Press "Enter" to skip to content

थर्मल पावर में इंजीनियरिंग की नौकरी छोड़ खेती से कमाने लगे 50 लाख, विदेशों में एक्सपोर्ट होती है इनकी फसल

Hits: 10931

मल्चिंग तरीके से टमाटर से हो रही छप्पर फाड़ कमाई

मध्य प्रदेश के खंडवा जिले में पंधाना में इन दिनों एक इंजीनियर की खूब चर्चा है। चर्चा के 2 कारण है। पहले तो वो चर्चा में आए क्योंकि उन्होंने सिंगाजी थर्मल पॉवर प्लांट में इंजीनियर की शानदार नौकरी छोड़ दी।

फिर दोबारा चर्चा में आए क्योंकि इन्होंने नौकरी छोड़ खेती से ही 50 लाख रूपए कमाकर पूरे इलाके के लोगों को हैरत में डाल दिया। अब तो राहुल की फसल विदेशों में भी खूब बिक रही है।

दरअसल, 2012 में राहुल को थर्मल पावर में इंजीनियर की नौकरी मिली। कुछ समय नौकरी करने के बाद इंजीनियर राहुल को काम करने में मजा नहीं आया। उनका मन तो खेती बाड़ी करके सूकुन से पैसा कमाने का था। इसलिए उन्होंने नौकरी छोड़कर मॉर्डन तरीके से मल्चिंग खेती से टमाटर लगाना शुरु कर दिया। पहले साल में ही राहुल ने 1.5 एकड़ खेत से पांच लाख रूपए का लाभ कमाया।

अब तो राहुल ने 25 एकड़ पर कई किसानों का ग्रुप बनाकर खेती कर रहे हैं। इस ग्रुप में शामिल हर किसान को इससे तरीके से खेती करने पर 15 लाख रूपए की कमाई हो जाती है।




विदेशों में हो रही है एक्सपोर्ट

इंजीनियर राहुल ने शुरुआत में पहले थोड़ी सी जमीन पर ही टमाटर की खेती की।

मल्चिंग तकनीक से खेती करने से मौसम की मार से टमाटर की सुरक्षा होती है और टमाटर की Quality पर भी फर्क पड़ता है। मल्चिंग तकनीक में पौधों को जितनी जरूरत होती है, ऊतना ही पानी दिया जाता है। इससे टमाटर अच्छी Quality का पैदा होता है।

जब पहली बार इसके सैंपल विदेश भेजे गए, तो पहली बार में ही पास हो गए। इसके बाद से टमाटर का एक्सपोर्ट करना शुरू कर दिया।

बाकी कौन कौन व्यक्ति बड़ी बड़़ी नौकरियां छोड़कर खेती बाड़ी से कर रहे हैं मोटी कमाई – ये पढ़ने के लिए क्लिक करें




मांग की पूर्ति के लिए बनाया ग्रुप

नेपाल और पाकिस्तान में टमाटर की Quality की जांच के बाद टमाटर की मांग पैदावार से अधिक आई। मांग पूर्ति के लिए गांव के बाकी किसानों से बात की, तो सभी ने इस काम में साथ देना शुरु कर दिया।

आज स्थिति ये है कि 25 एकड़ पर खेत पर 10 किसान मिलकर खेती कर रहे हैं। जो उत्पादन होता है उसे नेपाल और पाकिस्तान सप्लाई कर दिाय जाता है।

साल में 1 करोड़ का लक्ष्य

युवा किसान राहुल के मुताबिक उन्होंने2 साल में 50 लाख रुपए सालाना की आय के लक्ष्य को हासिल किया है। अब वो अगले 2 साल में किसानों के कई ग्रुप बनाकर 1 करोड़ रूपए सालाना की कमाई का लक्ष्य हासिल करेंगे। इसके लिए नए किसान लगातार उनसे जुड़ रहे हैं।

2013-14 में राज्य स्तरीय पुरस्कार

2014 में राहलु को टमाटर की उच्च Quality का सबसे ज्यादा उत्पादन करने और किसानों को इससे जोड़ने के लिए 50 हजार रूपए के साथ राज्य स्तरीय पुरस्कार का सम्मान मिला था।




बाकी कौन कौन व्यक्ति बड़ी बड़़ी नौकरियां छोड़कर खेती बाड़ी से कर रहे हैं मोटी कमाई – ये पढ़ने के लिए क्लिक करें

[wp-like-lock] your content [/wp-like-lock]

[facebook_likebox url=”http://www.facebook.com/kisankhabar” width=”300″ height=”200″ color=”light” faces=”true” stream=”false” header=”false” border=”true”]

Zero Tillage Machine kheti ki nayi takneeq खेती की नई तकनीक

Zero Tillage Machine kheti ki nayi takneeq खेती की नई तकनीक, बिना खेत जोते ही 16 प्रतिशत पाओ ज्यादा उत्पादन

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

खेती की अच्छी ख़बरें फेसबुक पर पाने के लिए Like करें

Be First to Comment

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Loading...
WhatsApp chat