October 20, 2016 Apple market in Shimla

हिमाचल प्रदेश के सेब दुनिया भर में मशहूर हैं। यह अरबों रूपए का कारोबार बन चुका है। लेकिन इसमें एक बड़ा खोट है, जिसे लेकर हाइकोर्ट इतना सख्त हुआ कि हिमाचल सरकार सकपका गई।

दरअसल, हिमाचल प्रदेश में पिछले सालों में जंगलों की जमकर कटाई हुई। लेकिन ये कटाई लकड़ी चोरी करके बेचने या फिर जमीन पर कब्जा करने के लिए नहीं हुई। बल्कि इन जमीन पर सेब का 2959 बाग लगा दिए गए और शुरु हो गई हर साल जबरदस्त कमाई।

ये बाग पूरी तरह से गैरकानूनी थे। इसलिए हाइकोर्ट की इस पर जब नज़र पड़ी वन क्षेत्र की सुरक्षा के लिए जिम्मेदार अधिकारियों से लेकर सरकार तक को कोर्ट ने लपेट लिया।

इस अवैध कब्जे हटाने के लिए अदालती आदेश भी दिए गए लेकिन उसका पालन नहीं हुआ। इससे हाइकोर्ट का ज्यादा नाराज होना लाजिमी था।

कोर्ट की अवमानना के मद्देनजर अब कोर्ट ने अधिकारियों और सरकार को आखिरी चेतावनी थी, तो सरकार और अधिकारियों ने कोर्ट में माफी मांगी और थोड़ा वक्त देने की गुहार लगाई ताकि अवैध कब्जे वाले सेब के बागों को हटाया जा सके।

कोर्ट ने 4 हफ्ते का वक्त दिया है।




अब अगले 4 हफ्ते में कुल्लू जिले के 1030 गैरकानूनी सेब के बाग हटेंगे जबकि शिमला जिले में 1929 अवैध बागों को हटाया जाएगा।

रोहडू में ऐसे 1481 मामलों में बेदखली के आदेश दिए गए हैं जिनमें 10 बीघा से कम के वन क्षेत्र पर कब्जा हुआ है। 399 मामलों को निपटारा हो चुका है।

Tag : apple ke bagh hatane ke Himachal Pradesh high court ke order 

 

Comments

comments

Vandana Singh
वंदना सिंह को पत्रकारिता का 10 साल का अनुभव है