खेती की लेबर की लागत 1 तिहाई तक कम करने वाली मशीन आ गई भारत में, अब नहीं होगी मजदूर ना मिलने पर परेशानी

कैसे करें ताजा ख़बर नई तकनीक

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

खेती करने की लागत दिनों दिन बढ़ती ही जा रही है। ऐसे में किसान ऐसे उपाय ढूंढने में लगा है जिससे उसकी लागत ना केवल कम हो जाए बल्कि सिरदर्दी भी कम हो।

खेती से जुड़े रोचक वीडियो देखने और नई चीजें सीखने के लिए Kisan Khabar के Youtube Channel के नीचे दिए गए लाल रंग के बटन पर जरूर क्लिक करें।



कृप्या फेसबुक लाइक बटन पर क्लिक जरूर करें ताकि आपको खेती की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें आसानी से फ्री में मिल सकें।

इसी कड़ी में इस बार किसानख़बर.कॉम लेकर आया है एक ऐसे आसान मशीन का वीडियो, जिसे देखकर आप आसानी से समझ जायेंगे कि ये कैसे काम करती है और किसान को क्या क्या फायदे देती है।

टेलीग्राम (Telegram) एप पर खेती-बाड़ी की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें रोज फ्री में पाने के लिए ग्रुप को ज्वाइन करें।

ये ऐसी मशीन है जो ना केवल मेहनत कम करती है बल्कि आपकी लेबर पर होने वाली लागत को 1 तिहाही तक कम कर देती है।




हैरत में ना पढ़िए। तेजी से पौधे लगाने वाली मशीन का वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें।

 अभी क्या होता आया है और क्या समस्या है।

भारत में खेतों में पुरूषों के साथ साथ महिलाओं को भी काम करते देखा जाना आम बात है। खेत में अगर पुरूष मशीनों से काम करते देखे जाते हैं तो, महिलाएं हाथ से होने वाले काम जैसे बोवाई, गोड़ाई और निराई इत्यादि।

जो किसान ज्यादा रकबे यानी ज्यादा बड़े खेत में काम करते हैं, उनको तो मजदूरों की कमी का ज्यादा सामना करना पड़ता है, क्योंकि उनको खेत के साइज के हिसाब से ज्यादा मजदूरों की जरूरत पड़ती है।

ऐसे में मजदूर ना मिलने पर बुवाई में देरी होने लगती है। देरी होने पर इसका असर फल के उत्पादन पर पड़ता है। किसान की मजबूरी का फायदा उठाकर मजदूर ज्यादा कीमत मांगने लगते हैं और इसी तरह फसल की लागत बढ़ जाती है।

और क्या समस्या होती है

हाथ से बुवाई करने पर खेत में पौधे लगाने के लिए बार बार नीचे झुकना पड़ता है। इस वजह से घुटने, कमर और हाथ-पांव में दर्द होने लगता है।




खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

 समाधान क्या है।

अब इन सभी समस्याओं का एक आसान समाधान मिल गया है। ईजी प्लांटर मशीन (Easy Planter Machine) के जरीए किसान ना केवल लागत काफी कम कर सकते हैं बलकि शरी होने वाली परेशानियों से भी बच सकते हैं। तेजी से पौधे लगाने वाली मशीन का वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें।




हाथ काम करने और मशीन से काम करने में कितना फर्क आता है, जरा ये देख लीजिए।

  1. एक मजदूर या किसान आमतौर पर एक घंटे में हाथ से करीब 100 से 150 पौधे लग लेता है। जबकि ईजी प्लांटर मशीन (Easy Planter Machine) से इतने ही घंटे यानी 1 घंटे में 200 से 250 पौधे बोए जा सकते हैं। इससे बैंगन, मिर्च, प्याज और टमाटर जैसी फसलों के पौधे बहुत ही आसानी से बोए जा सकते हैं।
  2. हाथ से पौधे बोने पर एक घंटे में 30 से 35 बार झुकना पड़ता है। जबकि मशीन से बुवाई करने पर झुकने की जरूरत ही नहीं है। इससे समय भी बचेगा और शरीर को धकान भी नहीं होगी।
  3. हाथ से बुवाई करने पर ज्यादा मजदूर लगाने पड़ते हैं यानी ज्यादा खर्चा करना पड़ता है। लेकिन मशीन से करने पर एक या दो मजदूर ही काफी होते हैं। 

लागत में कितना फर्क आता है

ईजी प्लांटर मशीन (Easy Planter Machine) से रोपाई करने पर लागत लगभग 1 तिहाई तक कम हो जाती है।

हाथ से रोपाई करने पर लागत (2500 पौधे लगाने पर) –Easy Planter Machine

  1. एक मजदूर का एक दिन का खर्चा रूपए 200
  2. 3 दिन तक अगर 2 मजूदरों से काम लिया जाता है तो करीब 1200 रूपए का खर्चा आता है
  3. 2500 पौधे लगाने के लिए 3 दिन काम करना होगा।

मशीन से रोपाई करने पर लागत (2500 पौधे लगाने पर) –

  1. दो मजदूरों का एक दिन का खर्चा रूपए 400 (रूपए 200 प्रति मजदूर प्रति दिन)
  2. दो मजदूर एक दिन में औसतन 2 से 2.5 हजार पौधे मशीन से रोप लेते हैं।

यानी जहां हाथ से रोपाई करने पर लागत 1200 रूपए आती हैं वहीं मशीन से रोपाई करने पर लागत सिर्फ 400 रूपए आती है। यानी 800 रूपए की बचत।

लागत कितनी है और कहां से खरीदें

ईजी प्लांटर मशीन (Easy Planter Machine) सिर्फ 2 से ढाई हजार रूपए में खरीदी जा सकती है। इसे किसान मित्र उदयपुर की महाराणा प्रताप विवि  (Maharana Pratap University of Agriculture and Technology, Udaipur) में डॉ. हेमू चौधरी से खरीदा जा सकता है।

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

नोट – अगर किसी किसान मित्र को डॉ. हेमू चौधरी का नंबर चाहिए, तो कृप्या अपना पूरा नाम, मोबाइल नंबर, शहर और गांव का नाम लिखकर kisankhabar@gmail.com पर ईमेल कर दीजिए।

 

how to join whatsapp farmers' network

 

 

 

[wp-like-lock] your content [/wp-like-lock]




[facebook_likebox url=”http://www.facebook.com/kisankhabar” width=”300″ height=”200″ color=”light” faces=”true” stream=”false” header=”false” border=”true”]

बजट 2019 में किसानों को क्या मिला, देखिए LIVE | budget 219 LIVE | kisankhabar

#budget2019 #budgetlive #kisankhabarKisanKhabar.com दुनिया की एकमात्र ऐसी साइट है जहां पर खेती की सिर्फ अच्छी ख़बरें ही आती हैं। जहां खेती में सफल किसानों की ना केवल सफलता की कहानियां बताई जाती हैं बल्कि आपको उनसे मिलने का मौका भी दिया जाता है ताकि आप भी उनकी तरह लाखों की कमाई वाली खेती करना सीख सकें।इसके अलावा हर किसान की 14 समस्याओं का समाधान भी आपको सिर्फ और सिर्फ इसी साइट पर मिलेगा। --------------------------------------------------------------------------------------------------------- Kisan Khabar Live | New Farming Technology | Kheti New machine | Mandi Rates Live | Kheti ki News#kisankhabar #farming #farmingtechnology #kheti #mandirates #kisan #kisanbulletin #kisanmanch #farmers #farming #modernfarming #moderntechniques #farmhouse #polyhouse #tractor--------------------------------------------------------------------------------------------------------- KisanKhabar.com is the only portal which brings only good news from Farm Field. It brings A to Z information about farming, technology, and stories of successful farming. Apart from this, it guides old and new farmers as wellDownload India’s No. 1 Hindi News Mobile App: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.stork.kisankhabar&hl=en_INSubscribe To Our Channel: https://www.youtube.com/channel/UCUjgueyc1T3-kmH8qD5vcPQLike us on Facebook http://www.facebook.com/kisankhabarFollow us on Twitter http://twitter.com/kisankhabarOfficial website: https://www.kisankhabar.com

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

Hits: 18941



खेती से जुड़े रोचक वीडियो देखने और नई सीखने के लिए Kisan Khabar के Youtube Channel के नीचे दिए गए लाल रंग के बटन पर जरूर क्लिक करें।



कृप्या फेसबुक लाइक बटन पर क्लिक जरूर करें ताकि आपको खेती की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें आसानी से फ्री में मिल सकें।



टेलीग्राम (Telegram) एप पर खेती-बाड़ी की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें रोज फ्री में पाने के लिए ग्रुप को ज्वाइन करें।

24 thoughts on “खेती की लेबर की लागत 1 तिहाई तक कम करने वाली मशीन आ गई भारत में, अब नहीं होगी मजदूर ना मिलने पर परेशानी

  1. Hi! I know this is kinda off topic however I’d figured I’d ask. Would you be interested in trading links or maybe guest writing a blog article or vice-versa? My website discusses a lot of the same subjects as yours and I think we could greatly benefit from each other. If you’re interested feel free to shoot me an e-mail. I look forward to hearing from you! Terrific blog by the way!

  2. Would you say “No” to 37 tools that will build and automate your website, so you don’t have to touch it again? All for a price of peanuts – $15 – yeah, stupidly cheap for 37 automation tools that do all the hard work for you. One of the tools even creates banners for you lol! You will not find anything like this in your whole life! Go and grab your copy before all software is gone! Click here: Affiliate Bots 2.0

  3. Hello! Someone in my Myspace group shared this site with us so I came to check it out. I’m definitely loving the information. I’m bookmarking and will be tweeting this to my followers! Outstanding blog and outstanding design and style.

  4. Hello! I’m at work browsing your blog from my new iphone! Just wanted to say I love reading your blog and look forward to all your posts! Keep up the excellent work!

  5. Heya! I just wanted to ask if you ever have any trouble with hackers? My last blog (wordpress) was hacked and I ended up losing months of hard work due to no backup. Do you have any methods to stop hackers?

  6. certainly like your web site but you need to check the spelling on several of your posts. Many of them are rife with spelling problems and I find it very troublesome to tell the truth nevertheless I will certainly come back again.

Leave a Reply

Your email address will not be published.