Press "Enter" to skip to content

पौधे की पत्तियों के 12 रंग बता देते हैं कि फसल में क्या कमी है और फसल को किसकी जरूरत है। फोटो के जरीए आसानी से जानिए फसल को लगने वाले रोगों के बारे में।

Hits: 27553

  1. पोटाश

पत्तों के किनारे समय से पहले ही सूख जाते हैं। पैधे के विकास की रफ्तार धीमी हो जाती है। साथ ही जड़ का विकास भी रूकने लगता है। और तन कमजोर होने लगते हैं।

  1. मैगनीज

पुराने पत्ते तेज पीले रंग के हो जाते हैं। पीलापन पत्ती के नोंक एंव कानरों से शुरु होकर शिराओं के बीच से होते हुए मुख्य शिरा तक जाता है। पत्ती के जड़ पर तिकोना हरा रंग का आकार बन जाता है।

 

  1. जस्ता

पत्ते पतले और पत्ते के किनारे टेढ़े-मेढ़े होने लगते हैं। बेकार टहनियां दिखने लगती हैं और पौधे की लंबाई बौने साइज की रह जाती है। साथ ही पत्तियों के शिराओं के बीच का हिस्सा मुरझाने लगता है। दाना भी कम वजन का हो जाता है।

 

  1. मैग्रेशियम

पुराने पत्ते चमकीले पीले रंग के होकर मुरझा जाते हैं। पीलेपन की शुरुआत पत्ती के नोंक और किनारों से शुरु होती है और मुख्य शिरा की तरफ बढ़ती है। लेकिन शिराओं का रंग हरा ही रहता है।




 

  1. सल्फर

नए पत्ते पीले पड़कर मुरझे लगते हैं और इसके नजदीक के पत्ते गहरे हरे रंग के ही रहते हैं। गंधक की कमी के लक्षण सबसे पहले नए पत्तों पर दिखते हैं।

 

  1. बोरोन

समय से पहले कलियों का गिर जाना बताता है कि बोरोन की कमी है। तना और फल में अंदर और बाहर दरार पड़ना भी इस ओर इशारा करता है।

 

  • कैल्शियम

अगर पत्तियां अंदर तरफ बंद सी दिखने लगें, तो समझ जाइए कि पौधे में कैल्शियम की कमी हो रही है।

 

  1. फास्फोरस

अगर पौधे की पत्तियां छोटे साइज की हो और पौधा तेजी से विकास ना कर रहा हो, तो समझ लिजिए कि फास्फोरस की कमी है। इसमें नए पत्ते से आने से पहले ही पुराने पत्ते लाल रंग के होकर सूख जाते हैं।

 




  1. तांबा

अगर पौधे की जड़ से पत्ते अधिक निकल रहे हैं या फिर पत्तियों की नोक मुड़कर रही है या सूख रही है तो इसका मतलब है कि फसल में तांबे वाले पोषक तत्व की कमी है।

 

  1. मोलिब्डेनम

इसमें पत्ते कागज की तरह बिल्कुल पतले हो जाते हैं।

 

  1. लोहा

इसमें पहले तो पत्ते का रंग हल्का हो जाता है। अगर लोहा तत्व की ज्यादा कमी है तो पत्ते ज्यादा पीले या फिर ज्यादा सफेद रंग के हो जाते हैं। इसके अलावा, शिराओं का हरा रंग भी हल्का पड़ने लगता है।

 

  1. नत्रजन

पौधे में अगर नत्रजन की कमी है तो पौधे के विकास लगभग रूक जाता है। साथ ही पत्तियां पीली पड़ जाती हैं। इसके अलावा पहले तो पौधे के नीचे के पत्ते पीले रंग के होने लगते हैं और मुरझाकर गिर जाते हैं।

 

 




 

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

WhatsApp chat