Press "Enter" to skip to content

नाशपाती की खेती की ऐसी कुछ बातें जो आप शायद ना जानते हो, खेत में नाशपाती की सिर्फ एक ही किस्म लगाई जाएं या फिर कई किस्में एक साथ, किसमें होगा ज्यादा उत्पादन, किसके साथ किसको लगाया जाएं, पढ़िए पूरी रिपोर्ट।

Hits: 3527

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

नाशपाती – ये शब्द सुनते ही मुंह में पानी आ जाता है। स्वाद में बहुत ही मीठा फल, जो हर किसी की जेब के हिसाब से बाजार में आसानी से मिल जाता है।

लेकिन अगर आप किसान हैं और नाशपाती के बाग लगाते हैं या फिर लगाने का मन बना रहे हैं, तो ये रिपोर्ट आपके लिए बहुत खास हो सकती है।

बहुत ही कम किसान ये बात जानते हैं कि खेत में एक बार में नाशपाती की एक नहीं बल्कि कई किस्में एक साथ लगानी चाहिए, तभी आपको ना केवल उत्पादन ज्यादा होगा बल्कि लाभ भी ज्यादा होगा।




लेकिन सवाल उठता है कि किस किस्म के साथ दूसरे किस किस्म के नाशपाती को लगाया जाए।

दरअसल नाशपाती की अधिकतर किस्में ऐसी हैं जिनको अगर अकेले लगाया जाए तो वे कम फल देते हैं। ऐसे में कृषि विशेशज्ञों के मुताबिक दो या तीन किस्मों को एक साथ लगाना ज्यादा बेहतर होता है।

हालांकि ब्यूरो हार्डी और विलियम वार्टलैट नाम की दो किस्में ऐसी हैं जो अकेले लगाए जाने पर ज्यादा फल देती हैं लेकिन अकेले लगाएं जाने पर इनके फल टेड़े मेड़े आते हैं। ऐसे में बाजार में इनके दाम कम मिलते हैं। यानी बात घूमकर फिर कर वहीं आ जाती है कि इनको भी अगर दूसरी किसी और किस्म के साथ बाग में लगाया जाएं, तो ये ज्यादा उत्पादन और सही आकार वाले फल देंगे।




नाशपाती का बाग लगाते समय क्या बातें ध्यान दें, ताकि ज्यादा फल आएं।

    1. नाशपाती लगाते समय ये ध्यान जरूर रखें कि ऐसी किस्में साथ में लगाएं जिनमें फूल एक ही समय में आएं, ताकि परागण सही ढंग से हो सके।
    2. वैसे घाटियों में जो किस्में लगाई जाती हैं वो अकेले लगाएं जाने पर भी फल देती हैं और दूसरी किसी किस्म के लगाएं जाने पर भी फल देती हैं। यानी अगर आप घाटी में नाशपाती लगा रहे हैं तो इनको अकेले लगा सकते हैं।
    3. अगर आप नाशपाती का नया बाग लगा रहे हैं तो परागण वाली किस्में लगाना जरूरी हो जाता है।
    4. नाशपाती के सबसे ज्यादा इस्तेमाल होने वाली किस्में बूरीबॉक्स, स्टार क्रिमसन, वार्टलेट कांफ्रेंस पैखम इत्यादि हैं।
    5. पोलीनाइजर के रूप में वार्टलेट के साथ बूरीबॉक्स, पैखम 12, कांफ्रेंस और विंटरनेलिस को लगाया जाता है।
    6. इसी तरह कांफ्रेंस के साथ बूरीबॉक्स या वार्टलेट लगाया जा सकता है।
    7. जबकि पैखम के साथ वार्टलेट या बूरीबॉक्स लगाना फायदेमंद साबित हो सकता है।
    8. अगर आप बूरीबॉक्स लगाने वाले हैं तो साथ में वार्टलेट, कांफ्रेंस या फिर विंटरनेलिस लगाएं।
    9. जबकि स्टार क्रिमसन के साथ कांफ्रेंस, वार्टलेट, बूरीबॉक्स या विंटरनेलिस को पोलीनाइजर के तौर पर लगाना बेहतर होगा।




खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

ये भी पढ़ें – अगर आपको बाकी किसी और फसल के बारे में जानना है कि वो कैसे करें, तो यहां क्लिक करें

Tags : Pear Farming, nashpati ki kheti kaise karein, nashpati ki kheti karni hai, Nashpati ki kiss kism ko lagaye

 




स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

2 Comments

  1. Like!! Really appreciate you sharing this blog post.Really thank you! Keep writing.

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WhatsApp chat