Polyhouse farming

1 लाख रूपए महीने की नौकरी को मारी लात, खेती में चमकाया नाम

ताजा ख़बर नई तकनीक नौकरी या खेती

पॉलीहाउस बनाकर कमाने लगा नौकरी से भी ज्यादा पैसा

एक जमाना था जब खेती से बेहतर कुछ भी नहीं माना जाता था। फिर ऐसा जमाना आया कि किसानों के बच्चे खेती छोड़ नौकरी करने में ज्यादा रूचि दिखाने लगे। लेकिन इससे भी पहले का जमाना वापस आ रहा है यानी मोटी तनख्वाह वाली नौकरी छोड़कर वापस किसानों के बच्चे खेती की तरफ मुड़ रहे हैं, लेकिन इस बार वो परंपरागत खेती नहीं बल्कि नए जमाने की जरूरतों की खेती के साथ इस बार वो मैदान में है।

उत्तर प्रदेश के बिजनौर के हरेवली गांव के 34 साल के हिमांशु त्यागी ने एक लाख रूपए महीने की नौकरी को अलविदा कहकर बाकी युवा किसानों की तरह खेती में ना केवल नाम कमाया बल्कि दाम भी खूब कमा रहे हैं।

हिमांशु ने 2005 में बैंगलोर से एमबीए करने के बाद करीब 9 साल तक प्राइवेट कंपनियों में नौकरी की। लेकिन फिर उन्होंने नौकरी को छोड़ खेती में ही भविष्य के बारे में फैसला कर लिया।

हिमांशु ने 10 बीघा खेत में पॉलीहाउस बनाया। इसमें फूल और सब्जियों की खेती शुरु कर दी। 10 बीघा में पॉलीहाउस बनाने में लागत करीब 90 लाख रूपए से 1 करोड़ के बीच आई। लेकिन हिमांशु को राष्ट्रीय उद्यान बोर्ड की तरफ से पॉलीहाउस की कुल लागत पर 50 प्रतिशत की सब्सिडी भी मिल गई।

हिमांशु के पास करीब 250 बीघा जमीन है। इस खेत पर वो अब तक परंपरागत फसलें ही उगा रहे थे। लेकिन बाकी लोगों की तरह उनके परिवार को भी परंपरागत फसलों में ज्यादा कमाई नहीं हो रही थी। पॉलीहाउस में बेमौसमी फूल और सब्जी भी उगाई जा रही हैं, जिनकी अच्छी कीमत मिलती है। पॉलीहाउस में प्राकृतिक आपदा का असर भी काफी कम होता है।

ये भी पढ़े :-

  1. किसानों के लिए आपके शहर की पुलिस का वॉट्सअप नंबर
  2. बिहार के एक किसान ने कैसे बदली 50 हजार किसानों तकदीर
  3. चाहे सूखा पड़े या ज्यादा बारिश, इनकी खेती होती है हमेशा बढ़िया
  4. इजरायली तकनीक अपनाओ तो दूध नहीं फटेगा, फ्रीज की जरूरत नहीं
  5. इजरायल ने क्यों बसाया एक अनोखा गांव
  6. गूगल की शानदार नौकरी छोड़ दी किसान बनने के लिए, अब कमाई है सालाना 16 करोड़ रूपए
  7. किसान बननेे के लिए विदेश में 45 लाख रूपए की नौकरी छोड़कर देश वापस आ गए
  8. जमीन नहीं मिली तो दीवारों पर ही खेती करने लगा ये देश
  9. पहली बार पूरा खुलासा, हरित क्रांति के बाद भी देश में क्यों नहीं सुधरी किसानों की आर्थिक हालत

[facebook_likebox url=”http://www.facebook.com/kisankhabar” width=”300″ height=”200″ color=”light” faces=”true” stream=”false” header=”false” border=”true”]

[youtube_channel resource=0 cache=300 random=1 fetch=10 num=1 ratio=3 responsive=1 width=306 display=thumbnail thumb_quality=hqdefault autoplay=1 norel=1 nobrand=1 showtitle=above showdesc=1 desclen=0 noanno=1 noinfo=1 link_to=channel goto_txt=”खेती के लिए बहुत काम आने वाले वीडियो देखने के लिए हमारे Youtube चैनल पर क्लिक करें।”]

Leave a Reply

Your email address will not be published.