Farmers got training in Thailand and Japan

बिहार के एक किसान ने बदली 50 हजार किसानों की जिंदगी

ताजा ख़बर नई तकनीक नौकरी या खेती विदेश

विदेश में खेती की ट्रेनिंग लेकर करने लगे लाखों की कमाई

खेती हो या किसी भी चीज का बिजनस, लोग करते हैं तो उसमें सिर्फ उनका ही बड़ा फायदा होता है। लेकिन बिहार के एक किसान ने ना केवल खुद को खेती के जरीए आर्थिक रूप से मजबूत किया बल्कि करीब 50 हजार दूसरे किसानों को भी गरीबी और बदहाली से बाहर निकालकर आर्थिक रूप से सक्षम बनाया।
बिहार के मुजफ्फरपुर के 40 साल के किसान दिनेश के जज्बे को किसानख़बर.कॉम का सलाम। इसे कहते हैं साथी हाथ बढ़ाना, एक अकेला थक जाए, तो मिलकर हाथ बटाना
दिनेश से ट्रेनिंग पाने वाला छोटा किसान भी 5 से 10 लाख रूपए कमा लेता है।
थाईलैंड व जापान में लिया प्रशिक्षण
1993 में दिनेश ने हरियाणा में लीज खेती की जमीन लेकर खेती शुरु की थी। 2001 में केंद्र और हरियाणा सरकार की एक संयुक्त योजना के तहत थाईलैंड में जैविक खेती की ट्रेनिंग के लिए कुछ और किसानों के साथ दिनेश को भी भेजा गया। बस फिर दिनेश की जिंदगी में सबकुछ बदल गया। ये 50 हजार किसानों की जिंदगी बदलने की एक शुरुआत थी।
थाईलैंड के बाद 2004 में 6 महीने के लिए जापान भी दिनेश को भेजा गया जहां पर उन्होंने खेती के अत्याधुनिक उपकरणों की ट्रेनिंग की। 2006 में उन्होंने बिहार में वापस आकर खेती शुरु की और जो कुछ विदेशों में ट्रेनिंग के दौरान सीखा, उसे बाकी किसानों को भी सिखाया।
दिनेश ने  बिहार के वैशाली, समस्तीपुर, बेगूसराय, खगड़िया, कटिहार, मुजफ्फरपुर और दरभंगा के किसानों का एक विशाल ग्रुप बनाया। ये ग्रुप तरह तरह के सब्जियों की खेती करने लगा। इस ग्रुप के जरीए जो भी फसल पैदा होती थी, उसे सही व्यापारी को बेचने का इंतजाम दिनेश ने करवा दिया।
दिनेश का ये ग्रुप आलू, फूलगोभी, गेंहू और धान का बीज तैयार बाकी किसानों और बिहार के बीज निगम भी देता हैं। इस तरह किसानों को खेती के उत्पादनों से पहले से ज्यादा कमाई होने लगी।
किसान दिनेश 135 एकड़ खेत को लीज पर लेकर खुद खेती करते हैं और बाकि किसानों के लिए ट्रेनिंग कैंप भी लगाते हैं।

ये भी पढ़े :-

  1. पहली बार खुलासा, क्यों किसान बदहाल, एक्सपर्ट्स और सरकार छुपाते हैं असली वजह
  2. चाहे सूखा पड़े या ज्यादा बारिश, इनकी खेती होती है हमेशा बढ़िया
  3. इजरायली तकनीक अपनाओ तो दूध नहीं फटेगा, फ्रीज की जरूरत नहीं
  4. इजरायल ने क्यों बसाया एक अनोखा गांव
  5. गूगल की शानदार नौकरी छोड़ दी किसान बनने के लिए, अब कमाई है सालाना 16 करोड़ रूपए
  6. किसान बननेे के लिए विदेश में 45 लाख रूपए की नौकरी छोड़कर देश वापस आ गए
  7. जमीन नहीं मिली तो दीवारों पर ही खेती करने लगा ये देश

[facebook_likebox url=”http://www.facebook.com/kisankhabar” width=”300″ height=”200″ color=”light” faces=”true” stream=”false” header=”false” border=”true”]

[youtube_channel resource=0 cache=300 random=1 fetch=10 num=1 ratio=3 responsive=1 width=306 display=thumbnail thumb_quality=hqdefault autoplay=1 norel=1 nobrand=1 showtitle=above showdesc=1 desclen=0 noanno=1 noinfo=1 link_to=channel goto_txt=”खेती के लिए बहुत काम आने वाले वीडियो देखने के लिए हमारे Youtube चैनल पर क्लिक करें।”]

Leave a Reply

Your email address will not be published.