LOADING

Type to search

इलाज कैसे करें ताजा ख़बर नई तकनीक

बहुत ही आसानी से सिर्फ 1 हफ्ते में मुफ्त में घर पर ही बनाएं ‘मटका खाद’, मटका खाद के 6 बड़े फायदे, मटका खाद से बढ़ता है उत्पादन और घटती है लागत (Video देखें)

Share

Hits: 5833

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

रिपोर्ट – अर्चना सिंह

अगर आप पेस्टिसाइट इस्तेमाल करना नहीं चाहते, खेत की मिट्टी की उपजाऊ ताकत बढ़ाना चाहते हैं या फिर फसल का उत्पादन बढ़ाना चाहते हैं, तो इन सभी सवालों का सिर्फ एक ही जवाब है मटका खाद इसका नाम जरूर देसी है लेकिन इसके फायदे किसी भी देसी-विदेशी खाद या खेत की उपजाऊ ताकत बढ़ाने वाले उत्पाद से कम नहीं हैं।

इसको बनाना जितना आसान है उतना ही आसान इसका इस्तेमाल करना भी है।




मटका खाद से जुड़ा सवाल इंदौर के एक किसान ओम प्रकाश ने किसानख़बर.कॉम के सवाल जवाब सेक्शन में पूछा था। क्या था वो सवालये जानने के लिए यहां क्लिक करें।




 

फायदे 

  1. ये पूरी तरह से जैविक होता है।
  2. इससे खेत की मिट्टी में उन जिवाणुओं की संख्या तेजी से बढ़ती है जो फसल का उत्पादन बढ़ाने में मदद करते हैं।
  3. जिस फसल में इसे डाला जाता है, उसकी वृद्धि तेजी से होती है।
  4. इससे खेती की मिट्टी की उर्वरा शक्ति और उत्पदान दोनों बढ़ते हैं।
  5. मटका खाद का इस्तेमाल करने पर रासायनिक पदार्थों का इस्तेमाल बहुत कम करना होता है। यानी फसल की लागत घट जाती है।
  6. जो फसल पैदा होती है उसकी Quality ज्यादा अच्छी होती है।

मटका खाद बनाने के लिए क्या क्या सामान चाहिए

  • देशी गाय का मूत्र 15 लीटर
  • गाय का 15 किलो ग्राम ताजा गोबर
  • 15 लीटर साफ पानी
  • 250 ग्राम गुड़
  • प्लास्टिक का एक बडा ड्रम
  • एक बड़े साइज का मटका जिसमें करीब 30 से 40 लीटर का घोल आ जाए।

खाद बनाने का तरिका

  1. सबसे पहले 15 लीटर पानी में 250 ग्राम गुड़ मिलाकर उसका घोल तैयार करें
  2. फिर पानी और गुड़ से बने इस घोल में गौमूत्र भी डाल दें और अच्छे से मिक्स करें।
  3. इसके बाद इस मटके में 5 किलो ग्राम गोबर, 5 लीटर गौमूत्र और 1 तिहाई गुड़ भी डालकर घोल को अच्छे से मिक्स कर दें। घोल को अच्छे से मिक्स करने के लिए एक लकड़ी लेकर उसे मटके में डालें और पहले दाएं से बाएं और फिर बाएं से दाएं 2-3 मिनट तक घुमाएं।
  4. फिर थोड़ा रूकने के बाद दोबारा से लकड़ी से इसके करीब 5 मिनट तक दाएं से बाएं और फिर बाएं से दाएं घुमाएं।
  5. इसके बाद मटके का मुंह बंद कर दें। मटके के ढक्कन पर गोबर या मिट्टी का लेप लगा दें।
  6. मटके को ढकने के बाद इसे 7 से 10 दिन तक के लिए किसी छावदार जगह पर रख दें। इस दौरान खाद तैयार हो जाएगी।
  7. 7 से 10 दिन बाद जब मटके को खोलने के वक्त आए, तो एक ड्रम में 150 लीटर साफ पानी भर लें। फिर इसमें मटके में बनी रखी खाद को मिला दें और इसके अच्छे से मिक्स कर लें। इस घोल को करीब 30 मिनट तक दाएं से बाएं और बाएं से दाएं घुमाने के बाद ही यह अच्छे से मिक्स हो पाता है। अब आपकी मटका खाद खेत में छिड़काव के लिए तैयार है।




खेत में कैसे करें इसका छिड़काव

  1. 1 बीघा खेत में 30 लीटर मटका खाद 200 लीटर पानी में मिलाकर फसल की जड़ो के पास छिड़काव करें
  • अनाज वाली फसलों में विजाई के 25वें दिन, 50वें दिन और 70वें दिन पर पानी में मिलाकर ही इसका छिड़काव करें
  • इस बात का ध्यान रखें कि खेत में छिड़काव करते वक्त नमी होनी जरुरी है।

कब करें छिड़काव

  • पहला छिड़काव बुआई से 2 दिन पहले करें
  • दूसरा छिड़काव बुआई के 56 से 60 दिन के बीच करें।
  • तीसरा छिड़काव दूसरें छिड़काव के दो दिन बाद करें यानी अगर आपने दूसरा छिड़काव 60वें दिन किया है तो तीसरा छिड़काव 62वें दिन करें।

एक बता का सबसे ज्यादा ध्यान रखें कि मटका खाद का इस्तेमाल इसे बनाने के दो दिन के अंदर ही कर लेना जरूरी है। इसे बनाकर रखने के कई दिनों बाद अगर इस्तेमाल किया जाता है तो इसके मनमाफिक परिणाम मिलना मुश्किल होता है।

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

ये भी पढ़ें – खेत की मिट्टी की ताकत बढ़ाने के और क्या क्या रास्ते हैं।

Tag : matka khad kaya hoti hai, matka khad kaise banti hai, matka khad banane ki vidhi kaya hai, matka khad ke faayde kaya hain
वीडियो साभार – डीजिटल ग्रीन 




[facebook_likebox url=”http://www.facebook.com/kisankhabar” width=”300″ height=”200″ color=”light” faces=”true” stream=”false” header=”false” border=”true”]

घर बैठे ही किसी भी खेत की खसरा खतौनी Free में कैसे निकालें

घर बैठे ही किसी भी खेत की खसरा खतौनी Free में कैसे निकालें

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

Tags:
Vandana Singh

वंदना सिंह को पत्रकारिता का 10 साल का अनुभव है

    1

8 Comments

  1. Like August 29, 2018

    Like!! Thank you for publishing this awesome article.

    Reply
  2. It is in reality a great and useful piece of info. Thanks for sharing. 🙂

    Reply
  3. ปั้มไลค์ October 6, 2018

    Perfectly composed articles , thankyou for information. 🙂

    Reply
  4. Get Sales March 4, 2019

    Awesome post. Do you run a business and need clients? Simply click my name and get 100k visitors to your website. Thanks!

    Reply
  5. Fabian Besse March 21, 2019

    you have a great blog here! would you like to make some invite posts on my blog?

    Reply
  6. Sammy Krans March 21, 2019

    *I?m impressed, I must say. Really rarely do I encounter a blog that?s both educative and entertaining, and let me tell you, you have hit the nail on the head. Your idea is outstanding; the issue is something that not enough people are speaking intelligently about. I am very happy that I stumbled across this in my search for something relating to this.

    Reply
  7. Carma Bukhari April 8, 2019

    Please let me know if you’re looking for a author for your site. You have some really good articles and I think I would be a good asset. If you ever want to take some of the load off, I’d really like to write some material for your blog in exchange for a link back to mine. Please send me an e-mail if interested. Many thanks!

    Reply
  8. Shavon Glor April 8, 2019

    I was curious if you ever considered changing the layout of your site? Its very well written; I love what youve got to say. But maybe you could a little more in the way of content so people could connect with it better. Youve got an awful lot of text for only having 1 or two pictures. Maybe you could space it out better?

    Reply

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *

WhatsApp chat