Press "Enter" to skip to content

पूर्व ऑस्ट्रेलियन क्रिकेटर एडम गिलक्रिस्ट ने चंदन की खेती में निवेश से कमाएं 17 करोड़ रूपए से ज्यादा

Hits: 6270

एक जमाना था जब एडम गिलक्रिस्ट नाम, क्रिकेट की दुनिया में टीम के नाम से भी बड़ा हो गया था। दुनिया के 2-4 गिने चुने परफेक्ट क्रिकेटरों में उनकी गिलक्रिस्ट की गिनती होती थी। गिली के नाम से मशहूर इस क्रिकेटर ने क्रिकेट से तो बहुत पहले ही संयास ले लिया लेकिन अब यही नाम ऑस्ट्रेलिया में खेती की दुनिया में भी चमक रहा है।




दरअसल, गिली ने टीएफसी कोरपोरेशन (TFS Corporation) नाम की एक ऐसी कंपनी में 6 साल पहले निवेश किया जो खेती से जुड़े काम करती है और बंद होने की कगार पर खड़ी थी। गिली ने इस डूबती कंपनी को ना केवल बचाया बल्कि पिछले 6 महीनों में 17 करोड़ 70 हज़ार रुपए भी कमाए।

ऑस्ट्रेलिया के निवेश बाज़ार यानि इंवेस्टमेंट मार्केट के दिग्गज भी गिली की तारीफ करते नहीं थक रहे। तारीफ करने के पीछ बहुत बड़ा कारण भी है।

[facebook_likebox url=”http://www.facebook.com/kisankhabar” width=”1200″ height=”200″ color=”light” faces=”true” stream=”false” header=”false” border=”true”]

दरअसल, ऑस्ट्रेलिया के ग्रामीण इलाकों में निवेश करने वाली दिग्गज कंपनियां जैसे Timbercorp, Forest Enterprises Australia and Gunns, Willmott Forests, Great Southern घाटे में चली गई। 1999 में भारतीय चंदन की खेती की शुरुआत करने वाली टीएफसी कोरपोरेशन (TFS Corporation) इसके चलते दवाब में आ गई। 2010 तक आते आते कोई भी इस कंपनी में निवेश को तैयार नहीं था।

लेकिन गिली ने इसमें ना केवल निवेश किया बल्कि अपना नाम भी खुलकर जोड़ लिया। नतीजा, अब टीएफसी कोरपोरेशन (TFS Corporation) इस साल चंदन की सप्लाई करने वाली है और इसी वजह से उसके शेयर्स तेजी से ऊपर बढ़ रहे हैं। ऐसे में पिछले 6 महीने में गिली का कंपनी में हिस्सा बढ़कर 2 गुना हो चुका है यानी 2.5 मिलियन डॉलर (करीब 17 करोड़ 70 लाख रूपए।)

[wp-like-lock] your content [/wp-like-lock]

[facebook_likebox url=”http://www.facebook.com/kisankhabar” width=”300″ height=”200″ color=”light” faces=”true” stream=”false” header=”false” border=”true”]

Zero Tillage Machine kheti ki nayi takneeq खेती की नई तकनीक

Zero Tillage Machine kheti ki nayi takneeq खेती की नई तकनीक, बिना खेत जोते ही 16 प्रतिशत पाओ ज्यादा उत्पादन

how to join whatsapp farmers' network

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

खेती की अच्छी ख़बरें फेसबुक पर पाने के लिए Like करें

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading...
WhatsApp chat