July 3, 2016

उत्तर प्रदेश सरकार का कृषि विभाग, कृषि योजनाओं को लागू करने में रफ्तार और पारदर्शिता लाने के लिए सब्सिडी का पैसा किसानों के खातों में सीधे भेज रहा है। किसानों को इसका लाभ भी मिल रहा है। कृषि विभाग की वेबसाइट पर सोलर पंप के लिए 5000 रजिस्ट्रेशन कराए जा चुके हैं। दिनोंदिन रजिस्ट्रेशन कराने वालों की बढ़ रही है।

डीबीटी योजना के माध्यम से कृषि उत्पाद की सब्सिडी का पैसा कृषि विभाग बैंक खाते में दे रहा है। किसानों के लिए सोलर पंप, खाद, बीज, दवाएं इत्यादि राजकीय कृषि भंडार से खरीदने के लिए रजिस्ट्रेशन कराना अनिवार्य हो गया है।




अगर किसान ने रजिस्ट्रेशन नहीं कराया है तो सब्सिडी का पैसा खातों में नहीं भेजा जाएगा। जनपद में 500 से ज्यादा सोलर पंप लगाए जा चुके हैं, जो खेतों की सिंचाई में इस्तेमाल हो रहे हैं।

कृषि विभाग की वेबसाइट पर सोलर पंप के लिए अब तक 5000 रजिस्ट्रेशन हो चुके हैं। किसानों को अनुदान काटकर सोलर पंप 23050 रुपये में दिया जा रहा है। जबकि इसकी बाजार कीमत बहुत अधिक है। ऑनलाइन रजिस्ट्रेशन का काम फिलहाल साइबर कैफों पर शुरू किया गया है।

उप कृषि निदेशक ए के सिंह के मुताबिक जनपद में सोलर पंपों की डिमांड ज्यादा है। यूपी एग्रीकल्चर डाट काम वेबसाइट पर 5000 किसानों ने अब तक सोलर पंप के लिए रजिस्ट्रेशन करा दिया है।

Click to LIKE it कृप्या लाइक बटन पर क्लिक करें।

Powered by FB Like Lock

Comments

comments

Orgy