October 10, 2016 banned

अगर आप किसान हैं तो खेती करते ही होंगे। खेती करते हैं तो कीटनाशक भी इस्तेमाल करते ही होंगे। लेकिन जरा सावधान। आंख मूंदकर अगर आप कीटनाशक खरीदते हैं और गलती से इन 11 कंपनियों में से किसी का कीटनाशक खरीद लिया, तो आपकी फसल बर्बाद हो सकती है।

ये हम नहीं कह रहे बल्कि मध्य प्रदेश का सरकार फैसला कह रहा है। ये ख़बर देश के बाकी राज्यों के किसानों के लिए भी बहुत अहम है क्योंकि जो कंपनियां बैन की गई हैं वो संभवत दूसरे राज्यों में भी वही उत्पाद बेच रही हो और आप अनजाने में खरीद रहो हो।




दरअसल काफी समय से मध्य प्रदेश के किसानों की तरफ ऐसी शिकायतें बहुत आ रही थी कि कीटनाशक दवाएं बेचने वाली कंपनियों के उत्पादों में अमानक बहुत होता है।

लगातार शिकायतें मिलने पर कृषि विभाग ने जांच कराई, तो पाया कि 11 कंपनियों की कीटनाशकों में अमानक है। इनमें से कुछ कंपनियों के तीन से पांच सेम्पल्स में अमानक पाया गया।

ऐसे में सरकार ने तुरंत कार्रवाई करते हुए 11 कंपनियों के कीटनाशक बेचने पर मध्य प्रदेश में बैन लगा दिया है। इन कंपनियों की सूची नीचे दी गई है।

कंपनी कितने अमानक नमूने मिले
   
स्वास्तिका केमीकल्स एंड फर्टिलाइजर मंडीदीप 7
मे.अवरिल बायो एंड फर्टिलाइजर मंडीदीप 3
मे. शिवालिक एग्रो केमिकल्स चंडीगढ़ 3
मे. एचपीएम केमिकल्स फर्टिलाइजर नई दिल्ली 5
मे. श्री जी इंसेक्टीसाईड्स एंड पेस्टी. गुजरात 5
मे. जीएसपी क्राप साईंस प्रा.लि. अहमदाबाद 4
मे. क्रिस्टल क्रॉप प्रोटेक्शन सोनीपत, हरियाणा 4
मे. धानुका एग्रीटेक लिमिटेड करोबाग, दिल्ली 4
मे. इंसेक्टीसाईड्स इंडिया लिमिटेड, उदयपुर दिल्ली 3
मे. भारत इंसेक्टीसाईड्स लिमिटेड, विक्रम टावर, दिल्ली 3
मे. यूपीएल लिमिटेड मधु पार्क खार, मुंबई

3

ये भी पढ़ें – अगर आप किसान हैं, तो आपको सावधान करने वाली कई और ख़बरें है। इनको पढ़ने के लिए यहां क्लिक करें।

Tag : banned pesticides companies in India, banned pesticides companies in MP, banned pesticides companies in madhya pradesh, pratibhantidh pesticides companies in india, pratibhantidh pesticides companies in madhya pradesh

 

Click to LIKE it कृप्या लाइक बटन पर क्लिक करें।

Powered by FB Like Lock

Comments

comments

Orgy