August 22, 2016

एक जमाना था जब एडम गिलक्रिस्ट नाम, क्रिकेट की दुनिया में टीम के नाम से भी बड़ा हो गया था। दुनिया के 2-4 गिने चुने परफेक्ट क्रिकेटरों में उनकी गिलक्रिस्ट की गिनती होती थी। गिली के नाम से मशहूर इस क्रिकेटर ने क्रिकेट से तो बहुत पहले ही संयास ले लिया लेकिन अब यही नाम ऑस्ट्रेलिया में खेती की दुनिया में भी चमक रहा है।

दरअसल, गिली ने टीएफसी कोरपोरेशन (TFS Corporation) नाम की एक ऐसी कंपनी में 6 साल पहले निवेश किया जो खेती से जुड़े काम करती है और बंद होने की कगार पर खड़ी थी। गिली ने इस डूबती कंपनी को ना केवल बचाया बल्कि पिछले 6 महीनों में 17 करोड़ 70 हज़ार रुपए भी कमाए।

ऑस्ट्रेलिया के निवेश बाज़ार यानि इंवेस्टमेंट मार्केट के दिग्गज भी गिली की तारीफ करते नहीं थक रहे। तारीफ करने के पीछ बहुत बड़ा कारण भी है।

दरअसल, ऑस्ट्रेलिया के ग्रामीण इलाकों में निवेश करने वाली दिग्गज कंपनियां जैसे Timbercorp, Forest Enterprises Australia and Gunns, Willmott Forests, Great Southern घाटे में चली गई। 1999 में भारतीय चंदन की खेती की शुरुआत करने वाली टीएफसी कोरपोरेशन (TFS Corporation) इसके चलते दवाब में आ गई। 2010 तक आते आते कोई भी इस कंपनी में निवेश को तैयार नहीं था।

लेकिन गिली ने इसमें ना केवल निवेश किया बल्कि अपना नाम भी खुलकर जोड़ लिया। नतीजा, अब टीएफसी कोरपोरेशन (TFS Corporation) इस साल चंदन की सप्लाई करने वाली है और इसी वजह से उसके शेयर्स तेजी से ऊपर बढ़ रहे हैं। ऐसे में पिछले 6 महीने में गिली का कंपनी में हिस्सा बढ़कर 2 गुना हो चुका है यानी 2.5 मिलियन डॉलर (करीब 17 करोड़ 70 लाख रूपए।)

Click to LIKE it कृप्या लाइक बटन पर क्लिक करें।

Powered by FB Like Lock

how to join whatsapp farmers' network

Comments

comments

Vandana Singh
वंदना सिंह को पत्रकारिता का 10 साल का अनुभव है