pradhan-mantri-fasal-bima-yojana

पहली बार पूरी जानकारी वाला आर्टिकल, कैसे, कब, कहां और कौन भर सकता है प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का फॉर्म

ताजा ख़बर सरकारी योजना

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

भारत सरकार समय समय पर किसानों की फसलों के लिए बीमा योजना लेकर आती रही है, लेकिन फिर भी लाख कोशिशों के बावजूद, सिर्फ 23 प्रतिशत एरिया ही बीमा योजना के तहत कवर किया जा सका। लेकिन अब भारत सरकार की कोशिश प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (pradhan mantra fasal bima yojana) के जरिए अगले 2 साल में इसे बढ़ाकर 50 प्रतिशत तक ले जाने की है।

लोगों को पूरा गूगल ढूंढ लेने के बावजूद कोई ऐसा आर्टिकल नहीं मिला जिस पर पूरी जानकारी हो। इस योजना के जरिए पिछले 1 महीने में करीब 70 हजार किसानों ने किसानखबर.कॉम के जरिए ये सवाल पूछा कि कैसे, कब, कहां प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (pradhan mantra fasal bima yojana) के लिए फॉर्म भरा जाए। कहीं ये तक जानकारी नहीं मिली कि कौन कौन सी कंपनियां, किसानों की फसलों का बीमा करवाने के लिए अधिकृत हैं। लेकिन किसानखबर.कॉम अब ये सभी जानकारी विस्तार से लेकर आया है।




किस फसल पर कितना प्रीमियम और क्या है बीमा योजना का फॉर्म भरने की अंतिम तारीख

क्रमांक  फसल / सीजन प्रीमियम अंतिम तारीख कितनी फसलें हैं
1 खरीफ 2 % 31 जुलाई 35 से 40
2 रबी 1.5 % 31 दिसम्बर करीब 35
3 वाणिज्यिक 5%
4 बागवानी 5%

एग्रीकल्चर इंश्योरेंश कंपनी ऑफ इंडिया लिमिटेड (Agriculture Insurance Company of India Limited) के चीफ रिस्क ऑफिसर राजीव चौधरी के मुताबिक देश में कुल 15 कंपनियों की फसलों का बीमा करवाने का अधिकार मिल चुका है। जिनमें से 11 प्राइवेट, 1 एग्रीकल्चर बीमा कंपनी और 4 सरकारी बीमा कंपनियां शामिल हैं।

[poll id=”4″]




कौन कौन सी बीमा कंपनियां अधिकृत हैं।

S.No

राज्य

बीमा कंपनी

1 आंध्र प्रदेश AIC, ICICI Lombard
2 छत्तीसगढ़ IFFCO TOKIA, Reliance GIC
3 हरियाणा Reliance GIC, ICICI Lombard, Bajaj Allianz
4 हिमाचल प्रदेश AIC, ICIC Lombard
5 झारखंड AIC
6 मध्य प्रदेश ICICI Lombard
7 ओडिसा FGI, Reliance GIC, ICICI Lombard, SBI, HDFC ERGO
8 तेलंगाना AIC
9 उत्तर प्रदेश ICICI Lombard
10 उत्तराखंड AIC
11 प.बंगाल AIC, Chola MS , FGI

कहां से लें फॉर्म और कहां जमा करें।

प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (pradhan mantra fasal bima yojana) के लिए फॉर्म भरने के दो तरीके हैं। पहला – ऑफ लाइन (बैंक जाकर) और दूसरा ऑनलाइन (ऑन लाइन कैसें भरें ये जानने के लिए यहां क्लिक करें)

आपके नजदीक जो भी बैंक है उस बैंक में जाकर आप प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना (pradhan mantra fasal bima yojana) का फॉर्म लेकर वहीं पर जमा कर दीजिए।

एग्रीकल्चर इंश्योरेंश कंपनी ऑफ इंडिया लिमिटेड (Agriculture Insurance Company of India Limited) के चीफ रिस्क ऑफिसर राजीव चौधरी के मुताबिक वैसे तो इस बीमा योजना को लेना किसान का व्यक्तिगत फैसला है। वो चाहें तो ले, ना चाहे तो ना ले, लेकिन जिन किसानों ने किसान क्रेडिट कार्ड ले रखा है, उनके लिए इस योजना में शामिल होना अनिवार्य है।




फॉर्म भरने के लिए क्या क्या काजगात (Documents) चाहिए

  1. आवेदक का एक फोटो
  2. किसान का आईडी कार्ड (पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट, आधार कार्ड)
  3. किसान का एड्रेस प्रूफ (ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी कार्ड, पासपोर्ट, आधार कार्ड)
  4. अगर खेत आपका खुद का है तो खेत का खसरा नंबर / खाता नंबर का पेपर जरूर साथ लें।
  5. खेत पर फसल बोई है, इसका प्रूफ। प्रूफ के तौर पर किसान पटवारी, सरपंच, प्रधान जैसे जिम्मेदार पदों पर बैठे लोगों से एक पत्र लिखवाकर जमा कर सकते हैं। हर राज्य में ये व्यवस्था अलग अलग है। नजदीकी बैंक जाकर इस बारे में ज्यादा जानकारी ले सकते हैं।
  6. अगर खेत बटाई या किराए पर लेकर फसल बोई गई है, तो खेत के असली मालिक के साथ करार की कॉपी की फोटोकॉपी साथ जरूर लें। इसमें खेत का खरसा नंबर / खाता नंबर जरूर साफ तौर पर लिखा होना चाहिए।
  7. अगर आप चाहते हैं कि फसल को नुकसान होने की स्थिति में पैसा सीधे आपके बैंक खाते में जाए, तो एक कैंसिल्ड चैक (Cancelled Cheque) भी लगाना जरूरी होगा।

कुछ अन्य खास बातें

  1. फसल बोने के अधिकतम 10 दिनों के अंदर ही आपको प्रधानमंत्री बीमा फसल योजना (pradhan mantra fasal bima yojana) का फॉर्म भरना जरूरी हैं।
  2. फसल कटाई से लेकर अगले 14 दिनों तक अगर आपकी फसल को प्राकृतिक आपदा के कारण नुकसान होता है, तो भी आप इस बीमा योजना का लाभ उठा सकते हैं।
  3. इस योजना में आपको फसल खराब होने पर तभी बीमा की रकम मिल सकेगी जब आपकी फसल किसी भी प्राकृतिक आपदा के ही कारण खराब हुई हो। जैसे औला, जलभराव, बाढ़, तूफान, तूफानी बरसात, जमीन धंसना इत्यादि।
  4. कपास की फसल का बीमा करवाने के लिए किसानों को प्रति एकड़ 62 रुपये प्रीमियम के रूप में जमा करवानी होगी। जबकि 505.86 रुपये के हिसाब से धान की फसल के लिए, रूपए 222.58 रुपये के हिसाब से बाजरा के लिए तथा मक्का की फसल के लिए 202.34 रुपये प्रति एकड़ के हिसाब से प्रीमियम जमा करवाना होगा। किस फसल पर कितना प्रीमियम देना होगा ये जानने के लिए आप यहां क्लिक करें।




अगर खेत किराए पर लिया गया है तो?

देश में करोड़ों ऐसे किसान हैं जो खेती के लिए खेत किराए पर लेते देते हैं। किराए (बटाई) पर खेत लेकर खेती करने वाले किसानों को भी इस योजना में शामिल किया गया है।

किन राज्यों में ये लागू नहीं हुई है।

ये ख़बर लिखे जाने तक ये योजना अभी देश के कुछ राज्यों जैसे कर्नाटक और केरल में लागू नहीं हुई है। लेकिन जल्द ही पूरे देश के हर राज्य में इसे लागू कर दिया जाएगा।

हरियाणा में कृषि बीमा योजना के तहत प्रदेश को 3 हिस्सों में बांटा गया है। जिसमें पहले फेस में फरीदाबाद, भिवानी, हिसार, पंचकूला, कैथल, कुरूक्षेत्र और रेवाड़ी जिलों को रखा गया है। इन जिलों में रिलायंस जनरल कंपनी फसल का बीमा करवाएगी।

दूसरे हिस्से मेंअंबाला, महेंद्रगढञ, गुड़गांव और सोनीपत जिलों को रखा है। इनमें बजाज आलियांस कंपनी बीमा के लिए अधिकृत की गई है।

तीसरे हिस्से यानी तीसरे फेस में पलपल, यमुनागर, झज्जर, मेवात, पानीपत, रोहतक और फतेहाबाद जिले रखे गए हैं। इन जिलों में ICICI Lombard कंपनी को फसल के बीमा के लिए अधिकृत किया गया है।

खेती की ख़बरें अब मोबाइल पर पाना और भी हुआ आसान, डाउनलोड करें किसानख़बर की नई एप जिसमें है किसानों की लगभग हर समस्या का समाधान

ये भी पढ़ें

  1. सिर्फ 5 मिनट में ऑन लाइन कैसे भरें प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना का फॉर्म
  2. आपके कितने एकड़ खेत पर, किस फसल पर, कितने बीमा के लिए कितना प्रीमियम भरना होगा

[facebook_likebox url=”http://www.facebook.com/kisankhabar” width=”300″ height=”200″ color=”light” faces=”true” stream=”false” header=”false” border=”true”]

[youtube_channel resource=0 cache=300 random=1 fetch=10 num=1 ratio=3 responsive=1 width=306 display=thumbnail thumb_quality=hqdefault autoplay=1 norel=1 nobrand=1 showtitle=above showdesc=1 desclen=0 noanno=1 noinfo=1 link_to=channel goto_txt=”खेती के लिए बहुत काम आने वाले वीडियो देखने के लिए हमारे Youtube चैनल पर क्लिक करें।”]

Leave a Reply

Your email address will not be published.