Zero Cost Farming father Subhash Palekar

भारतीय पालेकर के शून्य लागत वाले खेती के फॉर्मूले से आई विदेशों में क्रांति, 40 लाख किसानों का उत्पादन दोगुना हुआ

इंटरव्यू ताजा ख़बर नई तकनीक विदेश

शून्य लागत खेती के जनक हैं सुभाष पालेकर

रासायनिक पदार्थों की मदद से 1970 के दशक में भारत में हरित क्रांति की शुुरूआत तो हो गई, लेकिन अब नकारात्मक नतीजे देखने को मिल रहे हैं। पैदावार गिर रही है और खेत की जमीन बंजर हो रही है। ऐसे में किसान की समस्या का एक ही समाधान दिखता है और वो है शून्य लागत वाली खेती जिसे जीरो बजट खेती भी कहते हैं।

जीरो बजट खेती की नींद रखने वाले किसान सुभाष पालेकर ने इसे करीब 30 साल पहले खोजा था। आज इस तकनीक को करीब 40 लाख किसान भारत और विदेशों में इस्तेमाल कर रहे हैं।

खेती से जुड़े रोचक वीडियो देखने और नई चीजें सीखने के लिए Kisan Khabar के Youtube Channel के नीचे दिए गए लाल रंग के बटन पर जरूर क्लिक करें।



कृप्या फेसबुक लाइक बटन पर क्लिक जरूर करें ताकि आपको खेती की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें आसानी से फ्री में मिल सकें।

जीरो बजट खेती के बूते ही किसान के खेत का उत्पादन दोगुना हो चुका है। इसके करने के लिए सिर्फ 1 गाय खेत पर पालने की जरूरत है, जो कि आपके 30 एकड़ के खेत पर जीरो बजट खेती करवा सकती है।

टेलीग्राम (Telegram) एप पर खेती-बाड़ी की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें रोज फ्री में पाने के लिए ग्रुप को ज्वाइन करें।

दरअसल, गाय के 1 ग्राम गोबर में अनगिनत छोटे जीव होते हैं। फसल के लिए अहम 16 विभिन्न तत्वों की पूर्ति ये छोटे जीव ही करते हैं। इस देसी तकनीक में छोटे जीवों की खेत की मिट्टी में संख्या बढ़ाई जाती है, ताकि वो फसलों के लिए खुद ही भोजन बनाने लगे। जबकि रासायनिक पदार्थ वाली खेती में फसल को भोजन देना पड़ता है। इस तकनीक में पानी और खाद की 90 प्रतिशत तक बचत होती है।

विदेशों में भी लोकप्रिय है पालेकर का प्रयोग

शून्य लागत खेती के जनक सुभाष पालेकर
शून्य लागत खेती के जनक सुभाष पालेकर

महाराष्ट्र के अमरावती जिले में रहने वाले सुभाष पालेकर ने साल 1988 से 1995 तक जीरो बजट खेती पर कई प्रयोग किए।

जब इससे उन्हें चौंकाने वाले परिणाम मिले, तो पालेकर ने जीरो बजट खेती को जन आंदोलन में बदलने का फैसला कर लिया।

30 साल की मेहनत के बाद अब पालेकर की वेबसाइट से देश ही नहीं बल्कि अमेरिका के साथ साथ अफ्रीका और एशिया के कई देशों के प्रगतिशील किसान जीरो बजट तकनीक सीखकर, इसे इस्तेमाल कर रहे हैं।

शून्य लागत खेती के चरण

शून्य लागत खेती के जनक सुभाष पालेकर
शून्य लागत खेती के जनक सुभाष पालेकर

1- बीजामृत तैयार करना : सबसे पहले बीज का अमृत यानी बीजामृत तैयार किया जाता है। इसके लिए एक घोल बनाया जाता है जिसमें 5 लीटर गोमूत्र, 50 ग्राम चूना, 5 किलो देशी गाय का गोबर, एक मुट्ठी पीपल के नीचे या मेड़ की मिट्टी को 20 लीटर पानी में मिलाया जाता है और इसे 24 घंटे तक रखा जाता है।

फिर दिन में 2 बार इसे लकड़ी से हिलाकर बीजामृत तैयार कर लिया जाता है। फिर करीब 100 किलो बीज का उपचार करने के बाद खेत में बीज बो दिए जाते हैं। इस प्रक्रिया को अपनाने से खेत में DAP और NKP समेत छोटे पोषक तत्वों की पूर्ति की जाती है। साथ ही इससे कीटरोग लगने की संभावना भी लगभग खत्म हो जाती है।

2- जीवामृत : इसमें भी एक घोल बनाया जाता है जिसमें 1 से 2 किलो गुड़, 1 से 2 किलो दलहन आटा, 5 से 10 लीटर गोमूत्र, 10 किलो देशी गाय का गोबर और एक मुट्ठी जीवाणुयुक्त मिट्टी को 200 लीटर पानी में मिलाया जाता है।। इसके मिलाकर एक ड्रम में जूट की बोरी से ढक दें। 2 दिन बाद जीवामृत को टपक सिंचाई के साथ इस्तेमाल करें। इस जीवामृत को स्प्रे के तरीके से भी इस्तेमाल किया जा सकता है।

3- घन जीवनामृत :

इसमें 1 किलो दलहन आटा, 100 किलो गोबर, 1 किलो गुड़ और 100 ग्राम जीवाणुयुक्त मिट्टी को 5 लीटर गोमूत्र में मिलाकर पेस्ट बनाया जाता है। फिर 2 दिन तक छाया में सुखाया जाता है। इसके बाद इसे बारीक करके बोरी में भर दिया जाता है। एक कुंटल प्रति एकड़ की दर से बुवाई की जाती है। इससे फसल की पैदावार दोगुनी तक बढ़ने की संभावना हो जाती है।

[wp-like-lock] your content [/wp-like-lock]

[facebook_likebox url=”http://www.facebook.com/kisankhabar” width=”300″ height=”200″ color=”light” faces=”true” stream=”false” header=”false” border=”true”]

बजट 2019 में किसानों को क्या मिला, देखिए LIVE | budget 219 LIVE | kisankhabar

#budget2019 #budgetlive #kisankhabarKisanKhabar.com दुनिया की एकमात्र ऐसी साइट है जहां पर खेती की सिर्फ अच्छी ख़बरें ही आती हैं। जहां खेती में सफल किसानों की ना केवल सफलता की कहानियां बताई जाती हैं बल्कि आपको उनसे मिलने का मौका भी दिया जाता है ताकि आप भी उनकी तरह लाखों की कमाई वाली खेती करना सीख सकें।इसके अलावा हर किसान की 14 समस्याओं का समाधान भी आपको सिर्फ और सिर्फ इसी साइट पर मिलेगा। --------------------------------------------------------------------------------------------------------- Kisan Khabar Live | New Farming Technology | Kheti New machine | Mandi Rates Live | Kheti ki News#kisankhabar #farming #farmingtechnology #kheti #mandirates #kisan #kisanbulletin #kisanmanch #farmers #farming #modernfarming #moderntechniques #farmhouse #polyhouse #tractor--------------------------------------------------------------------------------------------------------- KisanKhabar.com is the only portal which brings only good news from Farm Field. It brings A to Z information about farming, technology, and stories of successful farming. Apart from this, it guides old and new farmers as wellDownload India’s No. 1 Hindi News Mobile App: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.stork.kisankhabar&hl=en_INSubscribe To Our Channel: https://www.youtube.com/channel/UCUjgueyc1T3-kmH8qD5vcPQLike us on Facebook http://www.facebook.com/kisankhabarFollow us on Twitter http://twitter.com/kisankhabarOfficial website: https://www.kisankhabar.com

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

Hits: 4445



खेती से जुड़े रोचक वीडियो देखने और नई सीखने के लिए Kisan Khabar के Youtube Channel के नीचे दिए गए लाल रंग के बटन पर जरूर क्लिक करें।



कृप्या फेसबुक लाइक बटन पर क्लिक जरूर करें ताकि आपको खेती की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें आसानी से फ्री में मिल सकें।



टेलीग्राम (Telegram) एप पर खेती-बाड़ी की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें रोज फ्री में पाने के लिए ग्रुप को ज्वाइन करें।

31 thoughts on “भारतीय पालेकर के शून्य लागत वाले खेती के फॉर्मूले से आई विदेशों में क्रांति, 40 लाख किसानों का उत्पादन दोगुना हुआ

  1. Hmm it looks like your website ate my first comment (it was super long) so I guess I’ll just sum it up what I had written and say, I’m thoroughly enjoying your blog. I too am an aspiring blog writer but I’m still new to the whole thing. Do you have any helpful hints for inexperienced blog writers? I’d definitely appreciate it.

  2. I do like the manner in which you have presented this particular difficulty and it does provide us some fodder for consideration. However, because of everything that I have personally seen, I basically hope as the actual reviews pack on that people stay on issue and don’t embark on a tirade associated with some other news du jour. Still, thank you for this exceptional point and even though I do not necessarily concur with this in totality, I value your point of view.

  3. Hello! I’ve been reading your site for a long time now and finally got the bravery to go ahead and give you a shout out from Porter Tx!
    Just wanted to mention keep up the excellent job!

  4. You really make it seem so easy with your presentation but I find this matter to be really something that I think I would never
    understand. It seems too complicated and very broad for me.
    I am looking forward for your next post, I will try to get the hang of it!

  5. 532745 33323Youre so cool! I dont suppose Ive read anything such as this before. So good to get somebody with some original thoughts on this topic. realy we appreciate you starting this up. this fabulous site are some things that is required on the internet, somebody with a bit originality. beneficial function for bringing a new challenge on the world wide web! 274124

  6. 147194 426079This was an incredible post. Truly loved studying your internet site post. Your data was really informative and beneficial. I think youll proceed posting and updating frequently. Seeking forward to your subsequent one. 583424

  7. You really make it seem really easy along with your presentation but I to
    find this matter to be actually one thing which I think I’d by no means
    understand. It sort of feels too complex and very wide for me.
    I’m looking ahead in your subsequent submit, I will try to get the hang of it!

  8. Definitely believe that which you stated. Your favorite reason seemed
    to be at the web the simplest thing to consider of.
    I say to you, I certainly get annoyed while other people think about issues that they plainly don’t realize about.
    You controlled to hit the nail upon the highest and also outlined out the entire thing with no need side-effects , other folks can take a signal.

    Will probably be back to get more. Thank you

  9. [url]
    [url]
    URL
    [url]
    I’ve been surfing online more than 2 hours today, yet
    I never found any interesting article like yours. It’s pretty worth enough for me.
    In my opinion, if all site owners and bloggers made good content as you did, the web
    will be much more useful than ever before.

  10. Thank you a lot for sharing this with all people you really understand what you are talking approximately!
    Bookmarked. Kindly additionally seek advice from my site =).
    We can have a hyperlink alternate arrangement among us

Leave a Reply

Your email address will not be published.