July 23, 2016

मध्य प्रदेश के कटनी जिले में करीब 20 साल पहले एक ऐसी फसल की छोटी सी शुरुआत हुई, जिसके बारे में उस समय तक किसी ने नहीं सोचा था कि 20 साल बाद ये फसल ना केवल इस इलाके को बल्कि यहां के किसानों की जिंदगी को ही बदल कर रख देगी।

इलाके की रौनक और किसानों को कमाई करते देख अब उन लोगों को अफसोस होता है जो इस इलाके में 20 साल पहले अपने अपने खेत बेचकर शहरों में जाकर बस गए।

अदरसल, 20 वर्ष पहले तेवरी गांव और उससे लगे दर्जनभर गांवों के किसानों ने जिस भुट्टे की फसल को सामान्य तौर पर लगाना शुरू किया था, आज वही भुट्टा पूरे इलाके की सबसे बड़ी पहचान बन गया है।

कटनी जिले का भुट्टा अब पूरे मध्य प्रदेश में सप्लाई होने के साथ साथ दूसरे राज्यों में भी खूब सप्लाई हो रहा है। NH-7 highway पर बसे तेवरी गांव में इन दिनों चारों ओर भुट्टे की ही फसल दिखती है।

2 हजार एकड़ में बोवनी

तेवरी के अलावा आसपास के छिटरवारा, देवरीभार, नैंगवा, लिगरी, गुदरी, बिचुआ, सलैया और भेड़ा समेत दर्जनभर गांव के किसान काफी पहले से ही पारंपरिक रूप से देशी भुट्टे की फसल करते थे।

कृषि विभाग की पहल पर करीब 20 साल पहले किसानों ने उन्नत किस्म के बीजों का इस्तेमाल करना शुरू किया। जैसे-जैसे इसमें लाभ सामने आया, किसान इससे जुड़ते गए।

अब स्थिति ये है कि इन गांवों के लगभग 2000 एकड़ खेत में भुट्टे लगे हुए हैं। तेवरी क्षेत्र के किसान फसल की बोवनी अप्रैल महीने के अंतिम हफ्ते में ही कर लेते हैं। इस तरह जल्दी फसल बोने से बाजार में जून महीने तक भुट्टा आ जाता है और बारिश शुरू होते ही उसके अच्छे दाम किसानों को मिलते हैं।

दूसरे प्रदेशों में भी मांग

यहां के भुट्टे की मांग सतना, रीवा और जबलपुर समेत कई जिलों में है। जबकि दूसरे राज्यों जैसे उड़ीसा और महाराष्ट के व्यापारी भी भुट्टे को यहां ले जाते हैं।

देसी के साथ स्वीट व बेबी कॉर्न

देसी भुट्टे के साथ क्षेत्रीय किसानों ने 5 साल से स्वीट कॉर्न को भी अपनाया है और उसका बड़ा गढ़ तेवरी बन गया है। इस साल स्वीट कॉर्न 200 एकड़ से अधिक के रकबे में लगाया गया है।

पिछले 2 साल से देश की बड़ी कंपनी रिलायंस फ्रेश भी यहीं से भुट्टे खरीद रही है। किसानों को रिलांयस 1 एकड़ में तैयार स्वीट कॉर्न की कीमत लगभग एक लाख रुपए देता है।

Click to LIKE it कृप्या लाइक बटन पर क्लिक करें।

Powered by FB Like Lock

Comments

comments

मोनिका सिंह को पत्रकारिता का 10 साल का अनुभव है