failed in judge exam becomes successful farmer

किस्मत का खेल देखिए, जज नहीं बन पाए तो किसान ही बन गए, अब कमाते हैं 20 लाख रूपए

इंटरव्यू ताजा ख़बर नई तकनीक नौकरी या खेती

6 बार कोशिश की जज बनने की, लेकिन हर बार हो गए अंतिम राउंड पर फेल

उत्तर प्रदेश के अंबेडकरनगर जिले के देवनारायण का सपना था कि वो एक दिन जज बनेंगे। इसलिए उन्होंने 1-2 बार नहीं, बल्कि 6 बार जज की बनने के लिए परीक्षा दी,  लेकिन हर बार सिर्फ नाकामी ही हाथ लगी। नाकामी इसलिए हाथ लगी क्योंकि किस्मत ने कुछ ही प्लान बना रखा था।

देवनारायण ने जज बनने का सपना टूटने के बाद गांव में 2.5 हेक्टेयर खेत शुरु कर दी। उन्होंने खेत में कदूद्, गेंदा, आलू, केला, टमाटर, शिमला मिर्च, लौकी, बंद गोभी, हरा मिर्च  इत्यादी को नई तकनीक से लगाया। शुरुआत में कुछ परेशानियां जरूर आई लेकिन अब उनकी कमाई 20 लाख रूपए सालाना यानी 1.5 लाख रूपए महीने से ज्यादा है।

खेती से ही लाखों की कमाई करने की वजह से देवनारायण को पूर्व प्रधानमंत्री चौधरी चरण सिंह के पुरस्कार से 2 बार सम्मानित किया जा चुका है।

दरअसल देवनारायण के पिता रामयज्ञ पांडेय भी किसान थे और साल 2007 में उनका निधन हो गया था। उधर जज बनने की परीक्षा में देवनायारण के सफलता भी नहीं मिल रही थी। ऊपर पिता के जाने के बाद परिवार की जिम्मेदारी उनके कंधों पर आ गई। ऐसे में उन्होंने पिता के गुजरने के बाद खेती शुरु की और पहली बार टमाटर की खेती की अच्छी पैदावार हासिल की। इसके बाद तो उन्होंने फिर कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा।

[wp-like-lock] your content [/wp-like-lock]

[facebook_likebox url=”http://www.facebook.com/kisankhabar” width=”300″ height=”200″ color=”light” faces=”true” stream=”false” header=”false” border=”true”]

[youtube_channel resource=0 cache=300 random=1 fetch=10 num=1 ratio=3 responsive=1 width=306 display=thumbnail thumb_quality=hqdefault autoplay=1 norel=1 nobrand=1 showtitle=above showdesc=1 desclen=0 noanno=1 noinfo=1 link_to=channel goto_txt=”खेती के लिए बहुत काम आने वाले वीडियो देखने के लिए हमारे Youtube चैनल पर क्लिक करें।”]

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.