senior citizen farmers in jharkhand did magical thing in farming

झारखंड के एक बुजुर्ग ने वो कर दिया जो आपने कभी सोचा भी नहीं होगा

इंटरव्यू ताजा ख़बर नई तकनीक

घर की छप पर ही कर डाली खेती

अक्सर लोगों को ये शिकायत करते सुना और देखा है कि उनके पास खेती के लिए जमीन ही नहीं है, अगर है तो काफी कम है और अगर पर्याप्त है तो कौन करें ये सब। लेकिन झारखंड के लिए बुजुर्ग की ये कहानी पढ़ने के बाद निश्चित तौर पर इस तरह की सोच में बदलाब आ सकता है।

terrace 3साल 2004 में FCI से रिटायर हुए 73 साल के बुजुर्ग भागीरथी बिसई को खेती का बड़ा शौक है। लेकिन उनके पास खेती के खेत नहीं है। रिटायरमेंट के बाद इतने पैसे भी नहीं मिले कि खेत खरीद सकें। ऐसे में उन्होंने घर की छत को ही खेत में बदल दिया।

हैरान ना हो। इस तकनीक को इजरायल के वैज्ञानिकों ने सैकड़ों करोड़ों रूपए खर्च करने के बाद इस तकनीक को तैयार किया, जबकि भारत के बुजुर्ग भागीरथी ने खुद ही इसे अपने घर पर ही तैयार कर लिया और वो भी बिना किसी खर्चे के।

पहले तो घर की छत पर भागीरथी ने रेत और सीमेंट की ढलाई कराई। इसके बाद बांस की लकड़ी को लोहे की सरिया के साथ छत पर लगाया ताकि घर की छत को कोई नुकसान ना हो। बांस जल्दी नहीं गलता, इसलिए ना तो घर की छत से पानी टपका और ना ही सरिया को जंग लगी।

कुछ समय पहले किसान ख़बर ने ऐसी ही एक और ख़बर पोस्ट की थी जिसमें बताया गया था कि इजरायल ने अब बिल्डिंग की दीवारों पर भी खेती करना शुरु कर दिया है।

terrace 8इसके बाद उन्होंने 100 वर्ग फुट की छत पर धान बोया। इससे उनको ठीक ठाक उत्पादन हो गया और प्रयोग सफल हो गया।

इसके बाद उन्होंने घर को 2 मंजिला बनाया। जिससे उनको 3 हजार वर्गफीट की छत मिल गई। अब इस पर उन्होंने 6 इंट की नई परत बिछाई। देशी नुस्खों से उन्होंने घर की छत को मजबूती दी।

terrace 4

अब वो अपने 2 मजिंला घर की छत से 2 कुंटल धान का उत्पादन कर रहे हैं। जबकि सब्जी और बाकी पेड़ पौधों की नर्सली भी उन्होंने छत पर ही बना ली है।

ये भी पढ़े :-

  1. पहली बार खुलासा, क्यों किसान बदहाल, एक्सपर्ट्स और सरकार छुपाते हैं असली वजह
  2. चाहे सूखा पड़े या ज्यादा बारिश, इनकी खेती होती है हमेशा बढ़िया
  3. इजरायली तकनीक अपनाओ तो दूध नहीं फटेगा, फ्रीज की जरूरत नहीं
  4. इजरायल ने क्यों बसाया एक अनोखा गांव
  5. गूगल की शानदार नौकरी छोड़ दी किसान बनने के लिए, अब कमाई है सालाना 16 करोड़ रूपए
  6. किसान बननेे के लिए विदेश में 45 लाख रूपए की नौकरी छोड़कर देश वापस आ गए
  7. जमीन नहीं मिली तो दीवारों पर ही खेती करने लगा ये देश

 

[wp-like-lock] your content [/wp-like-lock]

[facebook_likebox url=”http://www.facebook.com/kisankhabar” width=”300″ height=”200″ color=”light” faces=”true” stream=”false” header=”false” border=”true”]

[youtube_channel resource=0 cache=300 random=1 fetch=10 num=1 ratio=3 responsive=1 width=306 display=thumbnail thumb_quality=hqdefault autoplay=1 norel=1 nobrand=1 showtitle=above showdesc=1 desclen=0 noanno=1 noinfo=1 link_to=channel goto_txt=”खेती के लिए बहुत काम आने वाले वीडियो देखने के लिए हमारे Youtube चैनल पर क्लिक करें।”]

Leave a Reply

Your email address will not be published.