Press "Enter" to skip to content

कद्दू दिलाता है कैश – होती है किसान की ऐश, आधा किलो बीज और आधा एकड़ खेत से होता है एक सीजन में डेढ़ लाख का शुद्ध मुनाफा।

Hits: 20552

कद्दू उन फसलों में से एक है जिसे कैश यानी नकदी वाली फसल माना जाता है। इधर फसल मंडी पहुंची, उधर किसान की जेब में केश आया। लेकिन मध्य प्रदेश के एक किसान ने तो भटके हुए किसानों को बहुत ही अच्छी राह दिखाई है।

आज का किसान इस चक्कर में है कि कहीं कोई कॉन्ट्रेक्ट वाली खेती मिल जाए, तो बस साल में एक ही फसल करो और बाकी समय आराम करो। लेकिन मध्य प्रदेश के रिंगनोद में आने वाले भीलखेड़ी गांव के किसान राजबहादुर सिंह ने सिर्फ आधा किलो बीज से ही कमाल कर दिया।

राजबहादुर के पास 3 बीघा खेत है। इसमें उसने सिर्फ 500 ग्राम कद्दू का बीज डाला। 2 महीने के अंदर ही उनकी फसल तैयार हो गई। उनके खेत में कद्दु के फल दिखने लगे। कद्दु के एक फल का वजन 20 से 60 किलों का था। जब बाजार में इस कद्दु की कीमत लगी तो खर्चा निकालकर राजबहादुर की जेब 1.5 लाख रुपये के मुनाफे से भर गई। ध्यान रहे कि राजबहादुर ने ये कमाई सिर्फ 3 बीघा यानी करीब आधा एकड़ से ही की है और वो भी सिर्फ 2 से 2.5 महीने में।




 

कद्दु की खेती की खास बातें

  1. कद्दु की फसल को 20 से 30 डीग्री तापमान की जरुरत होती है। इसलिए फरवरी, मार्च, अप्रैल या मई में कद्दु का बीज बोया जाना चाहिए।
  2. कीटों के हमले से फसल को बचाने के लिए खेत में एक बोरी पोटाश, 2 लीटर मोला दवाई, 1 बोरी DAP और सुपर फॉस्फेट का छिड़काव करना जरुरी है।
  3. कद्दू की फसल को 5 से 6 सिंचाई की जरूरत होती है।
  4. प्रति हेक्टेयर 7 से 8 किलों बीज काफी होते है।
Tag ; kaddu ki kheti kaise hoti hai, kaddu ki kheti se faayda, kaddu ki kheti main kamai, kisan rajbahadur singh from madhya pradesh




[facebook_likebox url=”http://www.facebook.com/kisankhabar” width=”300″ height=”200″ color=”light” faces=”true” stream=”false” header=”false” border=”true”]

DMR main Mushroom training ke liye kaise apply karein | mushroom ki kheti main faayda |

मशरूम की देश और दुनिया में खपत बहुत तेजी से बढ़ी है। लेकिन जितनी रफ्तार से इसकी खपत बढ़ी है उतनी रफ्तार से इसकी खेती करने वालों की संख्या नहीं बढ़ी। हालांकि इसे करने में रूचि रखने वालों की कोई कमी नहीं है। दरअसल इसमें रूचि रखने वालों को पता नहीं है कि इसकी ट्रेनिंग कब, कहां, कैसे होती है और कौन इसकी सही ट्रेनिंग दे सकता है। लेकिन अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं क्योंकि भारत सरकार का DMR यानी Directorate of Mushroom Research खुद इसकी ट्रेनिंग देश में अलग अलग जगहों पर दे रहा है। इसकी ट्रेनिंग के लिए कैसे, कब और कहां एप्लाई करें, इसकी पूरी जानकारी आज आप किसानख़बर.कॉम के इस वीडियो में सिखेंगे। Note:- आपसे अनुरोध है कि किसानख़बर.कॉम की इस पोस्ट को ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें ताकि सभी लोगों को इसका लाभ मिल सके। साथ में फेसबुक पेज को लाइक भी करें, ताकि आपको हमेशा ऐसी अच्छी ख़बरें तुरंत मिलती रहें। mushroom cultivation in India, mushroom training kahan hoti hai, mushroom ki kheti main faayda, mushroom farming investment and profit

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

खेती की अच्छी ख़बरें फेसबुक पर पाने के लिए Like करें

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading...
WhatsApp chat