October 21, 2016
Featured Video Play Icon

टमाटर – जिसके बिना कोई भी सब्जी अधूरी मानी जाती है। खाने में अगर सलाद में टमाटर ना हो, तो मजा नहीं आता है। लेकिन अगर ये टमाटर किसान की जेब 10 गुना ज्यादा भरने लगे, तो कितना गुना मजा जाएगा, ये आप खुद सोचिए।




वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक करें

अभी तक आमतौर पर देसी या बाकी वैराइटी का टमाटर का एक पौधा अधिकतम 5 किलो टमाटर की ही पैदावार देता हैं। लेकिन IIAR के कृषि वैज्ञानिकों ने तक्षण रक्षक नाम की ऐसी वैराइटी तैयार की है, जो छप्पर फाड़ उत्पादन और छप्परफाड़ कमाई करवाती है।

वैज्ञानिकों की इस खोज को बैंगलोर के एक किसान ने अपने खेत में लगाया तो चौंकाने वाले परिणाम मिले।

एक पौधे की लागत आई सिर्फ 3 रूपए, लेकिन तक्षण रक्षक वैराइटी का ये पौधा सर्दी में उत्पादन देता है 20 किलो टमाटर का यानी देसी टमाटर का 4 गुना उत्पादन। इसी तरह अगर गर्मी या तेज हवा वाला मौसम हो, तो भी ये देसी समेत बाकी वैराइटी पर भारी पड़ता है। गर्मी के मौसम में ये 9 से 15 किलो का उत्पादन देता है यानी देसी किस्म के मुकाबले करीब 3 से 4 गुना ज्यादा उत्पादन।




बैंगलोर के किसान ने 5 एकड़ में तक्षण रक्षक वैराइटी का टमाटर लगाया, जिस पर करीब 10 लाख की लागत आई। जब इसे कोलकाता, अंडमान निकोबार, दिल्ली और अहमदाबाद भेजा गया तो करीब 1 करोड़ की कमाई हुई, यानी लागत का करीब 10 गुना ज्यादा।

अच्छी बात ये है कि सर्दी के मौसम में इस वैराइटी को देश में कहीं भी लगाया जा सकता है।

Tag : Tamatar ki kheti kaise karein, tamatar se crorepati kaise bane, tamatar ki kheti ki nayi technology

 

Comments

comments

Comments

comments

Tagged on:
Vandana Singh
वंदना सिंह को पत्रकारिता का 10 साल का अनुभव है