Krishna Pickle Farmer

सड़क पर ठेल लगाने वाली महिला बनी 4 मंजिला बिल्डिंग की मालकिन, उधर के 500 रूपए ने बदली जिंदगी। अब है 1 करोड़ रूपए की सालाना कमाई

इंटरव्यू ताजा ख़बर नई तकनीक नौकरी या खेती महिला

छोटा सा अचार का बिजनस आज बन गया है कि काफी बड़ा

श्रीमति कृष्णा यादव दिल्ली के नजफगढ़ में रहने वाली एक सफल व्यापारी हैं। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर की रहने वाली कृष्णा अपने तीन बच्चों के साथ दिल्ली दो जून रोटी की तलाश में तब आईं थीं जब 1996 में उनके पति की नौकरी नहीं रही थी।

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के वैज्ञानिकों की सलाह ने उन्हें अपना खुद का अचार का बिजनस स्थापित करने के लिए सक्षम बनाया जो न केवल उनके परिवार के लिए आजीविका का साधन बना बल्कि पिछले चौदह सालों (2002-16) से वो अब सालाना एक करोड़ रुपये के अधिक टर्नओवर वाले व्यवसाय को संभाल रही हैं।

खेती से जुड़े रोचक वीडियो देखने और नई चीजें सीखने के लिए Kisan Khabar के Youtube Channel के नीचे दिए गए लाल रंग के बटन पर जरूर क्लिक करें।



कृप्या फेसबुक लाइक बटन पर क्लिक जरूर करें ताकि आपको खेती की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें आसानी से फ्री में मिल सकें।

 

 

<script async src=”//pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js”></script>

टेलीग्राम (Telegram) एप पर खेती-बाड़ी की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें रोज फ्री में पाने के लिए ग्रुप को ज्वाइन करें।

<!– KK Sunil Ad no1 –>

<ins class=”adsbygoogle”

style=”display:block”

data-ad-client=”ca-pub-2524861400311440″

data-ad-slot=”2480144412″

data-ad-format=”auto”></ins>

<script>

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

</script>

सफर की शुरूआत :

krishna 6
सफलता की मिसाल बनी एक गरीब महिला

उनका परिवार 1995-96 से अपने निराशाजनक दौर से गुजर रहा था जब उनके बेरोजगार पति मानसिक रूप से बेहद परेशान हालात में फंस चुके थे।

लेकिन ये उनकी दृढ़ता और साहस ही था कि जिसने उनके परिवार को इस कठिन दौर को निर्लित भाव से सहने की ताकत दी और अपने एक मित्र से 500 रुपया उधार लेकर उनका परिवार दिल्ली चला आया।

दिल्ली आने के बाद उनके परिवार ने कमांडेट बी एस त्यागी के खानपुर स्थित रेवलाला गांव के फार्म हाउस के देख रेख की नौकरी शुरू की।

कमांडेट त्यागी ने अपने फार्म हाउस में कृषि विज्ञान केंद्र, उजवा के वैज्ञानिकों के निर्देशन में बेर और करौंदे के बाग स्थापित किए थे।

बाजार में इन फलों की कम कीमत चिंता का सबब था लिहाज़ा कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों ने कमांडेट त्यागी को मूल्य संवर्धन और खाद्य प्रसंस्करण जैसे गतिविधियों को संभावित हल के रूप में सुझाया। यह उद्यम के विचार के जन्म लेने का दौर था और इसी क्रम में श्रीमति कृष्णा यादव ने 2001 में कृषि विज्ञान केंद्र, उजवा में खाद्य प्रसंस्करण तकनीक का तीन महीने का प्रशिक्षण लिया।

प्रशिक्षण के बाद पहला मूल्य संवर्धित उत्पाद के तौर पर तीन हजार रुपये के आरंभिक निवेश पर 100 किलो करौंदे का अचार और पांच किलो मिर्च का अचार तैयार किया गया जिसे बेच कर उन्हें 5250 रुपये का लाभ हुआ।

 

 

<script async src=”//pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js”></script>

<!– KK Sunil No.2 –>

<ins class=”adsbygoogle”

style=”display:block”

data-ad-client=”ca-pub-2524861400311440″

data-ad-slot=”3956877617″

data-ad-format=”auto”></ins>

<script>

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

</script>

आरंभिक कठिनाइयां:

krishna 2सफलता का स्वाद चखने के बाद उपलब्धि का भाव लिए उन्हें कुछ किलो करौंदा कैंडी बनाने का ख्याल आया। लेकिन उनके बनाए कैंडी में फंगस लग गए और वो बर्बाद हो गए।

हालांकि उन्होंने हार नहीं मानी और उन्होंने इसका निदान निकालने के लिए वैज्ञानिकों और खाद्य विशेषज्ञों से सलाह ली और उत्पाद की संरक्षण प्रक्रिया का पूरी तरह से पालन करते हुए बेहतर उत्पाद सामने लेकर आईं।

उनके इस बात से उनके उद्यम को विभिन्न उत्पादों के जरिए आगे बढ़ाने की उनकी चिंता पहली बार खुल कर सामने आई।

उनके द्वारा बनाए गए उत्पाद को बेचने का काम उनके पति करते थे जिन्होंने नजफगढ़ की सड़क के किनारे ठेले से चलने वाली अपनी रेहड़ी लगा ली थी। उनकी रेहड़ी को देखकर लोग मजाक उड़ाते थे और ये कह कर हंसते थे कि अब ठेले पर सब्जियों की तरह अचार भी मिलने लगे हैं।

लेकिन उनका परिवार इन मजाक से बेपरवार अपने एजेंडे पर मजबूती से डटा रहा। करौंदा कैंडी उस इलाके के लिए नया उत्पाद था लिहाज़ा इसको लेकर लोगों की प्रतिक्रिया बेहद सकारात्मक रही और लाभप्रद रही। उनके इस अनुभव ने उनमें पूरी तरह से मूल्य संवर्धन उद्यम की ओर आगे बढ़ने की प्रेरणा जगाई और तब से फिर उन्होंने पीछे मुढ़कर कभी नहीं देखा।

shri krishna pickle 1

वर्तमान हालात:

करौंदा का अचार और कैंडी बनाने के शुरूआती दिनों के बाद आज वो विभिन्न तरह की चटनी, आचार, मुरब्बा आदि कम से कम 87 विभिन्न प्रकार के उत्पाद तैयार करती हैं।

वर्तमान में उनके उद्यम में तकरीबन 500 क्वींटल फलों और सब्जियों का प्रसंस्करण होता है जिसका सालाना व्यापार तकरीबन एक करोड़ रुपये से उपर का जिसने कइ अन्य को रोजगार मुहैय्या कराया है।

एफपीओ के दिशा निर्देशों के मुताबिक आला वाणिज्यिक ग्राहकों को ध्यान में रखकर उत्पादों को पारंपरिक व्यंजनों और नवीन विचारों के मिश्रण से तैयार किया जा रहा है।

उत्पाद को न केवल स्वादिष्ट व्यंजन के रूप में बनाया जाता है बल्कि उनके चिकित्सकीय और सौंदर्य प्रसाधन के रूप में उपयोग के मकसद को ध्यान में रखकर भी तैयार किया जाता है जैसे कि एलुवेरा जेल का उपयोग तो सौंदर्य प्रसाधन के रूप में है लेकिन एलुवेरा जेल में हल्दी मिला देना से वो बुजुर्गों के घुटने के दर्द में राहत देने की दवा बन जाती है।

करेला, मैथी और एलुवेरा के मिश्रण का जूस मधुमेह के रोगियों के लिए फायदेमंद होता है। 2006 में उन्होंने आईएआरआई में पोस्ट हार्वेस्ट प्रौद्योगिकी में प्रशिक्षण लिया जहां उन्होंने बगैर रासायनिक परिरक्षकों के प्रयोग के फलों से तैयार होने वाले पेय के बारे में जानकारी हासिल की।

इसके पश्चात उन्होंने आईएआरआई के साथ जामुन, लीची, आम और स्ट्रॉबेरी आदि के पुसा पेय बनाने के एक समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किये।

सड़क के किनारे रेहड़ी लगाने से एक फैक्ट्री के मालिक बनने तक के सफर में उन्होंने एक लंबी दूरी तय की है। चार मंजीला उनकी फैक्ट्री खाद्य प्रसंस्करण के अत्याधुनिक उपकरणों से सुज्जित हैं।

चारों मंजिल पर अलग अलग काम मसलन सुखाने, धोने और काटने आदि का काम होता है।

 

 

<script async src=”//pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js”></script>

<!– KK Sunil Ad No.3 –>

<ins class=”adsbygoogle”

style=”display:block”

data-ad-client=”ca-pub-2524861400311440″

data-ad-slot=”5433610810″

data-ad-format=”auto”></ins>

<script>

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

</script>

मार्केटिंग & संबंध बनाना :

krishna 4वो प्रदर्शनी, मेला, सेमिनार और सम्मेलनों में नियमित रूप से भाग लेती हैं जिससे उनके उत्पादों का प्रदर्शन ठीक ठाक ढंग से हो पाता है, साथ ही एक उद्यमी के तौर पर उनकी मान्यता को भी मजबूती मिलती है।

ब्रांड को स्थापित करने का ये अभिनव रणनीति है। उनको एक उद्यमी के तौर पर प्रेरित करने में आईएआरआई के वैज्ञानिकों की बड़ी भूमिका रही है।

वो अपने उत्पाद को दुकानों, मोबाइल वैन, बीएसएफ कैंटिन में थोक भाव में, स्थानीय बाजारों आदि में बेचती हैं।

थोक माल बेचने के लिए सरकारी संस्थानों के साथ, कच्चे माल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए किसानों के साथ, नए नए तकनीक से परिचित होने के लिए अनुसंधान केंद्रों के साथ और अलग अलग समय में मदद के लिए स्थानीय महिलाओं के साथ अपने संबंधों को अपने व्यापार को बढ़ाने का आधार बनाया।

[wp-like-lock] your content [/wp-like-lock]

[facebook_likebox url=”http://www.facebook.com/kisankhabar” width=”300″ height=”200″ color=”light” faces=”true” stream=”false” header=”false” border=”true”]

Mobile पर ही Free में Khasra Khatauni निकालें | 5 मिनट में सीखें मोबाइल पर खसरा-खतौनी निकालना

Story - वीडियो देखकर 5 मिनट में सीकें कि कैसे अपने खेत की खतरा-खतौनी निकाली जाती है।#khasrakhatauni #kisan #kisankhabar #agriculture #farming #modernfarming #moderntechnology #farmingtechnology #agriculturefarms #farmingmachine #किसान #गांव #खेतीनीचे दी गई Top प्लेलिस्ट में आपके काम आने वाले एक तरह के सभी वीडियोज़ को अलग अलग ग्रुप में रखा गया है। जैसे कि खेती की ट्रेनिंग से जुड़े वीडियोज़ 'Training ट्रेनिंग ‘ नाम के ग्रुप (प्लेलिस्ट) में मिलेंगे औऱ खेती में जुगाड़ तकनीक वाले वीडियोज़ 'जुगाड़ तकनीक ‘ नाम के ग्रुप (प्लेलिस्ट) में मिलेंगे।

खेती में समस्या का समाधान Solution of Agri problems = http://tiny.cc/stem7yKaise Karein कैसे करें How to do = http://tiny.cc/4xem7y Mushroom मशरूम की खेती = http://tiny.cc/bwem7yखेती में नई तकनीक Agriculture Technology = http://tiny.cc/9wem7yTraining ट्रेनिंग = http://tiny.cc/tuem7yDrip Irrigation ड्रिप इर्रिगेशन pani dene ke drip ka Tarika = http://tiny.cc/nyem7yखेती की जुताई करने वाली नई मशीनें Latest Crop Cultivation Local system = http://tiny.cc/7yem7yबीज बौने या पौधा लगाने वाली नई तकनीक Latest Cultivation Machines = http://tiny.cc/lzem7yफसल की कटाई वाली हैर New Harvesting Machines = http://tiny.cc/2zem7yखेती में चौंकाने वाले प्रयोगों (एक्सपेरीमेंट) के वीडियोज़ = http://tiny.cc/20em7yसफल किसानों की कहानी का वीडियो Successful Farmers = http://tiny.cc/k1em7yदवा छिड़कने वाली मशीनें Spraypump = http://tiny.cc/51em7yजुगाड़ तकनीक Jugaad Technology = http://tiny.cc/0nem7y ड्रोन का खेती में इस्तेमाल Drone in farming = http://tiny.cc/ppem7yपशुपालन Pashupalan = http://tiny.cc/nqem7yट्रैक्टर Tractor = http://tiny.cc/4qem7yगांव में प्रतिभा Village Talent = http://tiny.cc/9tem7yकिसानख़बर KisanKhabar Bulletin = http://tiny.cc/qwem7yविदेशीखेती farming in Foreign = http://tiny.cc/hxem7yखेती में धोखे से सावधान Beware from Fraud in Farming = http://tiny.cc/t0em7yकृप्या हमारे Youtube चैनल को जरूर सब्सक्राइव करें, ताकि आपको हिन्दी भाषा में ऐसे अच्छे वीडियोज़ के मैसेज मोबाइल पर तुरंत मिलते रहे। कृप्या वीडियो को लाइक जरूर कीजिए।1. अगर आपकी जानकारी में ऐसा भी किसान भाई है जो खेती में ऐसा ही कुछ नया कर रहे हैं, तो कृप्या हमको WhatsApp +91.78.2753.8391 पर संपर्क करें।2. अगर ऐसे ही खेती के काम आने वाले रोचक वीडियो आपके पास हैं, तो हमको अपनी और मशीन की पूरी जानकारी के साथ WhatsApp +91.78.2753.8391 करें।====== Social Media A/CsYoutube Channel - https://www.youtube.com/kisankhabarpageFB - https://www.facebook.com/kisankhabarTwitter - https://www.twitter.com/kisankhabarWebsite - https://www.kisankhabar.comAndriod App - http://tiny.cc/ffal7y===== क्या है किसानख़बर.कॉम (KisanKhabar.com) दुनिया की एकमात्र ऐसी वेब, एप और यूट्यूब चैनल हैं, जहां पर खेती से जुड़ी सिर्फ अच्छी खबरों को ही दुनिया के सामने लाया जाता है। किसानों से जुड़ी कुल 14 तरह की समस्याओं का समाधान किसानखबर.कॉम (www.kisankhabar.com) पर मिलता है।KisanKhabar.com is the only portal in Hindi which brings positive news from agriculture field from India and abroad.It brings successful stories of people in farming and tells about new technology in the agriculture field. Apart from this, KisanKhabar.com gives complete details about "how to do" anything in the agriculture field.If you have any interesting story related to farmers/farming/ farming technology etc, please send us to - kisankhabar@gmail.comContact on Phone +91.78.2753.8391 =====

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

Hits: 2730



खेती से जुड़े रोचक वीडियो देखने और नई सीखने के लिए Kisan Khabar के Youtube Channel के नीचे दिए गए लाल रंग के बटन पर जरूर क्लिक करें।



कृप्या फेसबुक लाइक बटन पर क्लिक जरूर करें ताकि आपको खेती की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें आसानी से फ्री में मिल सकें।



टेलीग्राम (Telegram) एप पर खेती-बाड़ी की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें रोज फ्री में पाने के लिए ग्रुप को ज्वाइन करें।

38 thoughts on “सड़क पर ठेल लगाने वाली महिला बनी 4 मंजिला बिल्डिंग की मालकिन, उधर के 500 रूपए ने बदली जिंदगी। अब है 1 करोड़ रूपए की सालाना कमाई

  1. 523376 974651Someone essentially assist to make severely posts I may well state. That will be the quite first time I frequented your internet site page and so far? I surprised with the analysis you created to create this certain submit incredible. Magnificent task! 93341

  2. 631670 871629The next time I just read a weblog, I truly hope which it doesnt disappoint me up to this one. Get real, Yes, it was my choice to read, but I personally thought youd have something fascinating to convey. All I hear can be a handful of whining about something you can fix within the event you werent too busy trying to locate attention. 420050

  3. Aw, this was a really nice post. In idea I would like to put in writing like this additionally ? taking time and actual effort to make a very good article? but what can I say? I procrastinate alot and by no means seem to get something done.

  4. 872898 375298You made some decent points there. I looked online for that dilemma and identified many people goes coupled with with all your internet site. 786367

  5. Hi there! I just wanted to ask if you ever have any issues with hackers? My last blog (wordpress) was hacked and I ended up losing several weeks of hard work due to no back up. Do you have any solutions to stop hackers?

  6. Hmm is anyone else encountering problems with the pictures on this blog loading? I’m trying to determine if its a problem on my end or if it’s the blog. Any feed-back would be greatly appreciated.

  7. 211835 545639Neat blog! Is your theme custom made or did you download it from somewhere? A design like yours with a few simple tweeks would really make my blog jump out. Please let me know where you got your design. Bless you 102118

  8. At this time it appears like WordPress is the top blogging platform out there right now. (from what I’ve read) Is that what you’re using on your blog?

Leave a Reply

Your email address will not be published.