October 19, 2016 eggplant-kisankhabar

ये अक्टूबर का महीना है और अगर इस महीने में आप आलू या बाकी कोई फसल ना लगाकर कुछ नया ट्राई करना चाह रहे हैं, तो सिर्फ 2 महीने में ही अच्छी कमाई बैंगन की खेती से की जा सकती है।

लोगों को बैंगन का भर्ता खूब पसंद है। खासतौर पर सर्दियों के दिनों में।

अगर अच्छे किस्म के बैंगन के बीज खेत में बोए जाएं और कीटों से सही बचाव हो जाए, तो फिर बैंगन को मालामाल कर सकता है।




कब होती है बैंगन की खेती

सितम्बर-अक्टूबर के महीने में पौध की रोपाई की जाती है। इसके करीब 2 महीने बाद यानी दिसम्बर-जनवरी में बैंगन की फसल तैयार हो जाती है। यानी बैंगन तोड़कर बाजार में बेचे जा सकते हैं।

उत्पादन

बैंगन का अगर ज्यादा उत्पादन चाहिए तो 4 किस्म बहुत ही जबरदस्त साबित हो सकती है। पूसा पर्पल राउंड, पूसा हाईब्रिड-6, पूसा अनमोल और पूसा पर्पल लोंग में से आप किसी भी चुन सकते हैं। एक हेक्टेयर में करीब 450 से 500 ग्राम बीज डालने पर करीब 400 कुंटर प्रति हेक्टेयर तक का उत्पादन मिल जाता है।

अगर आप संकर किस्म का इस्तेमाल करते हैं तो एक हेक्टेयर के लिए 200 ग्राम बीज काफी होता है।




कैसे लगाएं बैंगन

बैंगन का अगर ज्यादा उत्पदान चाहिए, तो 2 पौधों के बीच की दूरी का खास ध्यान रखा होता है। कृषइ वैज्ञानिकों के मुताबिक दो पौधों और दो कतार के बीच की दूरी 60 सेंटीमीटर होनी ही चाहिए।

कौन सा कीट कैसे करता है नुकसान

सुंडी नाम का कीट बैंगन का बड़ा दुश्मन माना जाता है। ये बैंगन के फल को नुकसान पहुंचाता है। फिर यह तने में घुस जाता है और इसकी वजह से पौधे मुरझाकर सूख जाते हैं। जबकि बड़े पौधे बौने रह जाते हैं।




कीटों से कैसे करें बचाव

अगर पौधा मुरझाने लगे या फिर सूखने लगे, तो इसे नीचे से करीब आधा इंच काटकर खराब हिस्से को फेंक दे और सही हिस्से को जमीन में गाढ़ दें।

एक हेक्टेयर में बैंगन की फसल के लिए कर्बोसल्फान 25 ईसी की 1.5 लीटर मात्रा को 800 से 1000 लीटर पानी में मिलाकर घोल बना लें। फिर करीब 10-15 दिन के अंतराल पर इसे फसल पर छिड़क दें।

ये भी पढ़ें – फसल को होने वाले तरह तरह के नुकसान से कैसे बचाएं

 

Comments

comments

Tagged on:
Orgy