July 7, 2016 Whatsapp Group

देश-विदेश के 1 करोड़ किसानों का नेटवर्क बनाने की मुहिम

Read this article in English – Why you must join world’s biggest ‘Farmers’ Whatsapp Network’ that is going to add 10 million farmers on Whatsapp?

किसानख़बर.कॉम की शुरुआत जब हुई, तो सिर्फ ये पता करने के लिए हुई थी कि क्या वाकई में लोगों की रूचि अब खेती में पूरी तरह से खत्म हो गई है। लेकिन जल्दी ही पता चल गया कि ये धारणा पूरी तरह से गलत है। वेबसाइट के लांच होने के बाद ही पहले सैकड़ों, फिर हजारों और अब औसतन महीन के करीब एक लाख सवाल खेती से जुड़े पूछे जाते हैं। खासतौर पर ये सवाल युवा और गांव से जुड़े लोग पूछते हैं।

कई बार तो वेबसाइट पर इतना ज्यादा ट्रैफिक आया कि साइट ही क्रैश कर गई। इस बीच नए जमाने की खेती, मशहूर महिलाओं द्वारा खेती, फिल्म स्टार की खेती, करोंड़ो की नौकरी छोड़कर खेती करने वाले युवाओं की सफलता की कहानियां जब पोस्ट की, तो हैरान कर देने वाला ट्रैफिक साइट पर मिला।

ये सब इतना इशारा कर करने के लिए काफी था कि किसानों को अब खेती की वो ख़बरें चाहिए जो उनकी जिंदगी बदल सकें, जो उनको खेती में कुछ नया करने का रास्ता बता सकें।

ऐसे में अब हमने किसानों की समस्या को ध्यान में रखते हुए दुनिया का सबसे बड़ा किसानों का वॉट्सअप नेटवर्क बनाने की कदम बढ़ा दिया है। अभी तक करीब 3 लाख किसान इस नेटवर्क से जुड़ चुके हैं।




किसान वॉट्सअप नेटवर्क के फायदे

  1. खेती से जुड़ी कुछ चुनिंदा अच्छी खबरों की जानकारी तुरंत आपके मोबाइल पर रोजाना आया करेंगी। रोजाना करीब 1 से लेकर 5 ख़बरें आ सकती है।
  2. परंपरागत रूप से होने वाली खेती के अलावा कौन सी ऐसी फसलों की खेती करनी चाहिए जिसमें ज्यादा फायदा हो
  3. आपको अगर कोई सवाल है जो भी आप साइट पर ‘खेती के सवाल जवाब’ सेक्शन में पूछ सकते हैं। एक्सपर्ट्स आपके सवालों के जवाब देंगे।
  4. जल्द ही हम आपके इलाके के विधायक, नेता, सरकारी अधिकारियों के फोन नंबर्स पर साइट पर उपलब्ध कराने वाले हैं।
  5. आपके इलाके में कौन सी कंपनी कॉन्ट्रैक्ट फार्मिंग में रूचि रखती है,ये भी जानने का मौका मिलेगा।
  6. खेती खरीदना-बेचना, खेत किराए पर देना-लेना, खेत गोडाऊन के लिए कंपनियों को देना, खेती का सामान जैसे ट्रैक्टर, पंप इत्यादि किराए पर देने जैसे दर्जनों अन्य सेवाएं मुफ्त में किसानख़बर.कॉम पर आपके लिए शुरु होने वाली हैं।

कैसे जुड़े किसान वॉट्सअब नेटवर्क से

Options 1 –

किसानख़बर.कॉम का Whatsapp number 9643228457 अपने मोबाइल में सेव करें और अपना पूरा नाम, अपने शहर और गांव का पूरा नाम लिखकर हमारे वॉट्सअप नंबर पर भेज दें। हो सके तो ये भी बताने की कोशिश करें कि आपके गांव में कितने लोगों के पास वॉट्सअप होगा।




Options 2 –

अपने गांव या जानने वाले लोगों का एक वॉट्सअप ग्रुप बनाए और इसमें किसानख़बर.कॉम का Whatsapp नंबर 9643228457 भी एड कर लें। यानी इस ग्रुप के एडमिन आप ही रहेंगे। इससे फायदा ये है कि खेती से जुड़ी अच्छी खबरों की जानकारी आपके गांव या संपर्क के सभी लोगों में पहुंच सकेगी और वो लोग भी इसकी मदद से खेती  कुछ अच्छा कर सकेंगे। अभी तक 3 लाख किसान हमारे नेटवर्क से जुड़ चुके हैं और इनमें से करीब 80 प्रतिशत लोगों ने Option 2 को ही चुना है।

Whatsapp किसान नेटवर्क ग्रुप नंबर पर क्या ना करें

  1. वॉट्सअप नंबर से वॉट्सअप कॉलिंग ना करें। ये नॉर्मल फोन कॉल से ज्यादा महंगा होता है और आवाज भी साफ नहीं आती।
  2. दिन में 10 से 6 के बीच ही फोन करें। यदि आपने एक बार फोन किया और कोई जवाब ना मिल पाएं, तो कृप्या लगातार फोन ना करें। आप वॉट्सअप पर मैसेज भेज सकते हैं।
  3. रोजाना हजारों लोगों के मैसेज और फोन कॉल्स आते हैं। ऐसे में अपने सवाल का जवाब मिलने का इंतजार करें। ये उम्मीद ना करें कि किसी को उसके भेजे हुए मैसेज का तुरंत जवाब मिल जाए। बड़ी तादाद में मैसेज आते हैं, ऐसे में संभव सभी को तुरंत जवाब दे पाना संभव नहीं। लेकिन इतना तय है कि जवाब जरूर मिलेगा। हमारी कोशिश खेती में लोंगो की मदद करना है।
  4. वॉट्सअप पर व्यक्तिगत सवाल पूछने से बचें।

इस खबर को ज्यादा से ज्यादा लोगों के साथ शेयर करें, ताकि ज्यादा से ज्यादा लोगों को इसका लाभ मिल सके।

 

Click to LIKE it कृप्या लाइक बटन पर क्लिक करें।

Powered by FB Like Lock

Comments

comments

Orgy