Press "Enter" to skip to content

सरकार अब बनाएगी मधुमक्खियों की विशेष 100 कॉलोनियां

Hits: 1247

सरकार लगातार इस कोशिश में फैसले ले रही है कि कैसे भी किसानों और ग्रामीण लोगों की कमाई दो गुनी हो जाए। इसकेे लिए सरकार हर स्तर पर कुछ ना कुछ कर रही है। इस के मद्देनजर अब सरकार मधुमक्खी पालन को और भी तेजी से बढ़ावा देने में जुट गई है। मध्य प्रदेश में पहली बार बागवानी मिशन के तहत किसानों को मधुमक्खी पालन के लिए सब्सिडी प्रदान की जाएगी। इस नई योजना के तहत उद्यानिकी विभाग को जिले में सौ मधुमक्खी कॉलोनियां विकसित करने का लक्ष्य मिला है।

Bee Colonyयोजना के पहले चरण में जिले के प्रशिक्षित किसानों को मौका दिया जाएगा। मधुमक्खी की एक कॉलोनी तैयार करने हितग्राही को अधिकतम आठ बक्से दिए जाएंगे। मधुमक्खी कॉलोनी विकसित करने, लकड़ी के बक्से तथा शहद निकालने के लिए क्रय किए जाने वाले उपकरण किट पर सरकार किसानों को 40 फीसदी सब्सिडी देगी।मधुमक्खी पालन को बढ़ावा देने सरकार देगी सब्सिडी

जिले में पहली बार

बागवानी मिशन के प्रभारी अनिल सिंंह ने बताया, मखुमक्खी पालन की योजना जिले में पहली बार शुरू की जा रही है। इसलिए किसान अभी योजना से जुडऩे में कतरा रहे हैं। किसानों को प्रशिक्षण की आवश्यकता है। पहले चरण में सिर्फ एेसे किसानों को लाभ दिया जाएगा, जो पूर्व में मधुमक्खी पालन का प्रशिक्षण लो चुके हैं।

युवाओं को मिलेगा रोजगार

उद्यानिकी विभाग के अधिकारियों का कहना है, मधुमक्खी पालन किसानों के लिए अतिरिक्त आय का साधन साबित होगा। इसके लिए किसानों को अलग से मेहनत करने की जरूरत नहीं है। किसान अपने खेत की मेड़ों पर भी मधुमक्खी पालन का कार्य शुरू कर सकते हैं। योजना से युवा बेरोजगारों को रोजगार भी मिलेगा और खेती से आय भी बढ़ेगी। अधिकारियों का कहना है, मधुमक्खी की एक कॉलोनी विकसित कर किसान इससे सालाना 50 हजार से एक लाख रुपए तक कमा सकते हैं।

ये भी पढ़ें – मधुमक्खीपालन बिजनस के सीक्रेट्स सभी के साथ फ्री में शेयर कर रहा लखनऊ ये युवा

[wp-like-lock] your content [/wp-like-lock]

[facebook_likebox url=”http://www.facebook.com/kisankhabar” width=”300″ height=”200″ color=”light” faces=”true” stream=”false” header=”false” border=”true”]

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

खेती की अच्छी ख़बरें फेसबुक पर पाने के लिए Like करें

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading...
WhatsApp chat