Teak planting in Rajasthan

जिसे कृषि विभाग ने पागल कहा, वो राजस्थान में बन गया पौने 2 करोड़ रूपए के पेड़ों का मालिक

इंटरव्यू ताजा ख़बर नई तकनीक सरकारी योजना

राजस्थान में कर दिखाया असंभव को संभव, सागौन के 185 पेड़ों को उगाया बने करोड़ों के मालिक

राजस्थान के किसान रेगिस्तान में भी फूल खिलाने में लगे हैं। पिछले दिनों हमने खबर पोस्ट की कि कैसे राजस्थान के युवा किसान ने राज्य में केसर की खेती कर डाली।

युवा के बाद अब बारी है राजस्थान के बुजुर्ग सफल किसान की कहानी। अब 78 साल के हो चुके बुजुर्ग किसान राधे श्याम तिवारी ने करीब 20 साल पहले रिटायरमेंट के बाद राजस्थान में सागौन के पेड़ लगाने के बारे में सोचा। इसके लिए उन्होंने जयुपर से 20 किलोमीटर दूर दौलतपुरा इलाके को चुना, जहां उनको 6 एकड़ का फॉर्म हाउस है। इस फॉर्म पर उनका परिवार पहले से ही नींबू, करौंदे और गेंहू की खेती करता आया है।

खेती से जुड़े रोचक वीडियो देखने और नई चीजें सीखने के लिए Kisan Khabar के Youtube Channel के नीचे दिए गए लाल रंग के बटन पर जरूर क्लिक करें।



कृप्या फेसबुक लाइक बटन पर क्लिक जरूर करें ताकि आपको खेती की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें आसानी से फ्री में मिल सकें।

ये विचार आते ही वो इसके पौधे या बीज लेने के लिए जयपुर के कृषि विभाग में पहुंचे। लेकिन वहां उम्मीद के एकदम उल्टा देखने को मिला। अधिकारियों ने तिवारी जी की इस कोशिश को पागलपन कहते हुए मदद करने से मना कर दिया।

टेलीग्राम (Telegram) एप पर खेती-बाड़ी की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें रोज फ्री में पाने के लिए ग्रुप को ज्वाइन करें।

लेकिन कभी दार्जिलिंग के चाय बागानों काम करने वाले तिवारी जी ने हिम्मत नहीं हारी।

उन्होंने 1995 में 250 पौधे मंगवाए, जिनकी कीमत उस समय उन्होंने 10 रूपए प्रति पौधा दी थी। इनमें से 185 पौधे बच गए जबकि बाकी पौधे किसी ना किसी वजह से मर गए। लेकिन अब ये 185 पौधे 20 साल के हो चुके हैं और इनकी कीमत करोड़ों की हो चुकी है। मौजूदा बाजार में इनकी कीमत रूपए 3500 प्रति क्यूबीक फीट है। यानी इनकी कुल कीमत 1 करोड़ 85 लाख रूपए है।

हालांकि 78 साल के हो चुके तिवारी जी फिलहाल इनको बेचने के मूड में नहीं है। उन्होंने इस सफलता के बाद आसपास के किसानों को 500 से भी ज्यादा सागवान के पौधे दिए हैं। इसी वजह से आपको दौलतपुरा इलाके में ज्यादातर जगहों पर सागौन के पेड़ दिख जायेंगे।

[wp-like-lock] your content [/wp-like-lock]

[facebook_likebox url=”http://www.facebook.com/kisankhabar” width=”300″ height=”200″ color=”light” faces=”true” stream=”false” header=”false” border=”true”]

किस मंडी में किस भाव में बिकी कौन सी फसल | Mandi Rates LIVE

किस मंडी में किस भाव में बिकी कौन सी फसल | Mandi Rates LIVEKisanKhabar.com दुनिया की एकमात्र ऐसी साइट है जहां पर खेती की सिर्फ अच्छी ख़बरें ही आती हैं। जहां खेती में सफल किसानों की ना केवल सफलता की कहानियां बताई जाती हैं बल्कि आपको उनसे मिलने का मौका भी दिया जाता है ताकि आप भी उनकी तरह लाखों की कमाई वाली खेती करना सीख सकें।

इसके अलावा हर किसान की 14 समस्याओं का समाधान भी आपको सिर्फ और सिर्फ इसी साइट पर मिलेगा। --------------------------------------------------------------------------------------------------------- Kisan Khabar Live | New Farming Technology | Kheti New machine | Mandi Rates Live | Kheti ki News#kisankhabar #farming #farmingtechnology #kheti #mandirates #kisan #kisanbulletin #kisanmanch #farmers #farming #modernfarming #moderntechniques #farmhouse #polyhouse #tractor--------------------------------------------------------------------------------------------------------- KisanKhabar.com is the only portal which brings only good news from Farm Field. It brings A to Z information about farming, technology, and stories of successful farming. Apart from this, it guides old and new farmers as wellDownload India’s No. 1 Hindi News Mobile App: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.stork.kisankhabar&hl=en_INSubscribe To Our Channel: https://www.youtube.com/channel/UCUjgueyc1T3-kmH8qD5vcPQLike us on Facebook http://www.facebook.com/kisankhabarFollow us on Twitter http://twitter.com/kisankhabarOfficial website: https://www.kisankhabar.com

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

Hits: 10445



खेती से जुड़े रोचक वीडियो देखने और नई सीखने के लिए Kisan Khabar के Youtube Channel के नीचे दिए गए लाल रंग के बटन पर जरूर क्लिक करें।



कृप्या फेसबुक लाइक बटन पर क्लिक जरूर करें ताकि आपको खेती की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें आसानी से फ्री में मिल सकें।



टेलीग्राम (Telegram) एप पर खेती-बाड़ी की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें रोज फ्री में पाने के लिए ग्रुप को ज्वाइन करें।

27 thoughts on “जिसे कृषि विभाग ने पागल कहा, वो राजस्थान में बन गया पौने 2 करोड़ रूपए के पेड़ों का मालिक

  1. 154934 875449In case you tow a definite caravan nor van movie trailer your entire family pretty soon get exposed to the down sides towards preventing finest securely region. awnings 109955

  2. 333913 858398In todays news reporting clever journalists work their very own slant into a story. Bloggers use it promote their works and a lot of just use it for fun or to stay in touch with pals far away. 674762

  3. 546833 955037An interesting discussion is worth comment. I think which you require to write a lot more on this matter, it may possibly not be a taboo subject but normally individuals are not enough to speak on such topics. Towards the next. Cheers 726756

  4. 901531 763579Up to now, you require to term of hire an absolute truck or van and will also be removal equipments to valuable items plus take a look at the new destination. From the long run, which finish up with are couple of issues except anxiety moreover stress and anxiety. removals stockport 408283

  5. F*ckin’ awesome issues here. I’m very happy to peer your post. Thank you a lot and i’m taking a look forward to touch you. Will you kindly drop me a mail?

  6. 891819 551608Hey there! This is my first visit to your blog! We are a team of volunteers and starting a new project in a community in the same niche. Your blog provided us beneficial information to work on. You have done a outstanding job! 732401

  7. 940373 260847Exceptional read, I just passed this onto a colleague who was doing just a little research on that. And he truly bought me lunch as I found it for him smile So let me rephrase that: Thank you for lunch! 123288

Leave a Reply

Your email address will not be published.