LOADING

Type to search

इंटरव्यू ताजा ख़बर नई तकनीक नौकरी या खेती महिला

सड़क पर ठेल लगाने वाली महिला बनी 4 मंजिला बिल्डिंग की मालकिन, उधर के 500 रूपए ने बदली जिंदगी। अब है 1 करोड़ रूपए की सालाना कमाई

Share
Krishna Pickle Farmer

Hits: 2604

छोटा सा अचार का बिजनस आज बन गया है कि काफी बड़ा

श्रीमति कृष्णा यादव दिल्ली के नजफगढ़ में रहने वाली एक सफल व्यापारी हैं। उत्तर प्रदेश के बुलंदशहर की रहने वाली कृष्णा अपने तीन बच्चों के साथ दिल्ली दो जून रोटी की तलाश में तब आईं थीं जब 1996 में उनके पति की नौकरी नहीं रही थी।

भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद के वैज्ञानिकों की सलाह ने उन्हें अपना खुद का अचार का बिजनस स्थापित करने के लिए सक्षम बनाया जो न केवल उनके परिवार के लिए आजीविका का साधन बना बल्कि पिछले चौदह सालों (2002-16) से वो अब सालाना एक करोड़ रुपये के अधिक टर्नओवर वाले व्यवसाय को संभाल रही हैं।

 

 

<script async src=”//pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js”></script>

<!– KK Sunil Ad no1 –>

<ins class=”adsbygoogle”

style=”display:block”

data-ad-client=”ca-pub-2524861400311440″

data-ad-slot=”2480144412″

data-ad-format=”auto”></ins>

<script>

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

</script>

सफर की शुरूआत :

krishna 6

सफलता की मिसाल बनी एक गरीब महिला

उनका परिवार 1995-96 से अपने निराशाजनक दौर से गुजर रहा था जब उनके बेरोजगार पति मानसिक रूप से बेहद परेशान हालात में फंस चुके थे।

लेकिन ये उनकी दृढ़ता और साहस ही था कि जिसने उनके परिवार को इस कठिन दौर को निर्लित भाव से सहने की ताकत दी और अपने एक मित्र से 500 रुपया उधार लेकर उनका परिवार दिल्ली चला आया।

दिल्ली आने के बाद उनके परिवार ने कमांडेट बी एस त्यागी के खानपुर स्थित रेवलाला गांव के फार्म हाउस के देख रेख की नौकरी शुरू की।

कमांडेट त्यागी ने अपने फार्म हाउस में कृषि विज्ञान केंद्र, उजवा के वैज्ञानिकों के निर्देशन में बेर और करौंदे के बाग स्थापित किए थे।

बाजार में इन फलों की कम कीमत चिंता का सबब था लिहाज़ा कृषि विज्ञान केंद्र के वैज्ञानिकों ने कमांडेट त्यागी को मूल्य संवर्धन और खाद्य प्रसंस्करण जैसे गतिविधियों को संभावित हल के रूप में सुझाया। यह उद्यम के विचार के जन्म लेने का दौर था और इसी क्रम में श्रीमति कृष्णा यादव ने 2001 में कृषि विज्ञान केंद्र, उजवा में खाद्य प्रसंस्करण तकनीक का तीन महीने का प्रशिक्षण लिया।

प्रशिक्षण के बाद पहला मूल्य संवर्धित उत्पाद के तौर पर तीन हजार रुपये के आरंभिक निवेश पर 100 किलो करौंदे का अचार और पांच किलो मिर्च का अचार तैयार किया गया जिसे बेच कर उन्हें 5250 रुपये का लाभ हुआ।

 

 

<script async src=”//pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js”></script>

<!– KK Sunil No.2 –>

<ins class=”adsbygoogle”

style=”display:block”

data-ad-client=”ca-pub-2524861400311440″

data-ad-slot=”3956877617″

data-ad-format=”auto”></ins>

<script>

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

</script>

आरंभिक कठिनाइयां:

krishna 2सफलता का स्वाद चखने के बाद उपलब्धि का भाव लिए उन्हें कुछ किलो करौंदा कैंडी बनाने का ख्याल आया। लेकिन उनके बनाए कैंडी में फंगस लग गए और वो बर्बाद हो गए।

हालांकि उन्होंने हार नहीं मानी और उन्होंने इसका निदान निकालने के लिए वैज्ञानिकों और खाद्य विशेषज्ञों से सलाह ली और उत्पाद की संरक्षण प्रक्रिया का पूरी तरह से पालन करते हुए बेहतर उत्पाद सामने लेकर आईं।

उनके इस बात से उनके उद्यम को विभिन्न उत्पादों के जरिए आगे बढ़ाने की उनकी चिंता पहली बार खुल कर सामने आई।

उनके द्वारा बनाए गए उत्पाद को बेचने का काम उनके पति करते थे जिन्होंने नजफगढ़ की सड़क के किनारे ठेले से चलने वाली अपनी रेहड़ी लगा ली थी। उनकी रेहड़ी को देखकर लोग मजाक उड़ाते थे और ये कह कर हंसते थे कि अब ठेले पर सब्जियों की तरह अचार भी मिलने लगे हैं।

लेकिन उनका परिवार इन मजाक से बेपरवार अपने एजेंडे पर मजबूती से डटा रहा। करौंदा कैंडी उस इलाके के लिए नया उत्पाद था लिहाज़ा इसको लेकर लोगों की प्रतिक्रिया बेहद सकारात्मक रही और लाभप्रद रही। उनके इस अनुभव ने उनमें पूरी तरह से मूल्य संवर्धन उद्यम की ओर आगे बढ़ने की प्रेरणा जगाई और तब से फिर उन्होंने पीछे मुढ़कर कभी नहीं देखा।

shri krishna pickle 1

वर्तमान हालात:

करौंदा का अचार और कैंडी बनाने के शुरूआती दिनों के बाद आज वो विभिन्न तरह की चटनी, आचार, मुरब्बा आदि कम से कम 87 विभिन्न प्रकार के उत्पाद तैयार करती हैं।

वर्तमान में उनके उद्यम में तकरीबन 500 क्वींटल फलों और सब्जियों का प्रसंस्करण होता है जिसका सालाना व्यापार तकरीबन एक करोड़ रुपये से उपर का जिसने कइ अन्य को रोजगार मुहैय्या कराया है।

एफपीओ के दिशा निर्देशों के मुताबिक आला वाणिज्यिक ग्राहकों को ध्यान में रखकर उत्पादों को पारंपरिक व्यंजनों और नवीन विचारों के मिश्रण से तैयार किया जा रहा है।

उत्पाद को न केवल स्वादिष्ट व्यंजन के रूप में बनाया जाता है बल्कि उनके चिकित्सकीय और सौंदर्य प्रसाधन के रूप में उपयोग के मकसद को ध्यान में रखकर भी तैयार किया जाता है जैसे कि एलुवेरा जेल का उपयोग तो सौंदर्य प्रसाधन के रूप में है लेकिन एलुवेरा जेल में हल्दी मिला देना से वो बुजुर्गों के घुटने के दर्द में राहत देने की दवा बन जाती है।

करेला, मैथी और एलुवेरा के मिश्रण का जूस मधुमेह के रोगियों के लिए फायदेमंद होता है। 2006 में उन्होंने आईएआरआई में पोस्ट हार्वेस्ट प्रौद्योगिकी में प्रशिक्षण लिया जहां उन्होंने बगैर रासायनिक परिरक्षकों के प्रयोग के फलों से तैयार होने वाले पेय के बारे में जानकारी हासिल की।

इसके पश्चात उन्होंने आईएआरआई के साथ जामुन, लीची, आम और स्ट्रॉबेरी आदि के पुसा पेय बनाने के एक समझौता पत्र पर हस्ताक्षर किये।

सड़क के किनारे रेहड़ी लगाने से एक फैक्ट्री के मालिक बनने तक के सफर में उन्होंने एक लंबी दूरी तय की है। चार मंजीला उनकी फैक्ट्री खाद्य प्रसंस्करण के अत्याधुनिक उपकरणों से सुज्जित हैं।

चारों मंजिल पर अलग अलग काम मसलन सुखाने, धोने और काटने आदि का काम होता है।

 

 

<script async src=”//pagead2.googlesyndication.com/pagead/js/adsbygoogle.js”></script>

<!– KK Sunil Ad No.3 –>

<ins class=”adsbygoogle”

style=”display:block”

data-ad-client=”ca-pub-2524861400311440″

data-ad-slot=”5433610810″

data-ad-format=”auto”></ins>

<script>

(adsbygoogle = window.adsbygoogle || []).push({});

</script>

मार्केटिंग & संबंध बनाना :

krishna 4वो प्रदर्शनी, मेला, सेमिनार और सम्मेलनों में नियमित रूप से भाग लेती हैं जिससे उनके उत्पादों का प्रदर्शन ठीक ठाक ढंग से हो पाता है, साथ ही एक उद्यमी के तौर पर उनकी मान्यता को भी मजबूती मिलती है।

ब्रांड को स्थापित करने का ये अभिनव रणनीति है। उनको एक उद्यमी के तौर पर प्रेरित करने में आईएआरआई के वैज्ञानिकों की बड़ी भूमिका रही है।

वो अपने उत्पाद को दुकानों, मोबाइल वैन, बीएसएफ कैंटिन में थोक भाव में, स्थानीय बाजारों आदि में बेचती हैं।

थोक माल बेचने के लिए सरकारी संस्थानों के साथ, कच्चे माल की उपलब्धता सुनिश्चित करने के लिए किसानों के साथ, नए नए तकनीक से परिचित होने के लिए अनुसंधान केंद्रों के साथ और अलग अलग समय में मदद के लिए स्थानीय महिलाओं के साथ अपने संबंधों को अपने व्यापार को बढ़ाने का आधार बनाया।

[wp-like-lock] your content [/wp-like-lock]

[facebook_likebox url=”http://www.facebook.com/kisankhabar” width=”300″ height=”200″ color=”light” faces=”true” stream=”false” header=”false” border=”true”]

नौकरी छोड़ किसान आदेश कुमार कर रहे हैं शतावर की खेती कमा रहे हैं लाखों naukari chod kmate hain lakhon

नौकरी छोड़ किसान आदेश कुमार कर रहे हैं शतावर की खेती कमा रहे हैं लाखों naukari chod Adesh kumar kma rahe hain lakhon

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

Tags:
Vandana Singh

वंदना सिंह को पत्रकारिता का 10 साल का अनुभव है

    1

25 Comments

  1. Like September 19, 2018

    Like!! I blog quite often and I genuinely thank you for your information. The article has truly peaked my interest.

    Reply
  2. It is in reality a great and useful piece of info. Thanks for sharing. 🙂

    Reply
  3. pharmacokinetics January 3, 2019

    189081 807623I surely did not realize that. Learnt something new nowadays! Thanks for that. 945818

    Reply
  4. titanium diboride powder January 3, 2019

    458369 804760I completely agree with you about this matter. Good post. Already bookmarked for future reference. 244338

    Reply
  5. clean dryer vent January 15, 2019

    523376 974651Someone essentially assist to make severely posts I may well state. That will be the quite first time I frequented your internet site page and so far? I surprised with the analysis you created to create this certain submit incredible. Magnificent task! 93341

    Reply
  6. pharmacokinetic improvements January 17, 2019

    256713 250271Wow What fantastic data. Thank you for the time you spent on this post. 657700

    Reply
  7. pharmacokinetic January 18, 2019

    63390 651042I see that you are utilizing WordPress on your weblog, wordpress is the best. :~- 268488

    Reply
  8. web design companies January 18, 2019

    162909 488597I visited plenty of web site but I conceive this one contains something special in it in it 663302

    Reply
  9. Rat PK Studies January 22, 2019

    579153 800208appreciate the effort you put into acquiring us this info 452543

    Reply
  10. Caco-2 permeability assay January 22, 2019

    116684 564033I genuinely treasure your work , Great post. 401279

    Reply
  11. in-vivo testing January 23, 2019

    631670 871629The next time I just read a weblog, I truly hope which it doesnt disappoint me up to this one. Get real, Yes, it was my choice to read, but I personally thought youd have something fascinating to convey. All I hear can be a handful of whining about something you can fix within the event you werent too busy trying to locate attention. 420050

    Reply
  12. bana vize ver February 6, 2019

    731447 528514Im having a bit concern I cant subscribe your feed, Im employing google reader fyi. 826951

    Reply
  13. GVK BIO India February 6, 2019

    659588 269497I got what you intend,bookmarked , extremely good internet internet site . 715700

    Reply
  14. Escort Istanbul February 10, 2019

    939339 608610you can have an ideal blog correct here! would you prefer to make some invite posts on my weblog? 317874

    Reply
  15. 749083 635869Truly good style and style and excellent content material , absolutely nothing at all else we require : D. 70610

    Reply
  16. Guaranteed Traffic March 4, 2019

    If you’re looking for an email list, head on to Emails 4 Less. Very cheap email packages and high delivery rate. http://bit.ly/emails4less

    Reply
  17. In Ropes March 6, 2019

    I believe one of your commercials caused my internet browser to resize, you may well want to put that on your blacklist.

    Reply
  18. Leesa Raymore March 21, 2019

    Aw, this was a really nice post. In idea I would like to put in writing like this additionally ? taking time and actual effort to make a very good article? but what can I say? I procrastinate alot and by no means seem to get something done.

    Reply
  19. movie trailers April 2, 2019

    688081 216697Thanks for another magnificent article. 18509

    Reply
  20. Auto Fabrication April 2, 2019

    872898 375298You made some decent points there. I looked online for that dilemma and identified many people goes coupled with with all your internet site. 786367

    Reply
  21. Car TV Series April 2, 2019

    813727 896371I adore your wp internet template, wherever would you obtain it by way of? 829234

    Reply
  22. Hannah Illas April 5, 2019

    Make money online by watching ads. High Payouts! https://adblast.alternet.com/r/viewmore

    Reply
  23. Ara Flecher April 8, 2019

    Hi there! I just wanted to ask if you ever have any issues with hackers? My last blog (wordpress) was hacked and I ended up losing several weeks of hard work due to no back up. Do you have any solutions to stop hackers?

    Reply
  24. Mirtha Fedele April 8, 2019

    Hmm is anyone else encountering problems with the pictures on this blog loading? I’m trying to determine if its a problem on my end or if it’s the blog. Any feed-back would be greatly appreciated.

    Reply

Leave a Comment

Your email address will not be published. Required fields are marked *