Shreya proved that farming is game of profit

29 साल के श्रेय ने साबित किया कि खेती में ही हैं मोटी पैसा कमाने का जबरदस्त मौका

इंटरव्यू ताजा ख़बर नई तकनीक नौकरी या खेती

एमबीए करने के बाद नौकरी करने के बजाय खेती की

खेती में भारत में एक से बढ़कर एक ऐसे हिम्मतवाले युवाओं की कहानियां हैं जिन्होंने खेती में भविष्य बनाने का रिस्क लिया और अपनी अच्छी खासी नौकरी छोड़ दी।
किसानख़बर.कॉम की इस सीरीज में इस बार हैं मध्य प्रदेश के खंडवा के 29 साल के युवा किसान श्रेय हूमड़ की सफलता की कहानी। श्रेय ने एमबीए करने के बाद बड़ी कंपनी में नौकरी करने लगे। साथ में घर का बिजनस भी देख लेते थे। हालांकि श्रेय भी कुछ समय बाद फैमिली बिजनस में ही जाने वाले थे। लेकिन नौकरी करते हुए उनको समझ में आया कि कृषि क्षेत्र को छोड़ दुनिया के हर क्षेत्र में मंदी का खतरा बना रहता है।




इसी विचार के साथ वो तमिलनाडु पहुंच गए जहां उन्होंने पॉली हाउस फार्मिंग और टैरेस गार्डन फार्मिंग की तकनीक सीखी। 15 दिन बाद वापस खंडवा आ गए और करीब 2.5 बीघा यानी आधे एकड़ में पॉली हाउस और आधे एकड़ में नेट हाउस बना डाला। अच्छी बात ये है कि श्रेय ने पहली कोशिश में ही 40 दिन में करीब 14 टन ककड़ी की पैदावार ले ली।
श्रेय के मुताबिक सिर्फ ज्यादा उत्पादन ही नहीं बल्कि क्वालिटी भी ककड़ी की बाकी लोगों की ककड़ी से कई गुना ज्यादा अच्छी थी। इसी वजह से बाकी लोगों को जहां 10 से 12 रूपए किलो ककड़ी का थोक भाव मिला, वहीं श्रेय की ककड़ियों को 18 से 20 रूपए थोक भाव मिला।




इसी तरह से धनियास लौकी, मैथी और टमाटर जैसे सब्जियों के दाम भी उनको बाकियों के मुकाबले ज्यादा मिले। श्रेय के मुताबिक इसके लिए बीज पुणे से मंगाए गए थे।
Shreya proved that farming is game of profit
Shreya proved that farming is game of profit

पॉली हाउस और नेट हाउस में उत्पादन ज्यादा

श्रेय ने खेती के दौरान पाया कि पॉली हाउस और नेट हाउस में उत्पादन ज्यादा होता है और क्वालिटी भी ज्यादा अच्छी होती है। जबकि परंपरागत खेती में उत्पादन और क्वालिटी दोनों ही कम होते हैं।
किसान अपनी फसल को पॉली हाउस में जितना भी पानी, खाद और ऑक्सीजन इत्यादि देगा, उतना ही फसलों को मिलेगा।
पॉली हाउस में बारिश के पानी से भी फसल बचती है। हवा और रोशनी भी जरूरत के हिसाब से ही पॉली हाउस में दी जाती है। इससे फसल को ना तो कुछ ज्यादा मिलता है और ना ही कम।

[youtube_channel resource=0 cache=300 random=1 fetch=10 num=1 ratio=3 responsive=1 width=306 display=thumbnail thumb_quality=hqdefault autoplay=1 norel=1 nobrand=1 showtitle=above showdesc=1 desclen=0 noanno=1 noinfo=1 link_to=channel goto_txt=”खेती के लिए बहुत काम आने वाले वीडियो देखने के लिए हमारे Youtube चैनल पर क्लिक करें।”]

Leave a Reply

Your email address will not be published.