोटी कमाई करने के बावजूद आपने और ज्यादा खेती की जमीन क्यों नहीं खरीदी।

ऐसे दर्जनों सवाल पूछें जायेंगे जिनके आपके पास जवाब भी नहीं होंगे। नतीजा, आपका जल्द ही सरकारी घर यानी जेल में बैठकर हवा खानी पड़ सकती है।

इसलिए किसानख़बर.कॉम आपको सावधान करता है कि किसी भी सूरत में लालच में ना पड़े। कोई कितना भी खास रिश्तेदार क्यों ना हो, आप लालची ऑफर्स के लालच में ना पड़ें, वरना बुरा वक्त कभी भी आपका शुरु हो सकता है।

भारत सरकार और आयकर विभाग की नज़र में पाई पाई का हिसाब आ चुका है।

ये भी पढें – देश के हर किसान ने 2007 से 2012 के बीच कैसे कमाएं 3 अरब रूपए सालाना, इन सबको हो सकती है जेल




[facebook_likebox url=”http://www.facebook.com/kisankhabar” width=”300″ height=”200″ color=”light” faces=”true” stream=”false” header=”false” border=”true”]

घर बैठे ही किसी भी खेत की खसरा खतौनी Free में कैसे निकालें

घर बैठे ही किसी भी खेत की खसरा खतौनी Free में कैसे निकालें

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

Tags:
Vandana Singh

वंदना सिंह को पत्रकारिता का 10 साल का अनुभव है

    1

You Might also Like

14 Comments

  1. Chi dorme non piglia pesci February 6, 2019

    341006 880768Id ought to verify with you here. Which isnt something I often do! I enjoy studying a publish that can make individuals think. Also, thanks for permitting me to remark! 405328

    Reply
  2. the hidden wiki link February 15, 2019

    961025 878305woah i like yur website. It really helped me with the data i wus seeking for. thank you, will save. 359572

    Reply
  3. trading places February 18, 2019

    158103 834639You produced some decent points there. I looked on the internet for that issue and located most individuals goes along with along with your internet web site. 8995

    Reply
  4. 287595 405238Thanks for the auspicious writeup. It actually used to be a leisure account it. Glance complicated to much more delivered agreeable from you! Nevertheless, how can we be in contact? 5570

    Reply
  5. perth magician for hire March 2, 2019

    650953 928448You should take part in a contest for one of the very best blogs on the web. I will recommend this internet site! 479838

    Reply
  6. UK Chat Rooms March 4, 2019

    466154 167198Youre so cool! I dont suppose Ive learn anything like this before. So nice to find any person with some authentic thoughts on this subject. realy thank you for starting this up. this web site is something that is wanted on the internet, someone with a bit bit originality. helpful job for bringing something new towards the internet! 149809

    Reply
  7. Boost Your Business March 5, 2019

    If you’re looking for an email list, head on to Emails 4 Less. Very cheap email packages and high delivery rate. http://bit.ly/emails4less

    Reply
  8. Edith Lhuillier March 6, 2019

    Hey there would you mind sharing which blog platform you’re working with? I’m looking to start my own blog soon but I’m having a difficult time deciding between BlogEngine/Wordpress/B2evolution and Drupal. The reason I ask is because your design seems different then most blogs and I’m looking for something completely unique. P.S Sorry for being off-topic but I had to ask!

    Reply
  9. 288710 497186Yay google is my king aided me to discover this outstanding website! . 737915

    Reply
  10. movies in theaters now April 2, 2019

    597659 607021Glad to be 1 of many visitors on this awing website : D. 667036

    Reply
  11. Alexandra Catalino April 9, 2019

    Wow! This blog looks just like my old one! It’s on a totally different subject but it has pretty much the same layout and design. Superb choice of colors!

    Reply
  12. 808146 332094I entirely agree! I came more than from google and am looking to subscribe. Exactly where is your RSS feed? 816421

    Reply
  13. The Noces May 3, 2019

    871029 319168I discovered your internet site site online and check many of your early posts. Keep on the top notch operate. I just now additional your Feed to my MSN News Reader. Seeking for forward to reading a lot far more from you obtaining out later on! 796578

    Reply
  14. Visit Website May 14, 2019

    585780 471881If youre nonetheless on the fence: grab your favorite earphones, head down to a Finest Buy and ask to plug them into a Zune then an iPod and see which one sounds better to you, and which interface makes you smile more. Then you will know which is right for you. 610381

    Reply

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *