18 देशों के हजारों विदेशी किसान बांदा में एक किसान के खेत पर हर साल क्यों आते हैं

इंटरव्यू ताजा ख़बर नई तकनीक नौकरी या खेती

अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया जैसे देशों के किसान सीख रहे हैं भारत में खेती के गुर

बुंदेलखंड में कुछ किसान ऐसे हैं जिनकी खेती के चर्चे विदेशों तक हैं। ऑस्ट्रेलिया और अमेरिका से भी किसान, बुंदेलखंड के इन किसानों की खेती और खेती के तरीके देखने और सीखने आते हैं।

बुन्देलखंड में एक जिला है बांदा। इस जिले के बड़ोखर गाँव के निवासी हैं प्रेम सिंह। 57 साल के प्रेम सिंह खेती से हर साल 15 लाख रूपए की कमाई करते हैं। जबकि इस इलाके के ज्यादातर लोग दिल्ली-मुंबई जैसे शहरों में जाकर या तो छोटी मोटी नौकरी कर रहे हैं या फिर शहरों में मजदूरी से अपना पेट पालते हैं।

खेती से जुड़े रोचक वीडियो देखने और नई चीजें सीखने के लिए Kisan Khabar के Youtube Channel के नीचे दिए गए लाल रंग के बटन पर जरूर क्लिक करें।



कृप्या फेसबुक लाइक बटन पर क्लिक जरूर करें ताकि आपको खेती की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें आसानी से फ्री में मिल सकें।

ऐसे में प्रेम सिंह के खेत पर हर साल देश-विदेश से करीब 3 से 4 हजार किसान खेती के टिप्स लेने आते हैं।

टेलीग्राम (Telegram) एप पर खेती-बाड़ी की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें रोज फ्री में पाने के लिए ग्रुप को ज्वाइन करें।

Banda Farmerबाकी किसानों की तरह प्रेम सिंह रासायनिक खादों का सहारा नहीं लेते। बल्कि वो तो खेती, पशुपालन और बागवानी के अनोखे मॉडल का अपनाते हैं।

प्रेम ने अपने पूरे खेत को कुल 3 भागों में बांट रखा है। जमीन के 1 तिहाई हिस्से में प्रेम सिंह ने बाग लगाया है। जबकि पशुओं के चरने के लिए दूसरा हिस्सा है। जैविक खेती वो तीसरे हिस्से में करते हैं।

प्रेम सिंह इसी तरह से पिछले 30 साल से अपने 25 एकड़ के खेत में पूरी तरह से जैविक खेती कर रहे हैं।

प्रेम सिंह के मुताबिक वो खेत में पैदा होने वाले अनाज को सीधे बाजार में नहीं बेचने, बल्कि उसके प्रोडक्ट बनाकर बेचते हैं। वो गेंहू, दाल इत्यादि के पैकेज शहरों में भेजते हैं।

इसी फार्मूले और सिस्टम को समझने के लिए अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और  ब्रिटेन जैसे देशों से किसान प्रेम सिंह के खेत पर आते हैं। करीब 18 देशों से अब तक पर्यावरण प्रेमियों और छात्रों के साथ साथ किसान और रिसर्चर आ चुके हैं।

[wp-like-lock] your content [/wp-like-lock]

[facebook_likebox url=”http://www.facebook.com/kisankhabar” width=”300″ height=”200″ color=”light” faces=”true” stream=”false” header=”false” border=”true”]

बजट में किसानों को क्या मिला और क्या मिला, देखिए हिन्दी भाषा में बजट लाइव

बजट में किसानों को क्या मिला और क्या मिला, देखिए हिन्दी भाषा में बजट लाइव #budget2019 #budget #liveKisanKhabar.com दुनिया की एकमात्र ऐसी साइट है जहां पर खेती की सिर्फ अच्छी ख़बरें ही आती हैं। जहां खेती में सफल किसानों की ना केवल सफलता की कहानियां बताई जाती हैं बल्कि आपको उनसे मिलने का मौका भी दिया जाता है ताकि आप भी उनकी तरह लाखों की कमाई वाली खेती करना सीख सकें।

इसके अलावा हर किसान की 14 समस्याओं का समाधान भी आपको सिर्फ और सिर्फ इसी साइट पर मिलेगा। --------------------------------------------------------------------------------------------------------- Kisan Khabar Live | New Farming Technology | Kheti New machine | Mandi Rates Live | Kheti ki News#kisankhabar #farming #farmingtechnology #kheti #mandirates #kisan #kisanbulletin #kisanmanch #farmers #farming #modernfarming #moderntechniques #farmhouse #polyhouse #tractor--------------------------------------------------------------------------------------------------------- KisanKhabar.com is the only portal which brings only good news from Farm Field. It brings A to Z information about farming, technology, and stories of successful farming. Apart from this, it guides old and new farmers as wellDownload India’s No. 1 Hindi News Mobile App: https://play.google.com/store/apps/details?id=com.stork.kisankhabar&hl=en_INSubscribe To Our Channel: https://www.youtube.com/channel/UCUjgueyc1T3-kmH8qD5vcPQLike us on Facebook http://www.facebook.com/kisankhabarFollow us on Twitter http://twitter.com/kisankhabarOfficial website: https://www.kisankhabar.com

 

स्टोरी पर कृप्या कॉमेंट करें

Hits: 4360



खेती से जुड़े रोचक वीडियो देखने और नई सीखने के लिए Kisan Khabar के Youtube Channel के नीचे दिए गए लाल रंग के बटन पर जरूर क्लिक करें।



कृप्या फेसबुक लाइक बटन पर क्लिक जरूर करें ताकि आपको खेती की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें आसानी से फ्री में मिल सकें।



टेलीग्राम (Telegram) एप पर खेती-बाड़ी की अच्छी और काम आने वाली ख़बरें रोज फ्री में पाने के लिए ग्रुप को ज्वाइन करें।

24 thoughts on “18 देशों के हजारों विदेशी किसान बांदा में एक किसान के खेत पर हर साल क्यों आते हैं

  1. Greetings! This is my first visit to your blog! We are a group of volunteers and starting a new initiative in a community in the same niche. Your blog provided us beneficial information to work on. You have done a wonderful job!

  2. Hello there! Do you know if they make any plugins to help with SEO? I’m trying to get my blog to rank for some targeted keywords but I’m not seeing very good gains. If you know of any please share. Thanks!

  3. 124203 331340This web site might be a walk-through for all of the details you wanted in regards to this and didnt know who to question. Glimpse here, and you will certainly discover it. 244071

  4. 438388 422934Can I just say what a relief to search out somebody who genuinely is aware of what theyre speaking about on the internet. You undoubtedly know how to deliver a difficulty to light and make it important. Extra folks want to learn this and perceive this facet with the story. I cant consider youre no much more common because you positively have the gift. 623785

  5. 397460 628231Fascinating internet site, i read it but i nonetheless have a couple of questions. shoot me an e-mail and we will speak far more becasue i could have an interesting notion for you. 745376

Leave a Reply

Your email address will not be published.