Kisan Producer Company - मध्य प्रदेश

मध्य प्रदेश के शाजापुर जिले के किसान क्यों नहीं है बाकी किसानों की तरह परेशान, कैसे बेच लेते हैं बाजार से अच्छे भाव पर अपनी फसल

ताजा ख़बर नई तकनीक

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

खेती की कुछ समस्याएं ऐसी हैं जो देश के हर राज्य के सभी किसानों की है। जैसे फसल को एडवांस में ना बिक पाना, फसल का अच्छा मूल्य ना मिल पाना इत्यादि। लेकिन मध्य प्रदेश के शाजापुर जिले में सभी किसानों को इन समस्याओं का सामना नहीं करना पड़ता। वजह है समर्थ किसान प्रड्यूसर कंपनी (kisan producer company)।

मध्य प्रदेश के शाजापुर जिले की आगर तहसील में मात्र 48 किसानों को लेकर किसान प्रोड्यूसर कंपनी शुरू की गयी थी, लेकिन अब ये आसपास के हजारों किसानों की समस्या के समाधान का जरिया बन चुकी है।

दरअसल, करीब 6,500 किसान इस कंपनी से जुड़कर अच्छी Quality के बीज तो हासिल करते ही हैं, साथ ही अच्छे दाम पर अपनी फसल बेचने और खेती से जुड़ी बाकी जरूरी मदद भी आसानी से हासिल कर लेते हैं।




कैसे हुई शुरूआत

उज्जैन के कमिश्नर डॉ. रवीन्द्र पस्तौर ने खासतौर पर रुचि लेकर इसे 2006 में बनाने की पहल की। फिर समर्थ किसान प्रोड्यूसर कंपनी की नींद रखी गई। अब इसकी जड़ें हरदा, राजगढ़, होशंगाबाद, शाजापुर और सीहोर जिले के किसानों तक फैल चुकी हैं।

अब किसान प्रोड्यूसर कंपनी की तरही ही कई और कंपनियां राज्य में इसी मॉडल पर किसानों के लिए काम करने लगी हैं। ऐसी करीब 75 कंपनियां मध्य प्रदेश में सक्रिय हैं और देश के बाकी हिस्सा में भी ऐसी सैकड़ों कंपनियां तेजी से बन रही हैं।

रबी की फसल के मौसम में कम्पनी ने प्रति कुंटल 1700 रुपये के रेट पर किसानों से गेहूं खरीदा। जबकि रूपए 4200 प्रति कुंटल के रेट पर चना खरीदा गया। अगर निकट भविष्य में चने के रेट बाजार में बढ़े, तो किसानों को रूपए 300 प्रति कुंटल की दर से अतिरिक्ट दाम मिलेगा।




कंपनी के सीईओ रामसिंह ठाकुर का कहना है कि कंपनी 5 पेस्टीसाइड कंपनियों की डीलरशिप या सब-डीलरशिप अब तक हासिल कर चुकी है। हाल ही में प्याज के रेट में जबरदस्त कमी के दौर में भी कंपनी ने 6.80 पैसे प्रति किलोग्राम से लेकर 7.50 पैसे प्रति किलोग्राम की दर पर किसानों से प्याज खरीदा।

इसके अलावा, 2000 मीट्रिक टन की क्षमता वाला वेयर-हाउस भी कंपनी के पास है। जबकि 1200 मीट्रिक टन की क्षमता वाला एक और गोडाउन भी बनाया जा रहा है।

2006 में कम्पनी की कुल कमाई 12 लाख 56 हजार रुपये थी, जो आज बढ़कर 5 करोड़ हो गई है।जबकि गत वित्त वर्ष में कंपनी को 21 लाख 50 हजार रुपये का शुद्ध लाभ भी हुआ।

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

[wp-like-lock] your content [/wp-like-lock]

[facebook_likebox url=”http://www.facebook.com/kisankhabar” width=”300″ height=”200″ color=”light” faces=”true” stream=”false” header=”false” border=”true”]

[youtube_channel resource=0 cache=300 random=1 fetch=10 num=1 ratio=3 responsive=1 width=306 display=thumbnail thumb_quality=hqdefault autoplay=1 norel=1 nobrand=1 showtitle=above showdesc=1 desclen=0 noanno=1 noinfo=1 link_to=channel goto_txt=”खेती के लिए बहुत काम आने वाले वीडियो देखने के लिए हमारे Youtube चैनल पर क्लिक करें।”]

Leave a Reply

Your email address will not be published.