November 13, 2016 A customer hands bundle of Indian Rupee currency notes to teller at financial institution in Mumbai

देश की 70 प्रतिशत आबादी गांव में रहती है जो मुख्य रूप से खेती पर निर्भर है। गांव में एटीएम भी हैं और बैंक शाखाएं। लेकिन ब्लैक मनी को खत्म करने के लिए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी द्वारा चलाई गई नोट बदलने की मुहिम में सबसे ज्यादा परेशान किसान है।

किसानों को लोन चुकाने से लेकर मंडी में अनाज रखने तक के लिए परेशानियों का सामना करना पड़ा रहा है। इसी बात को समझते हुए मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कई बड़े सुविधाएं किसानों को तत्काल प्रभाव से देने के लिए आदेश दिए हैं।

मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने भारतीय रिजर्व बैंक के अधिकारियों से कहा है कि RTGS भुगतान की समयावधि शाम 4 बजे से बढ़वाकर शाम 6 बजे तक करवाने के प्रयास किए जाएं।

पहला – जिन किसानों का सहकारी या सहकारी समिति में लोन एकाउंट है और वो लोन एकाउंट में पैसे जमा करना चाहते हैं उसमें 500 और 1000 के नोट बिना की परेशानी के तुरंत जमा किए जाएं।

दूसरा – मध्य प्रदेश की बड़ी मंडियों में ही अगले 15 दिन के लिए बैंक सुविधाएं दिए जाने का तुरंत इंतजाम किया जाएं।

तीसरा – जो किसान राज्य की किसी भी मंडी में अनाज लेकर आए हैं, उसे 15 दिसंबर 2016 तक फ्री में रखने की सुविधा किसानों को तुरंत दी जाएं।

चौथा – मंडी बोर्ड के आयुक्त को मुख्यमंत्री ने आदेश दिए हैं वो बैंकों से तुरंत बात करके मंडी के व्यापारियों को 1 हजार रूपए की पर्ची वाली चैकबुक तुरंत दिलवाएं। इससे बड़ी मात्रा में भुगतान करने में आसानी होगी।

पांचवा – मंडी के व्यापारियों की Credit Limit भी तुरंत बढ़ाने के निर्देश दिए हैं ताकि भुगतान में दिक्कत ना हो।

छठवां – राज्य सरकार की सामाजिक सुरक्षा पेंशन से जुड़े भुगतान भी आसानी से तुरंत किए जायें।

Comments

comments

मोनिका सिंह को पत्रकारिता का 10 साल का अनुभव है